ब्रेकिंग न्यूज़
बेतिया-चनपटिया सड़क मार्ग पर बस दुर्घटनाग्रस्त, दर्जनों यात्री घायलश्रीमद्भागवत कथा ज्ञान महायज्ञ के पहले दिन निकली गई भव्य कलश शोभा यात्रा, सैकड़ों महिला पुरुष हुए शामिलयूपी सुन्नी वक्फ बोर्ड के चैयरमैन को सुरक्षा मुहैया कराने का सुप्रीम कोर्ट ने दिया निर्देशभारतीय मूल के अभिजीत और उनकी पत्नी एस्थर डफ्लो को मिला वर्ष 2019 के लिए अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कारछौड़ादानों से रक्सौल तक जर्जर नहर रोड का आखिरकार खुला टेंडर, जांच प्रक्रिया के बाद शुरू होगा कामडायरिया से बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट, सीएस ने किया मेडिकल टीम का गठननागा रोड में हुआ डिजिटल सेवा केन्द्र का उदघाट्न, लोगों को मिलेगी काफी सहूलियत47वीं वाहिनी के द्वारा रक्सौल में 22 दिवसीय मोटर ड्राइविंग कोर्स का उद्घाटन, पीएम मोदी के स्वरोजगार बनाने के सपनों को करेगा साकार
राज्य
फिल्म आर्टिकल-15 के विरोध में सिनेमाघरों पर हंगामा, रोक लगाने की मांग उठाई
By Deshwani | Publish Date: 28/6/2019 5:10:02 PM
फिल्म आर्टिकल-15 के विरोध में सिनेमाघरों पर हंगामा, रोक लगाने की मांग उठाई

कानपुर। बदांयू रेपकांड पर आधारित फिल्म आर्टिकल-15 आज जैसे ही सिनेमाघरों में रिलीज हुई, उसका जमकर विरोध शुरु हो गया। ब्राह्मण समाज के लोगों ने जनपद के सिनेमा घरों पर विरोध प्रदर्शन करते हुए बैनर-पोस्टर फाड़ दिये। इस दौरान कई सिनेमा घरों में फिल्म देखने पहुंचे लोगों की टिकटों का पैसा लौटाना पड़ा। प्रदर्शन व हंगामे को देखते हुए शहरभर की कई सिनेमा घरों पर पुलिस बल तैनात करते हुए फिल्म दिखाने पर रोक लगा दी गई है। 

 
अभिनेता आयुष्मान खुराना की फिल्म आर्टिकल-15 रिलीज होते ही विवादों के घेरे में आ गयी है। उत्तर प्रदेश के बदांयू रेपकांड पर आधारित फिल्म का विरोध करने ब्राह्मण समाज, हिन्दू संगठनों व सामाजिक लोगों द्वारा किया जाना लगा। शहर के गुरुदेव टाकीज में पहुंची भीड़ ने फिल्म के बैनर पोस्टर फाड़ते हुए तोड़फोड़ की। ब्राह्मण समाज के लोग बड़ा चौराहे पर स्थित जेड स्क्वायर मॉल पहुंचे, जंहा पर अंदर जाने को लेकर पुलिस कर्मियों से झड़प और धक्का मुक्की हो गयी। इस बीच विरोध बढ़ने पर विरोध करने आये भीड़ सिनेमा हॉल के बाहर गेट पर धरने के लिए बैठ गये। माल रोड स्थित सपना पैलेस में पहुंची भीड़ ने हंगामा काटते हुए फिल्म न दिखाये जाने की मांग करते हुए धरना दिया। 
 
ब्राह्मण समाज के अध्यक्ष नरेंद्र द्विवेदी का कहना है कि इस फिल्म के रिलीज होने से ब्राह्मण समाज की भावनायें आहत हो रही है। इसमें ब्राह्मण समाज को बिल्कुल गलत तरीके से दिखाया गया है। जब तक यह फिल्म रिलीज से नहीं रोकी जाती है तब तक यहां प्रदर्शन होगा। सिनेमा घरों पर फिल्म का विरोध व हंगामे के साथ बवाल की आशंका को लेकर सभी सिनेमाघरों में भारी पुलिस बल के साथ जिला प्रशासन के अफसर पहुंचे और विरोध करने वालों को शांत कराया। 
 
सिटी मजिस्ट्रेट रवि प्रकाश ने बताया कि हालात को देखते हुए शहर की सभी सिनेमाघरों में फिल्म को दिखाने पर रोक लगा दी गई है। टाकिजों में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS