ब्रेकिंग न्यूज़
अत्याधुनिक हथियार बरामदगी मामले में कोटवा निवासी कुख्यात कुणाल को आजीवन कारावास, 42 हजार रुपये का अर्थदंड भी मिलाइस बार का चुनाव मेरे लिए चुनाव है चुनौती नहीं: राधा मोहन सिंहMotihati: सांसद राधामोहन सिंह ने नामांकन दाखिल किया, कहा-मैं तो मोदी के मंदिर का पुजारीमोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे
पूर्णिया
धमदाहा में विकराल होती जा रही है बाढ़ की स्थिति, लापरवाह है प्रशासन
By Deshwani | Publish Date: 19/8/2017 1:40:16 PM
धमदाहा में विकराल होती जा रही है बाढ़ की स्थिति, लापरवाह है प्रशासन

पूर्णिया, (हि.स.)। पूर्णिया के धमदाहा प्रखंड क्षेत्र के दर्जनों गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं । हजारों लोग अब भी बाढ़ के पानी में फंसे हुए हैं । इन्हें बाहर निकलाने के रास्ते पूरी तरह बंद हैं । 

गौरतलब है कि प्रखण्ड क्षेत्रों में एक अदद नाव भी उपलब्ध नही है जिस कारण बाढ़ में फंसे लोगों के जानमाल पर खतरा बरकरार है । प्रखंड के मोगलिया पुरंदाहा पूरब के बग्घी बरैना पकड़िया टोला, यादव टोला, धरहर जमुनिया समेत कई गांवों में बाढ़ का पानी पूरी तरह से अपने आगोश में ले लिया है । वहीं राजघाट गरैल पंचायत के संझाघट में बाढ़ का पानी चारों तरफ फैला हुआ है, वही दमैली संझाघट मुख्य सड़क पर चार फीट से ऊपर पानी का बहाव है। 

दमैली चम्पावती तथा डकैता का पूरा गांव जलमग्न हो गया है । गांव के लोग कहीं सड़क पर तो कहीं सरकारी विद्यालय में शरण ले रखा है । वहीं, बढ़कोना गांव के संथाली टोला में सैकड़ों लोग बाढ़ के पानी से घिरे हुए हैं। सड़क सम्पर्क टूट जाने की वजह से सभी लोग बाढ़ की विभीषिका झेलने पर मजबूर हैं। इन सबों की सुधि लेने वाला कोई नहीं । पानी का दबाब बढ़ता ही जा रहा है। धमदाहा घाट में कोशी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है तो वहीं कुआंरी घाट कोशी में भी जलस्तर में काफी वृद्धि देखी गई है । उधर, प्रशासन का लापरवाह रवैया बाढ़ पीड़ितों के जले पर नमक छिड़कने का काम कर रहा है । 

बाढ़ में फंसे हजारों लोगो ने बताया कि अबतक प्रशासन द्वारा कोई खबर नहींं ली गई है। दमैली के चांदनी चौक व बेलगाछ के पास शरण लिए बाढ़ पीड़ित दो दिनों से भूखे प्यासे रह रहे हैं। जानकारी के अनुसार बाढ़ की त्रासदी झेल रहे हजारों लोगों के बचाव एवं राहत हेतु प्रशासनिक स्तर पर कोई दिशा निर्देश नहीं मिल रहा है । इस बाबत पूछे जाने पर बताया जा रहा है कि राजस्व कर्मियों को राहत शिविर चलाने के निर्देश दिए जा चुके हैं लेकिन कहीं भी कोई राहत शिविर नहीं शुरू हो पाया है । 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS