ब्रेकिंग न्यूज़
ड्रग्स मामला: रिया-शौविक की जमानत याचिका पर सुनवाई पूरी, बॉम्बे हाई कोर्ट ने फैसला रखा सुरक्षितमहागठबंधन से अलग हुआ रालोसपा, उपेंद्र कुशवाहा ने मायावती की बसपा के साथ मिलकर बनाया नया मोर्चाबिहारी मूल के निर्देशक अभिषेक के इस गाने मे पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे भी आ रहें हैं नज़रबिधान सभा चुनाव को लेकर रक्सौल पुलिस और नेपाल पुलिस अधिकारियों के बीच हुई बैठकहाथरस गैंगरेप पर प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर हमला बोला, कहा-यूपी में कानून व्यवस्था हद से ज्यादा बिगड़ चुकी हैगैंगरेप पीड़िता के भाई ने पुलिस पर लगाया लापरवाही का आरोप, आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा की मांग कीअयोध्या के विवादित ढांचा विध्वंस मामले में फैसला कल, अयोध्या समेत समूचे उत्तर प्रदेश में हाई अलर्टप्रधानमंत्री मोदी ने नमामि गंगे के तहत 521 करोड़ की परियोजनाओं का उत्तराखंड में किया लोकार्पण
राज्य
2019 के आम चुनाव में टीएमसी-बीजेपी में होगी कड़ी टक्कर: मुकुल रॉय
By Deshwani | Publish Date: 8/3/2019 2:12:09 PM
2019 के आम चुनाव में टीएमसी-बीजेपी में होगी कड़ी टक्कर: मुकुल रॉय

कोलकाता। लोकसभा चुनाव में लोग सूबे की मुख्यमंत्री ममता के खिलाफ बीजेपी को वोट देंगे, क्योंकि राज्य में सत्ता विरोधी नहीं बल्कि ममता विरोधी लहर चल रही है। यह दावा बीजेपी के वरिष्ठ नेता और चुनाव प्रबंधन समिति के प्रभारी मुकुल रॉय ने किया है। 

 
उन्होंने कहा है कि राज्यभर में बड़ी संख्या में लोग ममता बनर्जी से नाराज हैं। उनकी हिंसक नीति, तानाशाह रवैया, दोहरा मापदंड, अल्पसंख्यक तुष्टिकरण, भ्रष्टाचार का संरक्षण और अन्य नीतियां लोगों को नागवार गुजर रही हैं और आम चुनाव में इसका परिणाम भी देखने को मिलेगा।
 
आज जारी एक बयान में मुकुल रॉय ने दावा किया है कि राज्य की 42 में से कम से कम 32 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी तृणमूल कांग्रेस को कड़ी टक्कर देगी। जो लोग भी ममता बनर्जी को नापसंद करते हैं, वे दूसरी पार्टियों की तुलना में भाजपा को वोट देंगे। क्योंकि कांग्रेस और माकपा के बजाय भाजपा आज राज्य में सत्ता का विकल्प है और तृणमूल से लड़ सकती है। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस को 'सत्ता विरोधी' नहीं, बल्कि 'ममता विरोधी' भावनाओं की वजह से हार का मुंह देखना पड़ेगा।
 
उन्होंने कहा कि 2019 के आम चुनावों में पश्चिम बंगाल में बीजेपी और तृणमूल के बीच सीधी टक्कर होगी। बीजेपी को कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियों के हिस्से का वोट भी मिलेगा। लोग प्रदेश में परिवर्तन चाहते हैं। तृणमूल कांग्रेस को लोकसभा चुनावों में करारा झटका लगने जा रहा है और उनकी सीटों की संख्या 25 से नीचे जा सकती हैं।
 
उल्लेखनीय है कि एक दौर में ममता बनर्जी के राजनीतिक चाणक्य रहे मुकुल रॉय ने वर्ष 2017 के नवंबर महीने में उनका साथ छोड़ दिया था और भाजपा का दामन थाम लिया था। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS