ब्रेकिंग न्यूज़
रक्सौल के मुकेश कुमार को मिला ग्लोबल पीस अवार्डडीएफओ प्रभाकर झा ने भारत- नेपाल सीमा पर बने जांच चौकी का किया निरीक्षण, पेड़ों को लेकर दिए निर्देशहिन्दू जागरण मंच बेतिया ने वीर गौरव बब्लू बारी को दी श्रद्धाजंलि, उनके विस्मरणीय योगदानों को किया यादट्रैक्टर में बैठकर नगर विकास मंत्री के घर कूड़ा फेंकने जा रहे थे पप्पू यादव, पुलिस ने काटा चालानभारत-बांग्लादेश मैच में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री मोदी और हसीना को दिया गया न्योताकश्मीर देश का आंतरिक मुद्दा, इसे अंतरराष्ट्रीय क्यों बना रही है कांग्रेस: राजनाथ सिंहनिवेश के लिए भारत से अच्छी कोई जगह नहीं, सरकार सुधार लाने के लिए उठा रही कदम: वित्‍त मंत्री सीतारमणजन्मदिन: बेमिसाल अदाकारा और बहुमुखी प्रतिभा की धनी थी स्मिता पाटिल
राज्य
गठबंधन पर अखिलेश ने तोड़ी चुप्पी, कहा- अगर बसपा के रास्ते अलग हैं तो सपा भी लड़ेगी अकेले चुनाव
By Deshwani | Publish Date: 4/6/2019 3:51:33 PM
गठबंधन पर अखिलेश ने तोड़ी चुप्पी, कहा- अगर बसपा के रास्ते अलग हैं तो सपा भी लड़ेगी अकेले चुनाव

गाजीपुर। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश ने गठबंधन को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि यदि गठबंधन टूट गया है तो मैं इस पर गहराई से विचार करूंगा और अगर उप-चुनाव में गठबंधन नहीं होता है, तो समाजवादी पार्टी चुनाव की तैयारी करेगी। सपा भी अकेले सभी 11 सीटों पर चुनाव अपने दम पर लड़ेगी। उन्होंने कहा कि अगर बसपा के रास्ते अलग-अलग है तो उसका भी स्वागत और बधाई है।

 
बता दें कि अखिलेश करंडा के गोशनदेपुर सालारपुर गांव में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष दिवंगत विजय उर्फ पप्पू यादव को श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था खराब है। कहीं लड़कियां जिंदा जलाई जा रही हैं तो कहीं कार्यकर्ता की हत्या हो रही है। ये सरकार और पुलिस की जिम्मेदारी बनती है कि वह कानून व्यवस्था को सही तरीके से कायम रखे।
 
इससे पहले अखिलेश ने आजमगढ़ में कहा कि 2022 के चुनाव में समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी। उन्होंने गठबंधन से अलग होकर चुनाव लड़ने का संकेत दिए हैं। इस दौरान उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा के लोग हमें जात के नाम पर बदनाम करते हैँ। हम जनता को बताना चाहते हैं सबसे बड़ी जातिवाद की पार्टी भाजपा है। 
 
उन्होंने कहा कि गाजीपुर में हमारे कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि अमेठी में एक भाजपा नेता की हत्या होती है तो मंत्री आती हैं और उसके शव को कंधा लगाते ही पुलिस हरकत में आ जाती है। आरोपी पकड़े जाते हैं। यहां तो सपा से कार्यकर्ता के रूप में राजनीतिक करियर शुरू करने वाले नेता की जिला पंचायत का सदस्य बनने के बाद हत्या हो गई लेकिन पुलिस अभी तक हरकत में नहीं आई है। सबसे ज्यादा हत्याएं सपा के कार्यकर्ताओं की हो रही हैं लेकिन पुलिस कुछ करती नहीं दिख रही है। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS