ब्रेकिंग न्यूज़
चाकू से घायल मोतिहारी, चांदमारी के युवक की मौत, मझौलिया निवासी आरोपित हमलावर को लोगों ने दबोचाबिहार के शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने कहा- सातवें चरण की शिक्षक भर्ती अगले महीने होगी शुरूरक्सौल: आईसीपी लिंक रोड का उच्चाधिकारियों ने किया निरीक्षणबिहार: राज्य के आधे जिलों में बिजली गिरने के साथ भारी बारिश की संभावना, अगले 24 घंटे का अलर्टप्रधानमंत्री ने विद्युत क्षेत्र की पुनर्विकसित वितरण क्षेत्र योजना का शुभारम्भ कियातेजी से फैल रहा मंकीपॉक्स वायरसआयकर विभाग ने मुंबई में तलाशी अभियान चलाया64 प्रतिशत वोटों के साथ द्रौपदी मुर्मू भारत की 15वीं, अब तक की सबसे कम उम्र व पहली जनजातीय महिला राष्‍ट्रपति चुनी गईं
बिहार
वैशाली-बसव गणतंत्र मंथन का आयोजन 28 को, बसवेश्‍वर जी के विचारों का किया जाएगा प्रचार प्रसार
By Deshwani | Publish Date: 26/6/2018 7:57:51 PM
वैशाली-बसव गणतंत्र मंथन का आयोजन 28 को, बसवेश्‍वर जी के विचारों का किया जाएगा प्रचार प्रसार

वैशाली-बसव गणतंत्र के संदर्भ में वर्तमान लोकतंत्र का होगा विश्‍लेषण
 
पटना। देशवाणी न्यूज नेटवर्क।

 राष्‍ट्रीय बसव साहित्‍य परिषद, बेंगलोर के तत्‍वावधान में आगामी 28 जून को पटना में वैशाली-बसव गणतंत्र मंथन का आयोजन किया जायेगा। इसमें वैशाली और बसव की गणतांत्रिक अवधारणा पर दोनों संस्‍कृतियों के विद्वान अपनी राय रखेंगे। राष्‍ट्रीय बसव साहित्‍य परिषद, बेंगलोर के प्रमुख अरविंद जत्‍ती और सामाजिक कार्यकर्ता अनिल कुमार ने संयुक्‍त संवाददाता सम्‍मेलन में इसकी जानकारी दी। श्री जत्‍ती ने कहा कि बसवेश्‍वर जी ने दक्षिण भारत में पहली बार गणतंत्र की स्‍थापना का प्रयास किया था। इसकी अवधारणा को प्रतिस्‍थापित किया था। उन्‍होंने कहा कि बसव जी ने राज प्रभुत्‍व को प्रजा प्रभुत्‍व की लेकर ले जाने के लिए कोशिश की थी। इसी दिशा में विभिन्‍न समाज के लोगों को लेकर अनुभव मंडल का गठन किया गया था। इसमें 770 सदस्‍य थे और महिलाओं की भी पर्याप्‍त भागीदारी थी। श्री जत्‍ती ने कहा कि बसवेश्‍वर के वचन व विचारों को देश के 23 भाषाओं में अनुवाद किया गया है। उन्‍होंने कहा कि देश के पूर्व राष्‍ट्रपति बीडी जत्‍ती ने बसवेश्‍वर के विचारों के प्रचार-प्रसार के लिए राष्‍ट्रीय अभियान की शुरुआत की थी। उनके ही कार्यों को आगे बढ़ाते हुए देश भर में बसवेश्‍वर के वचनों का प्रचार किया जा रहा है। उल्‍लेखनीय है कि अरविंद जत्‍ती पूर्व राष्‍ट्रपति बीडी जत्‍ती के पुत्र हैं।
 
पत्रकार वार्ता में सामाजिक कार्यकर्ता अनिल कुमार ने कहा कि 28 जून को वैशाली-बसव गणतंत्र मंथन में वैशाली के गणतंत्र पर कामेश्‍वर प्रसाद, जयश्री मिश्रा और धनाकर ठाकुर अपने विचार रखेंगे, जबकि बसव के गणतंत्र पर प्रभाशंकर प्रेमी, प्रमोद कुमार झा और सिद्धाणा लंगोटी अपने विचार रखेंगे। वैशाली-बसव गणतंत्र के संदर्भ में वर्तमान लोकतंत्र का विश्‍लेषण किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि 12वीं शताब्‍दी में समता मूलक समाज के प्रथम संस्‍थापक बसवेश्‍वर ने गणतंत्रात्‍मक संविधान को लिपिबद्ध किया था। उसकी प्रति का प्रदर्शन भी किया गया। पत्रकार वार्ता प्रभाशंकर जोशी, सिद्धाणा लंगोटी, इंद्रजीत पटेल और जर्नादन पाटिल मौजूद  थे।

27 जून 2018 को आयोजित कार्यक्रम की रूपरेखा-
सुबह 09:00 बजे : प्रथम राष्‍ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद का समाधि दर्शन
सुबह 09:30 बजे : कलश दर्शन, बुद्ध स्‍मृति पार्क, फ्रेजर रोड
सुबह 10:30 बजे : महिला चरखा समिति भेंट, कदमकुआं
सुबह 11:30 बजे : कुम्‍हरार पार्क, पुरातत्‍व दर्शन
दोपहर 01:00 बजे : गुरू गोविंद सिं‍ह पटना सिटी दर्शन एवं लंगर में प्रसाद ग्रहण
शाम 04:00 बजे : पटेल सेवा संघ दारोगा राय पथ सरदार पटेल जी को माल्‍यार्पण एवं गोष्ठि
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS