ब्रेकिंग न्यूज़
पूर्वी चंपारण के कई इलाकों में बेमौसम बारिश और बर्फबारी होने से बढ़ी ठंड, दिखा शिमला जैसा नजाराबेतिया में मूर्छितावस्था में अधमरी महिला मिली, ग्रामीणों ने मझौलिया पीएचसी में कराया भर्ती करायासाबरमती आश्रम में राष्ट्रपति ट्रंप ने पत्नी मेलानिया के साथ चरखा चलाकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित कीचीन से कच्चे माल की आपूर्ति में व्यवधान के संबंध में वित्त मंत्री ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाईजम्मू-कश्मीर में पंचायत उपचुनाव सुरक्षा मुद्दों और क्षेत्रीय राजनीतिक दलों की अनिच्छा के कारण स्थगितअशरफ गनी अफगानिस्तान के नए राष्ट्रपति चुने गएबिहार के गया में कोरोना वायरस के एक संदिग्ध मरीज को देखरेख के लिए अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में कराया गया भर्तीऔरंगाबाद में रफीगंज-शिवगंज पथ पर तेज रफ्तार ट्रक ने ऑटो में मारी टक्कर, दो मासूमों सहित 10 लोगों की मौत
राज्य
शिक्षक और युवाओ की सहभागिता से अखण्ड भारत का निर्माण-राज्यपाल आनंदीबेन पटेल
By Deshwani | Publish Date: 24/1/2020 10:49:35 AM
शिक्षक और युवाओ की सहभागिता से अखण्ड भारत का निर्माण-राज्यपाल आनंदीबेन पटेल

कुशीनगरभानु तिवारी। शिक्षक और युवाओ की सहभागिता से अखण्ड भारत का निर्माण होता है। उन्होने कहा कि शिक्षित होने के साथ- साथ संस्कारवान होना भी जरूरी है। क्योंकि संस्कार समाज के बदलाव का एक सशक्त माध्यम है जो युवाओं के बल पर सार्थक सिद्ध हो सकता है। इस लिए जरूरी है कि माता-पिता अपने बच्चों को संस्कारी बनावे।

 
 
उक्त बातें भगवान बुद्ध की परिनिर्वाण स्थली को नमन करते हुए राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने गुरुवार को बुद्ध पीजी कॉलेज मे आयोजित "दीक्षांत समारोह" को संबोधित कही। उन्होंने केन्द्र व प्रदेश सरकार की महात्वाकांक्षी योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि महिलाओं और बच्चों के लिए सरकार की कल्याणकारी योजनाओं मे शुमार आयुष्मान भारत 50 करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा , बेटी बचाओ बेटी पढाओ, सब पढे, सब बढे कन्या सुमंगला योजना जो निर्धन व गरीबों के वच्चियों के लिये वरदान साबित हो रही है। जिसमे जन्म से लेकर ग्रेजुएट तक कुल 15 हजार रु0 देने की व्यवस्था है, उन्होंने इसके लिए अधिकारियों को जागरूक होने तथा पात्र व्यक्तियों को लाभ दिलाने में भरपूर प्रचार प्रसार कर कार्य करने की नसीहत दी , उन्होंने कहा इस के अतिरिक्त भी बहुत सारी योजनाएं  संचालित हो रही है, जिससे समाज का अन्तिम व्यक्ति लाभान्वित होकर खुद को समाज के मुख्य धारा मे जोड सके। 
 
कुलाधिपति राज्यपाल श्रीमति बेन ने शिक्षा और स्वास्थ्य पर जोर देते हुए कहा कि विद्यालय व  विश्वविद्यालय बच्चों और छात्रों के हित को ध्यान मे आयोजन करे। विश्वविद्यालयो को रुटीन से अलग  हटकर सोचने की जरूरत है। उन्होंने  प्राथमिक शिक्षा में विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों की भूमिका पर कहा कि महाविद्यालय की ओर से  एक गांव गोद लेकर महाविद्यालय के शिक्षक व छात्र एक गाँव गोद लेकर उसमें 5 वर्ष व 3 वर्ष के छोटे बच्चों को विद्यालय तक पर पहुँचाने  पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि यूपी में 10 हजार महा विद्यालय है अगर वे सभी एक-एक गांव को गोद मे ले तो 10 हजार गांव शिक्षित होंगे।
 
 
उन्होंने बाल विवाह और दहेज प्रथा का प्रतिरोध करने का आह्वान करते हुए कहाकि बाल विवाह पर रोक लगनी चाहिए। शिक्षा से ही बाल विवाह प्रथा को खत्म किया जा सकता है। राज्यपाल ने कहा आज गोल्ड मेडल वाले लोग शादी मे गोल्ड की मांग करते है। क्या हम इतने भी सक्षम नही है कि हम बिना दहेज लिए विवाह संपन्न कर सके। आज संकल्प ले कि अब किसी से विवाह मे पैसा नही मांगेगे। उन्होंने बेटियो से कहा कि दहेज मागने वालो को शादी कू लिए माना करे। 
 
 
दीक्षांत समारोह मे मुख्य अतिथि अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्व विद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो.गिरीश्वर मिश्र रहे। संचालन सीमा त्रिपाठी ने किया, कार्यक्रम का आगाज दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया  प्राथमिक विद्यालय कुरमौटा के छात्र छात्राओं को कुलाधिपति ने उपहार भेंट कर उनके उज्जवल भविष्य की कामना किया। कला, विज्ञान, वाणिज्य व शिक्षा संकाय के पंजीकृत समेत कुल 30 छात्र छात्राओं को गोल्ड मेडल प्रदान किया।
 
 
इस अवसर पर विद्द्यालय परिवार सहित कुशीनगर सांसद विजय कुमार दुबे, विधायक कसया, खडडा, फाजिल नगर सहित जिलाधिकारी डा0 अनिल कुमार सिंह, पुलिश अधीक्षक विनोद कुमार मिश्र, अपर जिलाधिकारी विंध्यवासिनी राय, जॉइंट मजिस्ट्रेट कसया अभिषेक कुमार पांडेय सहित समस्त उप जिलाधिकारी तथा छात्र छात्राएं आदि उपस्थित रहे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS