ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी में बलआ के राज मार्केट स्थित दवा दुकानदार की अपराधियों ने रात्रि में गोली मार हत्या कीरक्सौल के ई. कुंदन श्रीवास्तव ने आर्थिक मदद कर सत्याग्रह ट्रेन से आये यात्रियों को दिया भोजन का पैकेटझारखंड में बिहार सहित अन्य राज्यों से आनेवाली बस की एंट्री नहीं, निजी वाहनों को भी लेना होगा ई-पासमोतिहारी के कोटवा में ट्रक व कार में भीषण टक्कर, एक की मौत चार अन्य घायल, दो की स्थित गंभीरबिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जान
राज्य
शांतिपूर्ण एवं सुरक्षित मतदान कराने के लिए पुलिस बल को दी गई ट्रेनिंग
By Deshwani | Publish Date: 10/5/2019 4:31:24 PM
शांतिपूर्ण एवं सुरक्षित मतदान कराने के लिए पुलिस बल को दी गई ट्रेनिंग

वाराणसी। आखिरी चरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में मतदान सम्पन्न कराने के लिए आज पुलिस लाइन में जिला निर्वाचन अधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने जिले की फोर्स के साथ ही अन्य जिलों से आयी पुलिस फोर्स को मतदान कराने की ट्रेंनिंग दी। 

 
उन्होंने कहा कि पहले के चरणों में सामने आयी कमियों और समस्याओं से सबक लेते हुए बेहतर तरीके से चुनाव सम्पन्न करायें। उन्होंने कहा कि मतदान के दिन हर मतदाता केन्द्र पर वोटर सहायता बूथ स्थापित किये जायेंगे जिस पर बीएलओ मतदाता सूची के साथ बैठकर उन मतदाताओं को सहयोग देंगे जिन्हें किसी कारण से मतदाता पर्ची नहीं मिली होगी। उन्होंने बताया कि पोलिंग एजेंट भी बूथों पर मतदाता सूची के साथ मौजूद रहेंगे और मतदाता की पहचान करेंगे लेकिन वे सूची लेकर मतदान केन्द्र से बाहर नहीं जा सकेंगे। 
 
जिला निर्वाचन अधिकारी के अनुसार किसी भी राजनीतिक पार्टी का बस्ता मतदान केंद्र के 200 मीटर की परिधि के बाहर ही लगाया जा सकेगा। 100 मीटर की परिधि में कोई चुनाव प्रचार भी नहीं किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि सुरक्षाकर्मियों को किसी की पहचान जांचने का अधिकार नहीं होगा। यदि कोई व्यक्ति किसी भी प्रकार से व्यवधान उत्पन्न करता है, तो उसकी पहचान कर कार्यवाही की जाएगी। 
 
उन्होंने बताया कि पोलिंग बूथ के अन्दर पोलिंग पार्टी, माइक्रो आब्जर्वर, चुनाव आयोग के प्रेक्षक, जिला निर्वाचन अधिकारी, एसडीएम, इलेक्शन एजेंट तथा बिना किसी चुनाव चिन्ह के उम्मीदवार को जाने का अधिकार है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS