ब्रेकिंग न्यूज़
वरुण धवन के बाद फिल्म 'स्ट्रीट डांसर 3डी' के सेट पर घायल हुईं श्रद्धा कपूरट्रॉमा सेंटर की चौथी मंजिल से मां ने अपने शिशु को नीचे फेंका, मौतएयर इंडिया की परिचालन से बाहर 17 विमानों को अक्टूबर से पुन: उड़ाने की योजनाशेयर बाजार: सेंसेक्स, निफ्टी में लगातार चौथे कारोबारी सत्र में गिरावटदिल्ली से वाशिंगटन तक भारत ने बनाया दबाव, कश्मीर पर व्हाइट हाउस ने ट्रंप के बयान को पलटायोगी सरकार ने विधानसभा में पेश किया वित्तीय वर्ष 2019-2020 का पहला अनुपूरक बजटअखिलेश के दावे को रविकिशन ने किया खारिज, बोले-नहीं मिला यश भारती सम्मानदस एकड़ जमीन हथियाने के लिए चाचा ने करायी थी भतीजे की हत्या,पुलिस जांच में हुआ खुलासा
राज्य
प्रशांत किशोर ने थामी तृणमूल की कमान, पार्टी की मजबूती के लिए 'यूथ इन पॉलिटिक्स' अभियान की शुरूआत
By Deshwani | Publish Date: 10/7/2019 2:25:24 PM
प्रशांत किशोर ने थामी तृणमूल की कमान, पार्टी की मजबूती के लिए 'यूथ इन पॉलिटिक्स' अभियान की शुरूआत

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के सलाहकार बनने के बाद अब प्रशांत किशोर टीएमसी को मजबूत करने के लिए जोर शोर से काम में जुट गए हैं। प्रशांत किशोर ने 5 लाख युवाओं को अपने साथ जोड़ने का फैसला किया है। 

 
साल 2021 के विधानसभा चुनाव में राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस को जीत दिलाने के लिहाज से राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने विशेष योजना बनाई है। उन्होंने पांच लाख युवाओं को राजनीतिक गतिविधियों को समझने और अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचने का गुण सिखाने का निर्णय लिया है। इसके लिए सत्तारूढ़ तृणमूल से जुड़े युवाओं को प्रशिक्षित करने की योजना के तहत वह काम कर रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस की ओर से इस बारे में जानकारी दी गई है।
 
प्रशांत किशोर ने इस अभियान को "यूथ इन पॉलिटिक्स" नाम दिया है। इसके लिए उनकी टीम एक सूची तैयार कर रही है जिसमें इन युवाओं को पंजीकृत किया जाएगा। सितंबर महीने तक यह सूची तैयार कर ली जाएगी। उसके बाद विधानसभा चुनाव से पहले 15 महीने तक प्रशांत किशोर इन युवाओं को प्रशिक्षण देंगे।
 
हालांकि इसमें केवल तृणमूल से जुड़े हुए युवा ही शामिल हो सकते हैं ऐसी कोई बाध्यता नहीं है। किसी भी पार्टी से जुड़े लोग अथवा गैर राजनीतिक मंच के युवा भी प्रशांत किशोर के साथ जुड़ सकते हैं। उनकी टीम का कहना है कि भारत में साफ-सुथरी राजनीति और राष्ट्र के विकास के लिहाज से काम करने की रीति विकसित करने के लिए उन्होंने यह पहल की है। फिलहाल वह तृणमूल कांग्रेस के राजनीतिक रणनीतिकार के तौर पर नियुक्त किए गए हैं, इसलिए इसका सबसे अधिक लाभ तृणमूल को ही होगा।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS