ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोजमोतिहारी के झखिया में पुलिस ने घेराबंदी कर की कार्रवाई, शशि सहनी गिरफ्तार, 125 कार्टन अंग्रेजी शराब जब्तभोजपुरी सेंशेसन अक्षरा सिंह का नया गाना ‘कोरा में आजा छोरा’ रिलीज के साथ हुआ वायरल
नेपाल
नेपाली कांग्रेस को सत्ता सौंपने को तैयार हैं प्रचंड
By Deshwani | Publish Date: 15/5/2017 5:28:37 PM
नेपाली कांग्रेस को सत्ता सौंपने को तैयार हैं प्रचंड

काठमांडू, (हिस)। नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड ने एक सप्ताह के अंदर नेपाली कांग्रेस को सत्ता के नेतृत्व सौंपने के संकेत दिए हैं। प्रचंड ने सोमवार को अपने सरकारी निवास पर आन्दोलनरत राष्ट्रिय जनता पार्टी (राजपा) नेपाल के नेताओं के साथ मुलाकात के दौरान कहा कि वह पूर्व सहमति के अनुरूप नेपाली कांग्रेस के अध्यक्ष शेरबहादुर देउवा को प्रधानमन्त्री बनने लिए अपने पद से इस्तीफा दे देंगे।

उन्होंने कहा कि पद से इस्नतीफा देने से पहले वह संसद को संबोधित करेंगे। संविधान संशोधन के विषय में बातचीत के लिए पहुंचे राजपा नेपाल के नेताओं को प्रधानमंत्री ने कहा कि संविधान संशोधन के लिए वह दो तिहाई बहुमत जुटाने के प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि माओवादी–कांग्रेस गठबंधन की सरकार संविधान संशोधन मार्फत मधेशी दलों की मांग पूरा कराने के लिए क्रियाशील है। प्रचंड ने कहा कि स्थानीय निकाय चुनाव ने संविधान लागू करने का मार्ग खोल दिया है। अब संविधान संशोधन किया जाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि उनके इस्तीफे के बाद भी माओवादी–कांग्रेस गठबंधन की ही सरकार बनेगी।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस-माओवादी के बीच नौ महीने पहले बारी-बारी से सरकार बनाने का समझौता हुआ था। इसी आधार पर प्रचंड के नेतृत्व में गठबन्धन सरकार बनी थी। राजपा नेताओं के साथ मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री ने संविधान संशोधन को मुद्दा बनाकर दूसरे चरण के निकाय चुनाव के लिए उदासीन माहौल पर भी चेतावनी दी। 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS