झारखंड
बंद पत्थर खदानों में चल रहा है अवैध खनन
By Deshwani | Publish Date: 18/5/2017 6:04:42 PM
बंद पत्थर खदानों में चल रहा है अवैध खनन

पाकुर। जिले में बंद पत्थर खदानों में अवैध उत्खनन बदस्तूर जारी है। हालांकि बीते दिनों जिला सहायक खनन पदाधिकारी सुरेश शर्मा और डीएफओ रजनीश कुमार ने औचक छापेमारी कर पाकुरिया थाना क्षेत्र के गोलपुर मौजा में चल रहे अवैध पत्थर खदान को सील करते हुए मौके पर मौजूद पोकलेन तथा डंफर को भी जब्त किया था। साथ ही अवैध पत्थर खदान संचालन में संलिप्त सात लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी भी दर्ज करवायी थी। लेकिन आज भी जिले में ऐसे दर्जनों पत्थर खदानों का संचालन बदस्तूर जारी है। 

राजनैतिक संरक्षण प्राप्त इन खदानों के संचालकों की दबंगई के चलते इनके बगल में अवस्थित स्कूल, मंदिर तथा चर्च के अस्तित्व को भी खतरा उत्पन्न हो गया है। बीते दिनों सदर प्रखंड के कान्हूपुर प्राथमिक विद्यालय के पास लंबे समय से संचालित ऐसे ही एक खदान को उपायुक्त के निर्देश के बाद बंद कराया गया है। बावजूद इसके आज भी सदर प्रखंड के गोकुलपुर मौजा में चलायी जा रही पत्थर खदान तथा उसमें किए जा रहे विस्फोटों के फलस्वरूप पास के दो दो गिरजाघरों के अस्तित्व पर संकट के बादल मंडरा रहे है। सघन आबादी से सटे ऐसे स्थलों पर पत्थर खदान के संचालन के लिए पट्टा की स्वीकृति के साथ ही विस्फोटकों के उपयोग की स्वीकृति पर भी सवाल खड़े होने लगे हैं। ग्रामीण राजनैतिक संरक्षण प्राप्त खदान संचालकों के खिलाफ कहीं शिकायत तक दर्ज कराने का साहस नहीं जुटा पाते हैं। 
मजे की बात है कि खदान में अवैध विस्फोटकों का उपयोग भी धड़ल्ले से किया जा रहा है। ऐसा ही एक और मामला सदर प्रखंड के ही पीपलजोड़ी में चलाए जा रहे डीसी खदान का है। दरभंगा, बिहार के किसी दिलीपकुमार के नाम से स्वीकृत उक्त खदान के पट्टे को एक वर्ष पूर्व ही खान सुरक्षा निदेशक के आदेश पर सील कर दिया गया था। लेकिन आज भी इस खदान में न सिर्फ पत्थर खनन जारी है बल्कि उसमें खुलेआम विस्फोटकों का उपयोग भी किया जा रहा है। वहीं पीपलजोडी में एक खदान संचालक ने लीज क्षेत्र में पत्थर खत्म हो जाने पर उक्त खदान को भर कर पास की जमीन पर बगैर किसी लीज के ही खनन कर रहा है। इतना ही नहीं बंद खदान के नाम पर माईनिंग चालान निकलवाकर उसका दुरूपयोग भी कर रहा है ।
बकौल सहायक जिला खनन पदाधिकारी सुरेश शर्मा इतने बड़े खनन क्षेत्र में सभी की जांच कर कार्रवाई करना संभव नहीं हो पाता है। फिर भी ज्यों ही जानकारी मिलती है, हम फौरन कार्रवाई करते हैं। इनके खिलाफ भी अविलंब कार्रवाई की जाएगी। उधर, डीडीसी अजीत शंकर ने कहा कि अवैध खनन और विस्फोट के धंधे में लिप्त लोगों को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। हम शीघ्र ही कार्रवाई करेंगे।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS