ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार
बिहार में महिला सीएम उम्मीदवार की एंट्री, अखबारों में छाईं लंदन में रहने वाली जेडीयू नेता की बेटी
By Deshwani | Publish Date: 13/3/2020 8:53:10 PM
बिहार में महिला सीएम उम्मीदवार की एंट्री, अखबारों में छाईं लंदन में रहने वाली जेडीयू नेता की बेटी

पटना।बिहार में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में आरजेडी, जेडीयू, भाजपा और कांग्रेस ने बिहार जीतने के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एनडीए के मुख्यमंत्री उम्मीदवार हैं, वहीं दूसरी तरफ तेजस्वी यादव भी महागठबंधन की तरफ से मुख्यमंत्री पद की रेस में हैं। अब एक और मुख्यमंत्री उम्मीदवार का नाम सामने आया है। यह उम्मीदवार महिला है।
 
बिहार के कई अखबारों में रविवार को छपे एक विज्ञापन ने सबको चौंका दिया है। विज्ञापन में पुष्पम प्रिया चौधरी नाम की एक महिला ने खुद को बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में मुख्यमंत्री का उम्मीदवार बताया है। विज्ञापन के जरिए इस महिला ने बताया है कि उसने 'प्लूरल्स' नाम का एक राजनीतिक दल बनाया है और वह उसकी अध्यक्ष हैं।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर पेश की दावेदारी:
पुष्पम प्रिया चौधरी ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर बिहार के अखबारों में विज्ञापन देते हुए मुख्यमंत्री पद की दावेदारी पेश की। उन्होंने पार्टी का नाम प्लूरल्स दिया है जबकि 'जन गण सबका शासन' पंच लाइन दी है। पुष्पम प्रिया ने विज्ञापन में बताया कि उन्होंने विदेश में पढ़ाई की है और अब बिहार वापस आकर प्रदेश को बदलना चाहती हैं।

जेडीयू के पूर्व एमएलसी विनोद चौधरी की बेटी हैं पुष्पम:
पुष्पम प्रिया चौधरी ने डबल एमए किया है। इंग्लैंड के द इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपमेंट स्टडीज विश्वविद्यालय से एमए इन डेवलपमेंट स्टडीज और लंदन स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स एंड पॉलीटिकल साइंस से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में एमए किया है। वह दरभंगा निवासी हैं और जेडीयू के पूर्व एमएलसी विनोद चौधरी की बेटी हैं। अभी वो लंदन में ही रहती हैं।

बिहार की जनता को लिखा पत्र:
पुष्पम प्रिया चौधरी ने विज्ञापन में बिहार की जनता को एक पत्र भी लिखा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि वह अगर वह बिहार की मुख्यमंत्री बन जाती हैं तो 2025 तक बिहार को देश का सबसे विकसित राज्य बना देंगी और 2030 तक इसका विकास यूरोपियन देशों जैसा होगा।

पिता बोले- मेरा आशीर्वाद उसके साथ:
पुष्पम प्रिया के पिता विनोद चौधरी ने कहा कि मेरी बेटी विदेश में पढ़ी-लिखी  है। वो बालिग है, उसकी और मेरी सोच में फर्क होना चाहिए। पीढ़ी का अंतर है। जो वो कर रही है सोच समझकर कर रही होगी, पिता होने के कारण मेरा आशीर्वाद उसके साथ है।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS