ब्रेकिंग न्यूज़
केन्‍द्रीय शिक्षा मंत्री ने केन्‍द्रीय विद्यालय बेतिया और केन्‍द्रीय विद्यालय नम्‍बर 4 कोरबा के नवनिर्मित भवनों का उद्घाटन कियाकेंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए गुजरात में नवनिर्मित थलतेज–शीलज–राचरडा रेलवे ओवरब्रिज का किया लोकार्पणसमस्तीपुर: दलसिंहसराय में आंटा मिल मालिक की गोली मारकर हत्यारक्सौल शहर के दो अस्पतालों में 80 लोगों को लगा कोविड वैक्सीन का टीकापटना: अपराधियों ने कोर्ट जा रहे मुंशी की गोली मारकर हत्या कर दीराष्ट्रीय आपदा मोचन बल(एनडीआरएफ)ने अपना 16 वां स्थापना दिवस मनायाआपका अपना घर, सपनों का घर, बहुत ही जल्द आपको मिलने वाला है: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीमंत्रिमंडल ने भारत और उज्बेकिस्ताान के बीच सौर ऊर्जा के क्षेत्र में सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्तासक्षर करने की मंजूरी दी
राज्य
गोरखपुर में मायावती, अखिलेश और अजित की रैली: मायावती ने कहा, 23 मई से शुरू होंगे भाजपा के बुरे दिन
By Deshwani | Publish Date: 13/5/2019 5:16:07 PM
गोरखपुर में मायावती, अखिलेश और अजित की रैली: मायावती ने कहा, 23 मई से शुरू होंगे भाजपा के बुरे दिन

गोरखपुर। लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के मद्देनजर गठबंधन के शीर्ष नेताओं ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। बसपा सुप्रीमो मायावती, सपा मुखिया अखिलेश यादव और रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा।

 
मायावती ने चंपा देवी पार्क में गठबंधन उम्मीदवार रामभुआल निषाद के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित कहा कि आप लोगों का उत्साह यह बता रहा है कि ‘नमो नमो’ की छुट्टी होने वाली है। देश में आजादी के बाद से ही कांग्रेस सत्ता में रही। यह पार्टी अपनी गलत नीतियों व गलत कार्य प्रणाली के कारण सत्ता से बाहर हो गयी। वर्तमान में भाजपा भी पूंजीवादी, संकीर्ण और जातिवादी नीतियों के चलते इस बार सत्ता से बाहर हो रही है। नाटक और जुमलेबाजी से काम नहीं चलेगा। 
 
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने गरीब, मध्यम वर्ग, नौजवानों को जो सपने दिखाए थे, उसका जमीनी स्तर पर चौथाई भाग भी काम नहीं हुआ। पूंजीपति मालामाल हुए और गरीब परेशान। गरीब, किसान, दलित और आदिवासी लोगों की स्थिति और भी खराब हुई है। 
 
सभा को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि गठबंधन की आंधी में कोई बचने वाला नहीं है। पिछले चुनाव में तो सिर्फ समर्थन था लेकिन इस बार तो मायावती खुद साथ आईं हैं। उप चुनाव की जीत को इस बार ऐतिहासिक वोटों से दुहराना है। आप की ये आवाज मठ तक चली गयी होगी। अब मुख्यमंत्री के मठ जाने का समय आ गया है। किसानों क साथ विश्वासघात हुआ। सरकार ने गरीबों, किसानों, बेरोजगारों से किए वायदे पूरे नहीं किये। अब इनके सत्ता से बाहर जाने का समय आ गया है।
 
वहीं अजित सिंह ने प्रधानमंत्री के कार्यों को देश विरोधी बताया। इस दौरान बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा, गणेश शंकर पांडेय, विनय संकर, राजमती निषाद, अमरेंद्र निषाद आदि मौजूद रहे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS