ब्रेकिंग न्यूज़
बदमाशों ने रंगदारी नहीं देने पर घर में की हवाई फायरिंग, बाइक सहित चार कारतूस जब्तमोतिहारी के रघुनाथपुर पुलिस ने तीन फराय अभियुक्तों के घर पर इश्तेहार सटवायामोतिहारी में 8 संदिग्ध युवक गिरफ्तार, पुलिस ने कहा- झपटमार गिरोह के हैं सदस्यपूर्व केन्द्रीय राधा मोहन सिंह ने पृथ्वी दिवस के अवसर पर बापू पौध शाला का उद्घाटन कियासंजय दत्त को हो रही है सांस लेने में समस्या, लीलावती अस्पताल में भर्तीनेपाल: बीरगंज के नारायणी अस्पताल में हुए पिसिआर परिक्षण में 141 लोग कोरोना संक्रमित पाये गयेमुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वाल्मीकिनगर से बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का दौरा कियाडंकन अस्पताल रक्सौल में कोविड-19 का जाँच और उपचार शुरु
राज्य
निर्भया के दादा बोले : अब पूरी होगी दरिंदों को फांसी पर लटकते देखने की तमन्ना
By Deshwani | Publish Date: 7/1/2020 7:05:30 PM
निर्भया के दादा बोले : अब पूरी होगी दरिंदों को फांसी पर लटकते देखने की तमन्ना

बलिया सात साल पहले दिल्ली में गैंगरेप की शिकार हुई निर्भया के दोषियों का डेथ वारंट जारी होने की खबर मिलते ही पैतृक गांव में उसके दादा ने खुशी जाहिर की। मंगलवार शाम उन्होंने कहा कि देर से ही सही यह दिल को सुकून देने वाली खबर है। वह बोले कि घटना के दिन से ही दरिंदों को फांसी पर लटकते देखने की तमन्ना थी, जो अब जाकर पूरी होगी। 

 
 
दिल्ली के बसंत बिहार इलाके में चलती बस में 2012 के आखिरी महीने दिसम्बर की 16 तारीख की रात में जिले के मेड़वरा कला गांव की निवासी निर्भया के साथ दरिंदगी हुई थी। मौत से 13 दिनों तक लड़ने के बाद निर्भया ने 29 दिसम्बर को सिंगापुर में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था। इस घटना ने देश समेत पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया था। निर्भया के दरिंदों के खिलाफ सात साल तक चली कानूनी प्रक्रिया के बाद मंगलवार को फांसी की सजा मुकर्रर की गई। दोषियों के लिए डेथ वारंट जारी होने की खबर टीवी पर जैसे ही फ्लैश हुई तो निर्भया के पैतृक गांव में उसके दादा लालजी सिंह ने संतोष व्यक्त किया। 
 
 
बातचीत में उन्होंने कहा कि हमारी बिटिया के दरिंदों ने इतने लंबे समय तक सांस ली, यह कानूनी प्रक्रिया के कारण हुआ। हालांकि देर भले हुई लेकिन अब उन्हें फांसी पर लटकते देखने की हसरत पूरी होगी। घटना के दिन से रोज हम उनके लिए फांसी मांगते रहे। उनका यही अंजाम होना चाहिए था। उन्होंने कहा कि 22 जनवरी को जब दरिंदे फांसी पर झूलेंगे तो ऐसी दरिंदगी के खिलाफ एक संदेश जाएगा। वह बोले कि अब सरकार की जिम्मेदारी है कि निर्भया की मौत के बाद उसके लिए हुई घोषणाओं पर शीघ्र अमल किया जाए।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS