ब्रेकिंग न्यूज़
बीरगंज में नेपाल पुलिस ने छापेमारी कर तस्करी के 6 भैंस के साथ तीन लोगों को किया गिरफ्तारदिव्या शक्ति ने पहले प्रयास में ही सिविल सर्विस परीक्षा में मारी बाजीबांग्लादेश: पिछले 24 घंटे में बाढ़ की स्थिति में हुआ सुधारअयोध्या राम मंदिर: कल होने वाले भूमि पूजन को लेकर भव्य तैयारीदेश में कोरोना वायरस से 12 लाख 30 हजार 500 से अधिक रोगी हुए स्वस्थकोविड-19 पाॅजिटिव मरीजों को हर हाल में मुहैया करायें मेडिसिन किट्स: डीएमबेतिया के गली-नाली पक्कीकरण योजनान्तर्गत पेवर ब्लाॅक का करें इस्तेमाल: जिलाधिकारीमोतिहारी डीएम ने कहा - कोविड-19 सैंपलिंग में प्रगति नहीं तो होगी कार्रवाई, अनुपस्थित लैब टेक्नीशियन व प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी का रुकेगा वेतन
राज्य
गोरखपुर में मायावती, अखिलेश और अजित की रैली: मायावती ने कहा, 23 मई से शुरू होंगे भाजपा के बुरे दिन
By Deshwani | Publish Date: 13/5/2019 5:16:07 PM
गोरखपुर में मायावती, अखिलेश और अजित की रैली: मायावती ने कहा, 23 मई से शुरू होंगे भाजपा के बुरे दिन

गोरखपुर। लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के मद्देनजर गठबंधन के शीर्ष नेताओं ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। बसपा सुप्रीमो मायावती, सपा मुखिया अखिलेश यादव और रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा।

 
मायावती ने चंपा देवी पार्क में गठबंधन उम्मीदवार रामभुआल निषाद के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित कहा कि आप लोगों का उत्साह यह बता रहा है कि ‘नमो नमो’ की छुट्टी होने वाली है। देश में आजादी के बाद से ही कांग्रेस सत्ता में रही। यह पार्टी अपनी गलत नीतियों व गलत कार्य प्रणाली के कारण सत्ता से बाहर हो गयी। वर्तमान में भाजपा भी पूंजीवादी, संकीर्ण और जातिवादी नीतियों के चलते इस बार सत्ता से बाहर हो रही है। नाटक और जुमलेबाजी से काम नहीं चलेगा। 
 
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने गरीब, मध्यम वर्ग, नौजवानों को जो सपने दिखाए थे, उसका जमीनी स्तर पर चौथाई भाग भी काम नहीं हुआ। पूंजीपति मालामाल हुए और गरीब परेशान। गरीब, किसान, दलित और आदिवासी लोगों की स्थिति और भी खराब हुई है। 
 
सभा को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि गठबंधन की आंधी में कोई बचने वाला नहीं है। पिछले चुनाव में तो सिर्फ समर्थन था लेकिन इस बार तो मायावती खुद साथ आईं हैं। उप चुनाव की जीत को इस बार ऐतिहासिक वोटों से दुहराना है। आप की ये आवाज मठ तक चली गयी होगी। अब मुख्यमंत्री के मठ जाने का समय आ गया है। किसानों क साथ विश्वासघात हुआ। सरकार ने गरीबों, किसानों, बेरोजगारों से किए वायदे पूरे नहीं किये। अब इनके सत्ता से बाहर जाने का समय आ गया है।
 
वहीं अजित सिंह ने प्रधानमंत्री के कार्यों को देश विरोधी बताया। इस दौरान बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा, गणेश शंकर पांडेय, विनय संकर, राजमती निषाद, अमरेंद्र निषाद आदि मौजूद रहे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS