ब्रेकिंग न्यूज़
इंटरसिटी और लोकल ट्रेन का संचालन नहीं होने से यात्रियों को हो रही काफी परेशानी, रामगढ़वा में भाजपा सांसद का पुतला दहन कर स्थानीय ग्रामीणों ने किया विरोध प्रदर्शनकेंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने कर्नाटक के बेंगलुरु में तीन अलग-अलग प्रकल्पों का लोकार्पण कियाभारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में दिग्गज अभिनेता और निर्देशक बिस्वजीत चटर्जी को 51वें भारतीय व्यक्तित्व पुरस्कार से किया गया सम्मानितभारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रक्सौल के दो केन्द्रों पर कोविड वैक्सीनेशन अभियान हुआ प्रारंभरक्सौल: सिमुलतला विद्यालय में ईशान ने मारी बाजीउत्तर प्रदेश विधान परिषद चुनावों के लिए भाजपा ने चार उम्मीदवारों के नामों की सूची जारी कीIGIMS से शुरू होगा बिहार में कोरोना टीकाकरण अभियान, सबसे पहला टीका IGIMS के सफाईकर्मी रामबाबू को लगेगाझारखंड: चतरा में 15 लाख के इनामी उग्रवादी मुकेश गंझू ने किया आत्मसमर्पण
राज्य
मुस्लिम वोटर्स को लेकर केजरीवाल के बयान पर शीला दीक्षित का पलटवार
By Deshwani | Publish Date: 18/5/2019 3:10:35 PM
मुस्लिम वोटर्स को लेकर केजरीवाल के बयान पर शीला दीक्षित का पलटवार

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के परिणाम 23 मई को आने वाले हैं। लेकिन उससे पहले ही दिल्ली की सियासत में गर्मी बढ़ गई है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के मुस्लिम वोटरों वाले बयान ने सियासी गलियारे में तूल पकड़ लिया है।

 
केजरीवाल के इस बयान पर अब दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व सीएम शीला दीक्षित  ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। शीला दीक्षित ने सीएम अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा है। शीला ने कहा, ‘मैं नहीं जानती कि वह क्या कहने की कोशिश कर रहे हैं। सभी को वोट देने का अधिकार है, कोई भी महिला या पुरुष किसी भी पार्टी को वोट दे सकता है। दिल्ली के लोग उनकी केजरीवाल सरकार के मॉडल को ना ही समझते हैं और ना पसंद करते हैं।
 
शीला दीक्षित ने कहा कि दिल्ली के लोग न तो इनका गर्वनेंस मॉडल समझ पाए हैं, न ही लोग इसे पसंद करते हैं।' शीला दीक्षित ने इससे पहले भी केजरीवाल पर ट्विटर के जरिए निशाना साधा था। उन्होंने केजरीवाल पर उनकी सेहत को लेकर अफवाह फैलाने का आरोप लगाया था।
 
बता दें कि अरविंद केजरीवाल ने अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा कि आखिरी वक्त पर आम आदमी पार्टी का सारा वोट कांग्रेस को शिफ्ट हो गया। जब उनसे पूछा गया कि उनकी पार्टी को दिल्ली में कितनी सीटों पर जीत मिलेगी? तो उन्होंने कहा, 'देखिए क्या होता है। दरअसल चुनाव के 48 घंटे पहले तक हमें लग रहा था कि सातों सीट पर आम आदमी पार्टी को जीत मिलेगी, लेकिन आखिरी लम्हों पर सारा का सारा वोट कांग्रेस को चला गया।
 
ज्ञात हो कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को सभी सात सीटों पर करारी हार का सामना करना पड़ा था। इस बार केजरीवाल की पार्टी ने कांग्रेस के साथ गठबंधन की कोशिश तो जरूर की लेकिन आखिरी लम्हों तक बात नहीं बनी।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS