ब्रेकिंग न्यूज़
अमिताभ बच्चन हुए कोविड-19 पोजिटिव, अस्पताल में भर्ती, शुभचिंतक कर रहें स्वस्थ्य होने की प्रार्थनापश्चिम चम्पारण के बगहा में नक्सली-एसटीएफ मुठभेड़ में 4 नक्सली हुए ढेरसमस्तीपुर : बेखौफ अपराधियों ने घर में घुस युवक को गोली मार की हत्यानेपाल पुलिस ने गांजा के साथ एक युवक को किया गिरफ्तारसमस्तीपुर : तीन बैंक अधिकारी सहित 21 कोरोना संक्रमित, संख्या पहुंची 380मोतिहारी के चकिया में एक ही मुहल्ले के पांच किशोरों की डूबकर हुई मौत, एनडीआरफ की आठ सदस्यीय टीम ने शवों को ढूढ़ा, मातमकोरोना बीमारी से जंग के लिए नहीं उठे उचित कदम : शरद यादवप्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना को नवंबर तक बढाने की मंत्रिमंडल ने दी मंजूरी
राज्य
कपड़े की दुकान और स्कूल में लगी भीषण आग, स्कूल के संचालक की पत्नी और दो बच्चों की मौत
By Deshwani | Publish Date: 8/6/2019 1:36:21 PM
कपड़े की दुकान और स्कूल में लगी भीषण आग, स्कूल के संचालक की पत्नी और दो बच्चों की मौत

फरीदाबाद। एएनडी कॉन्वेंट पब्लिक स्कूल की इमारत में आज सुबह आग लग गई। इस दौरान दौरान धुएं से दम घुटने के कारण तीन लोगों की मौत हो गई। इनमें एक महिला और दो बच्चे शामिल हैं। यह स्कूल फरीदाबाद की डबुआ कॉलोनी में 33 फुट रोड पर स्थित है।

  
इस इमारत के ग्राउंड फ्लोर में कपड़े की दुकान है। पहली और दूसरी मंजिल पर स्कूल का संचालन होता है। मृतकों की पहचान पहली मंजिल पर कमरे में रहने वाले इस स्कूल के संचालक विशाल की पत्नी नीता, उनकी बेटी यशिका और बेटे लक्की के रूप में हुई है। स्कूल के मालिक लच्छू उर्फ विकास उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के ताजपुर में रहता हैं।
 
प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि आग ग्राउंड फ्लोर पर कपड़े की दुकान में लगी। सूचना पाकर स्कूल संचालक विशाल नीचे पहुंचे। उन्होंने अपने स्तर पर आग बुझाने की कोशिश की। दुकान का ताला खोला और अंदर खड़ी कार बाहर निकाली। इसके बाद ऊपर जाने की कोशिश की। मगर तब-तक आग ऊपर की मंजिलों तक फैल चुकी थी। पहली मंजिल पर कमरे में मौजूद विशाल की पत्नी नीता, उनके बच्चे यशिका और लक्की लपटों में घिर गए। चारों ओर धुआं फैल जाने की वजह से वह नीचे नहीं उतर पाए और बेहोश हो गए। हादसे की सूचना पाकर फायर ब्रिगेड की टीम और गाड़ियां पहुंची और आग बुझाकर पहली मंजिल से नीता, यशिका और लक्की को नीचे उतारकर अस्पताल पहुंचाया। डॉक्टरों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया। 
 
गनीमत यह है कि स्कूल में गर्मी की छुट्टियां हैं। अगर स्कूल खुला होता तो बड़ा हादसा हो सकता था। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह का कहना है कि आग लगने का कारणों का खुलासा नहीं हो पाया। तीनों के शव पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेजे गए हैं। दमकल विभाग ने आग पर काफी हद तक नियंत्रण पा लिया है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS