ब्रेकिंग न्यूज़
भारत सरकार की ओर से हर घर तिरंगा कार्यक्रम का आयोजनप्रधानमंत्री ने पारसी नव वर्ष पर लोगों को बधाई दीडाकघरों के माध्यम से दस दिन की अवधि में एक करोड़ से अधिक राष्ट्रीय ध्वज खरीदे गयेमोतिहारी कस्टम के दो हवलदारों को केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने पकड़ा, 20 हजार रुपये घूस लेने का आरोपप्रधानमंत्री ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 के भारतीय दल का अभिवादन कियाएनएमडीसी और फिक्की भारतीय खनिज एवं धातु उद्योग पर सम्मेलन का आयोजन करेंगेबिहार: आज बादल गरजने के साथ ठनका गिरने की आशंका, तीन जिलों में भारी बारिश का अलर्टमोतिहारी, हरसिद्धि के जागापाकड़ में महावीरी झंडा के दौरान आर्केस्ट्रा में फायरिंग, दो घायल, प्राथमिकी दर्ज
बिहार
पटना के फुलवारीशरीफ में वृद्ध का कटा सिर मिला, मृतक 23 दिसंबर से था लापता
By Deshwani | Publish Date: 6/1/2020 1:59:30 PM
पटना के फुलवारीशरीफ में वृद्ध का कटा सिर मिला, मृतक 23 दिसंबर से था लापता

पटना/फुलवारीशरीफ फुलवारीशरीफ के वाल्मी परिसर के सटी झाड़ी में शनिवार को वृद्ध का कटा सिर मिला, जबकि धड़ गायब था। ग्रामीणों के शोर मचाने पर जुटी भीड़ ने कटे सिर की शिनाख्त करने की कोशिश की। लेकिन उसकी पहचान नहीं हुई।

 
 
मगर एक घंटे के बाद ही कटे सिर की पहचान फुलवारी के बोचाचक रामनगर निवासी सब्जी विक्रेता हरिहर प्रसाद (60 वर्ष) के रूप में की गयी। पुलिस ने घटनास्थल का मुआयना कर जायजा लिया। बाद में पुलिस कटे सिर को कब्जे में लेकर थाने गयी। मृतक 23 दिसंबर से लापता था। मृतक की पत्नी शीला देवी ने तीन जनवरी को पति की गुमशुदगी का मामला थाने में दर्ज कराया था। 
 
 
अपने स्तर पर खोजबीन की गयी पर कहीं पता नहीं चला। अंत में तीन जनवरी को मां शीला देवी ने गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया।  सूरज ने यह भी कहा कि कई बार उनके मोबाइल पर लगाने की कोशिश की मगर मोबाइल स्वीच आॅफ मिला। बेटे सूरज ने बताया कि पिता रुपये का लेनेदेन करते थे। वह निकट के एक कपड़े की  दुकान में बीसी में रुपये लगाते थे।
 
 
पुलिस उसके धड़ की खोज कर रही है. इस संबंध में मृतक के बेटे सूरज कुमार ने बताया कि 23 दिसंबर को दो-तीन बजे घर से निकले थे। देर रात घर वापस नहीं आये तो हमलोग समझा की कहीं ठहर गये होंगे। कई बार ऐसा हुआ कि दो से तीन दिनों तक घर से गायब रहते थे और फिर चले आते थे। 25 दिसंबर को उसने अंतिम बार बात हुई थी कि हम दिल्ली एम्स में हैं सब ठीक-ठाक है। 28 या 29 दिसंबर तक घर आ जायेंगे। उसके बाद उनका मोबाइल बंद मिला।
 
 
वह वर्तमान में सब्जी नहीं बेचा करते थे। वैसे पहले खगौल और फुलवारी में साइकिल से सब्जी बेचा करते थे। मृतक का बेटा सूरज कुमार और भांजा कुंदन कुमार ने शव की पहचान की है। बेटे सूरज ने बताया कि मां डीएवी स्कूल में दाई का काम करती है।
 
 
भांजे ने बताया कि लोगों से सूचना मिली की वाल्मी से सटी झाड़ी में एक कटा सिर मिला है। हम लोग जब तक वहां पहुंचते पुलिस सिर को पोस्टमार्टम के लिए पीएमसीएच भेज दिया था। सिर की पहचान होते ही परिजनों में कोहराम मच गया। पत्नी शीला देवी बार-बार बेहोश हो जा रही थी. मृतक को एक बेटा और दो बेटी है। थानेदार रफीकुर रहमान ने बताया कि जांच में कुछ सुराग मिले हैं। पुलिस उस पर कार्य कर रही है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS