ब्रेकिंग न्यूज़
जिला प्रशासन ने अंतरजातीय विवाह करने वाले 10 दंपत्तियों को बतौर प्रोत्साहन 7.75 लाख की राशि प्रदान कियादैवीय आपदा, बेघर और कच्चे घरों में रहने वाले गरीब परिवारों को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत निःशुल्क आवास उपलब्धदिनेशलाल यादव निरहुआ ने की बिहार में 500 थियेटर के साथ एजुकेशन को जोड़ने की पहलविभिन्न समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर स्वच्छ रक्सौल संस्था द्वारा धरना आज तीसरा दिन भी जारी रहाशराब कारोबारी और पुलिस की कथित चूहा बिल्ली के खेल में हुई दुर्घटना में एक तेज रफ्तार होण्डा कार ने तीन लोगों को रौंदा, एक की मौतदूरदर्शन की मशहूर एंकर नीलम शर्मा का निधन, कैंसर से थीं पीड़ितकुशीनगर में एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या, क्षेत्र में फैली सनसनीजिले में बेहतर स्वास्थ्य एवं सुरक्षित भविष्य के लिए राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम योजना की शुरूआत
राज्य
कुशीनगर : पत्नी व उसके प्रेमी ने मिलकर कबाड़ व्यवसायी की हत्या को दिया था अंजाम, दोनों गिरफ्तार
By Deshwani | Publish Date: 31/3/2019 11:00:00 PM
कुशीनगर :  पत्नी व उसके प्रेमी ने मिलकर कबाड़ व्यवसायी की हत्या को दिया था अंजाम, दोनों गिरफ्तार

 

कुशीनगर। भानू प्रताप तिवारी।

 जिले के तरयासुजान पुलिस ने क्षेत्र के माधोपुर बुजुर्ग में बड़ी गंडक नहर किनारे हुई हत्या का पर्दाफाश कर दिया है। घटना का खुलासा करते हुए सीओ राणा महेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि इस लोमहर्षक घटना को ध्रुव सिंह की पत्नी व उसके प्रेमी ने मिलकर अंजाम दिया था। दोनों ने मिलकर ध्रुव सिंह की हत्या बीते दिनों कर दी थी।


बीते दिनों माधोपुर बुजुर्ग के मुख्य पश्चिमी गंडक नहर के किनारे पटरी पर बाघाचौर निवासी ध्रुव सिंह की हत्या कर फेंकी गई लाश मिली थी। पुलिस ने मृतक की पत्नी की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच-पड़ताल शुरू की थी। 


रविवार को घटना का खुलासा करते हुए सीओ राणा महेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि मृतक की पत्नी अभावती का अहिरौलीदान निवासी सुरेन्द्र सिह के साथ नाजायज संबंध था। मृतक ध्रुव बिहार में कबाड़ी का काम करता था। उसके द्वारा पत्नी व उसके प्रेमी के नाजायज संबंध का विरोध किया जाता था, जिससे नाराज होकर उसकी पत्नी व प्रेमी ने साजिश के तहत उसे बिहार से घटनास्थल पर बुलाया। पीछे से सिर पर लोहे के राड से वार कर उसकी हत्या कर दी गयी।


 घटना को छिपाने के लिए रॉड को नहर में फेंक दिया गया। साथ ही आरोपियों ने घटना को दूसरा स्वरूप देने की भरसक कोशिश की। वैज्ञानिक व इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य के आधार पर छानबीन करने पर यह मामला खुला। 

एसओ सुशील कुमार शुक्ल ने बताया कि पकड़े जाने के डर से दोनों आरोपी कहीं भागने की फिराक में थे। दोनों को तमकुहीराज ओवरब्रिज चौराहे से पकड़कर जेल भेजा जा रहा है

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS