ब्रेकिंग न्यूज़
बेतिया-चनपटिया सड़क मार्ग पर बस दुर्घटनाग्रस्त, दर्जनों यात्री घायलश्रीमद्भागवत कथा ज्ञान महायज्ञ के पहले दिन निकली गई भव्य कलश शोभा यात्रा, सैकड़ों महिला पुरुष हुए शामिलयूपी सुन्नी वक्फ बोर्ड के चैयरमैन को सुरक्षा मुहैया कराने का सुप्रीम कोर्ट ने दिया निर्देशभारतीय मूल के अभिजीत और उनकी पत्नी एस्थर डफ्लो को मिला वर्ष 2019 के लिए अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कारछौड़ादानों से रक्सौल तक जर्जर नहर रोड का आखिरकार खुला टेंडर, जांच प्रक्रिया के बाद शुरू होगा कामडायरिया से बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट, सीएस ने किया मेडिकल टीम का गठननागा रोड में हुआ डिजिटल सेवा केन्द्र का उदघाट्न, लोगों को मिलेगी काफी सहूलियत47वीं वाहिनी के द्वारा रक्सौल में 22 दिवसीय मोटर ड्राइविंग कोर्स का उद्घाटन, पीएम मोदी के स्वरोजगार बनाने के सपनों को करेगा साकार
राज्य
प्रधानमंत्री के दबाव में चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में घटाया चुनाव प्रचार का समय: मायावती
By Deshwani | Publish Date: 16/5/2019 1:13:23 PM
प्रधानमंत्री के दबाव में चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में घटाया चुनाव प्रचार का समय: मायावती

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने पश्चिम बंगाल में चुनाव प्रचार पर समय से पहले रोक को लेकर चुनाव आयोग पर निशाना साधा है।

 
मायावती ने आज यहां कहा कि चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में आज रात दस बजे से चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी है। इससे पहले आज वहां प्रधानमंत्री की दिन में दो रैलियां हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा के दबाव में चुनाव आयोग ने प्रचार रोका है। 
 
उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग को अगर प्रतिबंध लगाना था तो आज सुबह से क्यों नहीं लगाया, यह अनुचित है। इसकी वह कड़ी निंदा करती हैं। इससे साफ है कि वर्तमान मुख्य चुनाव आयुक्त के रहते चुनाव हुए फ्री ऐंड फियर नहीं हो पा रहा है। लोकतंत्र को आघात पहुंच रहा है। यह बहुत ही शर्मनाक और निंदनीय है। 
 
मायावती ने कहा कि चुनाव आयोग दबाव में काम कर रहा है। पश्चिम बंगाल को भाजपा ने अशांत किया है। गुरु प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनके चेले अमित शाह हाथ धोकर ममता बनर्जी के पीछे पड़े हैं जो न्याय संगत नहीं है। ममता बनर्जी को टारगेट किया जा रहा है। यह बंगाल सरकार के बदनाम करने की कोशिश है। यह सब प्रधानमंत्री को शोभा नहीं देता है।
 
बसपा सुप्रीमो ने आरोप लगाया कि भाजपा की केंद्र सरकार की पूरी शक्ति के साथ बंगाल की गैर भाजपा सरकार पर तरह-तरह के हथकंडे अपनाए जा रहे हैं। भाजपा और नरेंद्र मोदी की कोशिश यह है कि बंगाल के मुद्दे को इतना ज्यादा गरमाया जाए कि बाकी मुद्दों, उनकी विफलताओं और सरकार की असफलता से लोगों का ध्यान हट जाए। जनता भाजपा की साजिश अच्छे से समझ रही है। उत्तर प्रदेश की तरह अब बंगाल की जनता भी भाजपा को सबक सिखाएगी। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS