ब्रेकिंग न्यूज़
मार्केटिंग कंपनी ग्लेज ट्रेडिंग इंडिया प्राईवेट लिमिटेड कंपनी से तीन युवक गिरफ्तारअधूरे टीकाकरण में इंद्रधनुष भरेगा रंग, चार चरणों में होगा टीकाकरणधारा 370 संपर्क अभियान के तहत पांच बुद्धिजीवी एवं प्रबुद्ध नागरिकों से मिलकर प्रतिनिधिमंडल ने इन विषय में दी जानकारीचिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट से कहा- अपमानित करने के लिए जेल में रखना चाहती है सीबीआई, सुनवाई कलडबल इंजन के कारण झारखंड में विकास की गति हुई दोगुनी: सुधांशु त्रिवेदीअगला युद्ध स्वदेशी शस्त्र प्रणालियों के साथ लड़ेंगे और जीतेंगे: बिपिन रावतश्रीनगर में अनुच्छेद 370 को हटाये जाने के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन, हिरासत में ली गई फारुक अब्दुल्ला की बहन और बेटीजम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करना आतंक के खात्मे की दिशा में एक बड़ा कदम: अमित शाह
राज्य
कुशीनगर को एक विश्व स्तरीय पर्यटन स्थल बनाने के लिये भी कार्य करे: योगी आदित्यनाथ
By Deshwani | Publish Date: 7/7/2019 5:38:44 PM
कुशीनगर को एक विश्व स्तरीय पर्यटन स्थल बनाने के लिये भी कार्य करे: योगी आदित्यनाथ

कुशीनगर। भानु तिवारी। प्रदेश के मुख्य मन्त्री योगी आदित्य नाथ  कलेक्ट्रेट सभागार कुशीनगर में जनपद देवरिया, महराजगंज, के साथ मंडलीय समीक्षा बैठक दौरान वृक्षारोपण, संचारी रोग, स्कूल चलो अभियान को  जन आन्दोलन बनाये जाने का आहान किया। उन्होने कहा कि थाना, तहसील, विकास खण्डों को संवेदनशील बना कर कार्य किया जाये तथा उद्योग बन्धु की बैठक भी नियमित रूप से आयोजित हो ।

 
उन्हाने कहा कि कुशीनगर को एक विश्व स्तरीय पर्यटन स्थल बनाने के लिये भी कार्य करे। उन्होने कहा कि सभी अधिकारी गण जन प्रतिनिधियो को भी सुने तथा उनके पत्रो पर समुचित कार्यवाही भी करे तथा कार्यवाही से अवगत भी कराये। मुख्यमंत्री  ने जिलाधिकारी महराजगंज को निर्देशित किया कि एस0डी0एम सदर की तहसील बदल दिया जाये। उन्होने जिलाधिकारी कुशीनगर को पड़रौना एवं तमकुहीराज के अधिशासी अभियन्ता विद्युत के खिलाफ कार्यवाही करने का निर्देश दिये। 
 
 मुख्यमन्त्री जी ने कहा कि मुसहर बस्तियों में सभी को राशन कार्ड एवं अन्य सुविधाये अनिवार्य रूप से मिले। उन्हाने यह भी निर्देश दिया कि भूख या बिमारी से किसी की मृत्यु होती है तो जिलाधिकारी एवं सम्बन्धित अधिकारी उसके जिम्मेदार होगे तथा उनके खिलाफ कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। गौ संरक्षण के निर्माण की समीक्षा करते हुये उन्होने  निर्देश दिया कि जो भी गौ संरक्षण केन्द्र बनने बाकी है उन्हे तत्काल पूर्ण कराये जाये । इस कार्य में जनसहभागिता भी बढाये जाने हेतु निर्देशित किया । सड़कों पर जानवरो को खुला छोड़ने वालो को चिन्हित कर उन पर भारी जुर्माना लगाया जाये।
 
 उन्होने कहा कि काजी हाउस गौ संरक्षण केन्द्र में पशुओं को रखने की व्यवस्था ठीक से हो तथा उनके चारे पानी एवं अन्य व्यवस्थाओं को भी सुनिश्चित किये जाने हेतु निर्देशित किया।
 मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिये कि पालिथीन एवं थर्मा कोल के खिलाफ निरन्तर कार्यवाही किया जाये तथा उसके दुषप्रभाव के बारे मे भी जागरूक किया जाये । शौचालय निर्माण की समीक्षा करते हुये उन्होने निर्देश दिया की सभी शौचालयो की जियो ट्रेडिग 15 दिनों के अन्दर पुरा कराया जाये तथा लगातार बने हुये शोचालयों का निरीक्षण करते हुए उन पर इज्जत घर भी लिखवाया जाये। मुख्यमंन्त्री ने चेताया कि यदि जे0 ई0/ए0ई0एस0 से किसी की मौत होती है तो उसके लिये जिला प्रशासन के साथ डी0पी0आर0ओ0 भी जिम्मेदार होगे। 
 
 मुख्यमंन्त्री  ने आयुष्मान भारत योजना की समीक्षा करते हुये निर्देश दिया कि 15 दिनों के अन्दर गोल्डन कार्ड का वितरण भी सुनिश्चित कर लिया जाये। शासन की समस्त योजनाओं को सम्बन्धित तक पहुचे इसके लिऐ सभी लोग मिल कर टीम भावना से कार्य करे। रोस्टर के अनुसार विद्यतु आपुर्ति सुनिश्चित करने तथा सड़कों के निर्माण मे गुणवत्ता का विशेष ध्यान देने का निर्देश दिये। उन्हाने कहा कि सड़क निर्माण में इस बात का विशेष ध्यान रखा जाये जो सड़के बने वह  5 से 6 वर्ष तक बिना मरम्मत के चले तथा कार्यदायी संस्था द्वारा भी उसका रख रखाव किया जाये। , उन्होने ई पास मशीन से राशन वितरण, गेहु क्रय में किसानो के समर्थन मुल्य का भुगतान, गन्ना किसानो के बकाया के भुगतान की समीक्षा करते हुये आवश्यक निर्देश दियें।
 
   मुख्यमंत्री शिक्षा विभाग के अधिकारियो को निर्देश दिया कि कोई भी बच्चा विद्यालय जाने से विचित न रहे तथा समय से पुस्तक ड्रेस ,जुता ,मोजा आदि को वितरण सुनिश्चित हो। उन्होने जन संरक्षण में निर्दश दिया कि गॉव के तालाबों जो भी कब्जा है उसे हटाये तथा लुप्त नदियों को जीवित करने का कार्य करे। 
मुख्य म़ंत्री ने कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुये निर्देश दिये कि वालिका विद्यालयो के पास सादे वर्दी मे महिला पुलिस कर्मियों की तैनाती भी की जाये, एन्टी रोमियो स्क्वायड को और भी प्रभावी बनाया जाये । नाबालिग बच्चियो के साथ होने वाली घटनाओं में प्रभावी कार्यवाही कर उन्हे फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई कराकर दोषियो को जल्द से जल्द सजा  दिलायी जाये।
 
उन्होन यह भी निर्देश दिये कि फास्ट पेट्रो़लिंग तथा डायल 100 की नियमित जांच करने तथा गलत काम करने वाले किसी भी व्यक्ति को सुरक्षा न दे। उन्होने कहा की एन्टी भू-माफिया के खिलापफ टीम बनाकर सरकारी जमीनो से कब्जा हटवाये तथा अपराधों की साप्ताहिक/पाक्षिक/मासिक समीक्षा भी करे । जेल का औचक निरीक्षण भी किया जाय। समीक्षा बैठक से पूर्व मा0 मुख्य मत्री ने जिला आस्पताल का भी निरीक्षण कर  मरीजो को मिल रही सुविधाओ की जानकारी ली तथा मरीजो के परिजनो को का हाल-चाल भी पुछा। 
 
      बैठक मे जनपद के प्रभारी मन्त्री राजेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिहं तीनो जनपदो के सांसद/विधायक गण, आयुक्त गोरखपुर, ए0डी0जी0 गोरखपुर, आई0जी0 गोरखपुर, तीनो जनपदो के जिलाधिकारी, तीनो जनपदो के पुलिस अधीक्षक, मुख्य विकास अधिकारी एवं समस्त मंडलीय अधिकारी उपस्थित रहे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS