ब्रेकिंग न्यूज़
मार्केटिंग कंपनी ग्लेज ट्रेडिंग इंडिया प्राईवेट लिमिटेड कंपनी से तीन युवक गिरफ्तारअधूरे टीकाकरण में इंद्रधनुष भरेगा रंग, चार चरणों में होगा टीकाकरणधारा 370 संपर्क अभियान के तहत पांच बुद्धिजीवी एवं प्रबुद्ध नागरिकों से मिलकर प्रतिनिधिमंडल ने इन विषय में दी जानकारीचिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट से कहा- अपमानित करने के लिए जेल में रखना चाहती है सीबीआई, सुनवाई कलडबल इंजन के कारण झारखंड में विकास की गति हुई दोगुनी: सुधांशु त्रिवेदीअगला युद्ध स्वदेशी शस्त्र प्रणालियों के साथ लड़ेंगे और जीतेंगे: बिपिन रावतश्रीनगर में अनुच्छेद 370 को हटाये जाने के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन, हिरासत में ली गई फारुक अब्दुल्ला की बहन और बेटीजम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करना आतंक के खात्मे की दिशा में एक बड़ा कदम: अमित शाह
राज्य
जनता जानती है बसपा की असलियत, आने वाले उपचुनाव में सिखाएगी सबक
By Deshwani | Publish Date: 1/7/2019 10:37:23 AM
जनता जानती है बसपा की असलियत, आने वाले उपचुनाव में सिखाएगी सबक

नई दिल्ली। लोकसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाजवादी पार्टी (बीएसपी)  गठबंधन अपने लक्ष्य पाने में नाकाम रहा जिसके बाद मायावती ने गठबंधन पूरी तरह से तोड़ लिया है और हाल ही में ऐलान करते हुए कहा कि बसपा अब आगे के सभी छोटे-बड़े चुनाव अपने दम पर लडेगी। वहीं बसपा प्रमुख मायावती ने रविवार को कहा कि जनता बसपा की असलियत जानती है और उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा उपचुनाव में वह उसे जवाब देगी। 

 
सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने एक बातचीत के दौरान कहा कि बसपा प्रमुख भले ही सपा को बुरा-भला कह रही हों, लेकिन जनता उनकी असलियत जानती है। बसपा प्रमुख के बयानों पर सपा अध्यक्ष की कोई प्रतिक्रिया नहीं आने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि प्रदेश की 12 विधानसभा सीटों के लिये होने वाले उपचुनाव में जनता बसपा को जवाब देगी। चौधरी ने कहा कि उनकी पार्टी ने उपचुनाव की तैयारी शुरू कर दी है और सपा बसपा समेत सभी विरोधियों के खिलाफ पूरी तैयारी से लड़ेगी। 
 
बता दें कि उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के दौरान 11 विधायक सांसद बन गए।  अब इन सीटों पर उपचुनाव होना है। इनमें गोविंदनगर, लखनऊ कैंट, टूंडला, जैदपुर, मानिकपुर, बलहा, गंगोह, इगलास, प्रतापगढ़, रामपुर और जलालपुर विधानसभा सीट शामिल है। 
 
ज्ञात हो कि लोकसभा चुनाव सपा और बसपा ने आपसी गठबंधन करके लड़ा था। हालांकि इस गठजोड़ को अपेक्षित कामयाबी नहीं मिल सकी थी। बसपा को 10 और सपा को पांच सीटें मिली थीं। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS