ब्रेकिंग न्यूज़
बेतिया-चनपटिया सड़क मार्ग पर बस दुर्घटनाग्रस्त, दर्जनों यात्री घायलश्रीमद्भागवत कथा ज्ञान महायज्ञ के पहले दिन निकली गई भव्य कलश शोभा यात्रा, सैकड़ों महिला पुरुष हुए शामिलयूपी सुन्नी वक्फ बोर्ड के चैयरमैन को सुरक्षा मुहैया कराने का सुप्रीम कोर्ट ने दिया निर्देशभारतीय मूल के अभिजीत और उनकी पत्नी एस्थर डफ्लो को मिला वर्ष 2019 के लिए अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कारछौड़ादानों से रक्सौल तक जर्जर नहर रोड का आखिरकार खुला टेंडर, जांच प्रक्रिया के बाद शुरू होगा कामडायरिया से बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट, सीएस ने किया मेडिकल टीम का गठननागा रोड में हुआ डिजिटल सेवा केन्द्र का उदघाट्न, लोगों को मिलेगी काफी सहूलियत47वीं वाहिनी के द्वारा रक्सौल में 22 दिवसीय मोटर ड्राइविंग कोर्स का उद्घाटन, पीएम मोदी के स्वरोजगार बनाने के सपनों को करेगा साकार
राज्य
राम जन्मभूमि आतंकी हमले की बरसी पर अयोध्या में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
By Deshwani | Publish Date: 5/7/2019 12:11:22 PM
राम जन्मभूमि आतंकी हमले की बरसी पर अयोध्या में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

अयोध्या। पांच जुलाई, 2005 को राम जन्म भूमि पर हुए फिदायीन आतंकी हमले की 14वीं बरसी पर आज अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। रामनगरी में प्रवेश के सभी मार्गों पर स्थानीय पुलिस के साथ अधिकारी कर्मचारी आने-जाने वाले चार पहिया वाहनों की सघन चेकिंग और पर्यटकों के सामान की तलाशी के साथ ही उनसे पूछताछ भी कर रहे हैं। 

 
सुबह से ही अयोध्या में नया घाट बंधा तिराहा, रानोपाली तिराहा, टेढ़ी बाजार, राम जन्मभूमि प्रवेश मार्ग, बूथ नंबर-4 प्रवेश मार्ग सहित अयोध्या में प्रवेश के अन्य मार्गों पर पुलिस सुरक्षा व्यवस्था का निरीक्षण वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी कर रहे हैं। इसके साथ नगर के होटल, धर्मशाला और रेलवे स्टेशन पर पुलिस के जवान तलाशी ले रहे हैं। खुफिया एजेंसियों आईबी, एलआईयु के लोग संदिग्ध व्यक्तियों पर बराबर अपनी नजर गड़ाए हुए हैं।
 
उल्लेखनीय है कि पांच जुलाई,2005 को राम जन्मभूमि परिसर निकट कौशलेश कुंज के संस्कृत महाविद्यालय के पास लश्कर ने एक बड़ा फिदायीन आतंकी हमले को अंजाम दिया था। इसमें लश्कर के पांच आतंकियों ने मेक शिफ्ट स्ट्रक्चर में विराजमान रामलला को रॉकेट लॉन्चर से उड़ा देने की योजना बनाई थी। सीआरपीएफ और स्थानीय सुरक्षा बल के जवानों की कड़ी मेहनत के चलते ये फिदायीन आतंकी हमला सफल नहीं हो सका था। 
 
इस हमले में बड़ी जवाबी कार्रवाई करते हुए सीआरपीएफ ने पाकिस्तान के रहने वाले पांचों आतंकियों को मार गिराया और हमले को नाकाम किया था। हमले में दो स्थानीय नागरिक भी हताहत हुए थे और कुछ पुलिसकर्मियों को चोटे भी आई थी। इसी मामले में बीते माह प्रयागराज न्यायालय ने फिदायीन हमले को अंजाम देने में मदद करने वाले चार अन्य आतंकियों को घटना में शामिल होने के आरोप में आजीवन कारावास की सजा के साथ एक को बरी किया है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS