ब्रेकिंग न्यूज़
छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: अब भ्रष्टाचार पर क्यों नहीं बोलते प्रधानमंत्री मोदी: राहुल गांधीहांगकांग ओपन टूर्नामेंट के पहले दौर में सिंधू की संघर्षपूर्ण जीत, प्रणीत बाहरसिंगापुर में प्रधानमंत्री मोदी ने लॉन्च किया ‘एपिक्स’, 23 देशों के जुड़ेंगे दो अरब लोगराफेल डील पर सुनवाई खत्म, उच्चतम न्यायालय ने फैसला रखा सुरक्षितसुपर-30 के संस्थापक आनंद कुमार दुबई में शाही परिवार से मिलेट्रंप ने व्हाइट हाउस में जलाया दीया, कहा- मोदी का करता हूं सम्मान'मरजावां' फिल्म से जुड़ा एक और एक्ट्रेस का नाम, Twitter पर किया खुशी का इजहाररालोसपा नेता की गोली मारकर हत्या, परिजनों को ढांढस बंधाने पहुंचे उपेंद्र कुशवाहा
राज्य
स्कूल चाहें तो बंद कर लें संस्थान, आधिकारिक छुट्टी नहीं : शिक्षा मंत्री
By Deshwani | Publish Date: 10/7/2018 12:40:36 PM
स्कूल चाहें तो बंद कर लें संस्थान, आधिकारिक छुट्टी नहीं : शिक्षा मंत्री

मुंबई। मुंबई में पांच दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश के कारण पश्चिमी रेलवे की उपनगरीय सेवाओं को रोक दिया गया है। कल रात से 200 मिलिमीटर वर्षा दर्ज की गई है जिससे रेल की पटरियों में पानी भर गया है और यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रेल सेवाएं तब तक रोक दी गयीं हैं जब तक कि पटरियों पर पानी कम नहीं हो जाता।

 मुंबई में भारी बारिश के कारण यहां की सड़कें तालाब में तब्दील हो चुका है जिस कारण यहां यातायात व्यवस्था पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो चुका है। भारी बारिश के कारण मुंबई के सभी सरकारी स्कूलों को बंद कर दिया गया है। स्कूलों को बंद करने के बाद बाद शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने स्कूलों को यह विकल्प दिया है कि वे चाहे तो अपना संस्थान बंद कर लें। हालांकि आधिकारिक रूप से उन्होंने स्कूल बंद करने का एलान नहीं किया है।

शिक्षामंत्री विनोद तावड़े के बयान पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने हस्तक्षेप किया है। उन्होंने शिक्षामंत्री को कहा है कि आप हालात पर नजर रखें और जरूरत पड़े तो स्कूल बंद कर दें। मुख्यमंत्री ने कहा है कि बच्चों की सुरक्षा सबसे अहम है। मुख्यमंत्री भी इन दिनों नागपुर में ही हैं।


शिक्षा मंत्री ने कहा है कि आज सरकारी स्कूल बंद नहीं होंगे, जबकि आज वहां भारी बारिश हो रही है। ध्यान रहे कि कल उन्होंने ही स्कूल बंद करने का एलान किया था। इसके पीछे तर्क यह दिया जा रहा है कि हाइटाइड आज सुबह एक बार आ चुका है और एक बार फिर शाम में आएगा। एेसे में दिन में स्कूलों से पानी निकल जाएगा। तावड़े ने इस संबंध में बयान दिया है और कहा है कि अब हाइटाइड साढ़े आठ बजे शाम आएगा।  इस बीच कई स्कूलों ने स्वयं बच्चों से कहा है कि वे अपने बच्चों को न भेजें, क्योंकि परिस्थिति और खराब हो सकती है।


भारी बारिश के बावजूद सेवाएं जारी रखने के लिए कल कई यात्रियों ने मध्य रेलवे को संदेश और ट्वीट भेज कर धन्यवाद दिया था। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आइएमडी) ने बृहस्पतिवार तक भारी और भीषण बारिश का अनुमान व्यक्त किया है। वहीं शहर में टिफिन सेवा देने वाले डब्बावालों ने जलभराव के मद्देनजर आज पूरे शहर में काम बंद रखने का फैसला किया है।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS