ब्रेकिंग न्यूज़
भारत सरकार की ओर से हर घर तिरंगा कार्यक्रम का आयोजनप्रधानमंत्री ने पारसी नव वर्ष पर लोगों को बधाई दीडाकघरों के माध्यम से दस दिन की अवधि में एक करोड़ से अधिक राष्ट्रीय ध्वज खरीदे गयेमोतिहारी कस्टम के दो हवलदारों को केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने पकड़ा, 20 हजार रुपये घूस लेने का आरोपप्रधानमंत्री ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 के भारतीय दल का अभिवादन कियाएनएमडीसी और फिक्की भारतीय खनिज एवं धातु उद्योग पर सम्मेलन का आयोजन करेंगेबिहार: आज बादल गरजने के साथ ठनका गिरने की आशंका, तीन जिलों में भारी बारिश का अलर्टमोतिहारी, हरसिद्धि के जागापाकड़ में महावीरी झंडा के दौरान आर्केस्ट्रा में फायरिंग, दो घायल, प्राथमिकी दर्ज
बिहार
बीजेपी के पास नेता है, दूरदृष्टि है, काम का आधार है: सुशील मोदी
By Deshwani | Publish Date: 12/9/2018 4:50:23 PM
बीजेपी के पास नेता है, दूरदृष्टि है, काम का आधार है: सुशील मोदी

गया। बिहार बीजेपी की दो दिवसीय कार्यसमिति की बैठक के अंतिम दिन उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने एनडीए को अटूट बताया। साथ ही कहा कि लोकसभा चुनाव के लिए हमारे पास नेता है, दूरदृष्टि है, काम का आधार है, राष्ट्रवाद की सोच है, केंद्र और राज्यों का काम है। इसे लेकर हम चुनाव में जाएंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि बिहार में लोकसभा चुनाव में 65 बनाम 35 फीसदी की लड़ाई होगी यानी 65 फीसदी एनडीए के पक्ष में और 35 फीसदी दूसरी तरफ। सवर्ण आंदोलन और एससी/एसटी एक्ट के बहाने कांग्रेस पर भी वार करते हुए उन्होंने कहा कि वह सवर्णों और दलितों को लड़ाने में लगे हैं, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिलेगी। 
 
सुशील मोदी ने कहा कि जेडीयू भी हमारे साथ है। हम जनता के बीच केंद्र और राज्य की उपलब्धियों को लेकर जाएंगे। उन्होंने कहा कि बिहार में यूपीए का गठबंधन टूट गया और नीतीश कुमार एनडीए में आए तो हमारा गठबंधन मजबूत हुआ है। सुशील मोदी ने कहा कि देश में कोई भी व्यक्ति कमजोर सरकार नहीं देखना चाहता है। चंद्रशेखर, देवेगौड़ा, गुजराल जैसे प्रधानमंत्री न हो इसलिए 2019 में फिर नरेंद्र मोदी को लाएंगे।
 
पेट्रोल-डीजल की बढ़ी हुई कीमत पर उन्होंने कहा कि दाम कम होंगे। तेल की कीमत एक रुपया कम करने पर साल में 15 हजार करोड़ रुपये के राजस्व का नुक्सान होगा। राजस्व से कल्याणकारी काम किये जा रहे हैं। सुशील मोदी ने कहा कि बेनामी संपत्ति और आर्थिक अपराधियों की संपत्ति जब्त की जाएगी। लालू परिवार ने अब तक 141 भूखंड, 30 फ्लैट और सात मकान का मालिक है। लालू परिवार इतनी सम्पत्ति कहां से लाया है?
 
10 को जिस तरह का भारत बंद हुआ और इसमें गुंडागर्दी की गई उसमें आरजेडी और सहयोगी दलों का चेहरा सामने आया। बंद को जनता का समर्थन नहीं था। बंद महंगाई के लिए नहीं बल्कि विपक्षी एकता के लिए बुलाई गई थी, लेकिन ये बिखरी हुई थी।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS