ब्रेकिंग न्यूज़
हजारों के तादाद में युवक-युवतियां, महिलाओं समेत आम जनों ने ली भाजपा की सदस्यताआशीष परियोजना डंकन अस्पताल रक्सौल के द्वारा पनटोका पंचायत भवन के प्रांगण में नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजनएक दिवसीय प्रखंड स्तरीय कृषि समन्यवय कार्यक्रम रक्सौल के कृषि भवन में आयोजित, योजनाओं के बारे में किसानों को दी जानकारीपरिवार नियोजन पखवाड़ा के दौरान 429 महिलाओं ने कराई बंध्याकरण, आशा कार्यकर्ता व एएनएम का कार्य सराहनीयट्रेन की छत पर चढ़कर युवक ने किया ड्रामा, हिरासत में लेकर पुलिस कर रही है पूछताछरवीना टंडन ने किया खुलासा, कहा- मेरे पिता को नहीं लगता था कि मैं कभी एक्ट्रेस बन पाऊंगीगर्भवती महिलाओं को प्रसव पूर्व व प्रसव के बाद बेहतर देखभाल के लिए की जाती है काउंसलिंगबदलती परिस्थितियों के साथ समय का कोई भरोसा नही, कब पलटी मार जाये
राज्य
दो कुख्यात हथियार तस्कर गिरफ्तार, 50 पिस्टल, और कारतूस बरामद
By Deshwani | Publish Date: 10/8/2018 11:46:09 AM
दो कुख्यात हथियार तस्कर गिरफ्तार, 50 पिस्टल, और कारतूस बरामद

नई दिल्ली। स्वतंत्रता दिवस से पहले दिल्ली पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। कल दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दो अलग-अलग जगह दविश देकर दो कुख्यात तस्करों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार तस्करों के पास से दो कार्बाइन, 50 पिस्टल, एक दर्जन से ज्यादा मैगजीन और 50 कारतूस बरामद किए। पुलिस के मुताबिक यह हथियारों का जखीरा किसी खास वजह से दिल्ली लाया गया था। इस संबंध में स्पेशल सेल के डीसीपी संजीव यादव ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर इनपुट मिले थे कि राजधानी में हथियारों का जखीरा आने वाला है, इसी के चलते टीम लगातार हथियार सप्लायरों की धरपकड़ में लगी हुई थी। 

इसी बीच सेल की नॉदर्न और साऊथ वेस्टर्न रेंज की टीम को सूचना मिली थी कि हथियार के बड़े सप्लायर हथियार लेकर दिल्ली आने वाले हैं। सूचना के बाद एक टीम एसीपी मनोज दीक्षित के देखरेख में बनाई गई। इसी बीच इनपुट मिले कि कुछ लोग दिल्ली आने वाले हैं, जिसके  बाद दबिश दी गई और टीम ने तारा चौक, धीरपुर के पास ट्रेप लगाकर मालदा वेस्ट निवासी अजीमुद्दीन उर्फ शेख उर्फ अजीम उर्फ अकील को धर दबोचा। उस वक्त वह हाजी कयूम को हथियार देने पहुंचा था। जांच करने पर उसके बैग से दो ऑटोमेटिक कार्बाइन, 38 पिस्टल और 50 कारतूस बरामद किए गए। 

पूछताछ में आरोपी अजीमुद्दीन ने बताया कि उसे सुरक्षा एजेंसी या पुलिस पकड़ न सके, इसलिए वह हथियार का बैग लेकर आउटर सिग्नल पर उतर गया था। वह मालदा के अकील नाम के हथियार तस्कर के लिए काम करता है। उसके इशारे पर ही वह दिल्ली-एनसीआर समेत यूपी और हरियाणा में हथियार सप्लाई करता था। अजीम हथियारों की यह खेप हाजी कयूम को देने के लिए दिल्ली आया था। सुरक्षा एजैंसियों को चकमा देने के लिए वह आउटर सिग्नल पर ही ट्रेन से उतर गया था।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS