ब्रेकिंग न्यूज़
उत्तर प्रदेश विधान परिषद चुनावों के लिए भाजपा ने चार उम्मीदवारों के नामों की सूची जारी कीIGIMS से शुरू होगा बिहार में कोरोना टीकाकरण अभियान, सबसे पहला टीका IGIMS के सफाईकर्मी रामबाबू को लगेगाझारखंड: चतरा में 15 लाख के इनामी उग्रवादी मुकेश गंझू ने किया आत्मसमर्पणपूर्वी चम्पारण के डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने डंकन अस्पताल में लगाए गए सिटी स्केन सेन्टर का किया उद्घाटनप्रधानमंत्री ने पीएम-एफबीवाई के लाभार्थियों को योजना के 5 वर्ष पूरे होने पर दी बधाईकर्नाटक: मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार, जिसमें सात नए मंत्रियों को मिली जगहमोतिहारी में पुलिस ने चौकीदार के भाई सहित 7 बदमाशों को आर्म्स के साथ पकड़ा, कार व दो पिस्टल जब्तपटना: कोटेक महिंद्रा बैंक फर्जीवाड़े का मामला पहुंचा एसएसपी के पास, तथाकथित आरोपी के भाई ने लगाया जालसाजी का आरोप
नेपाल
नेपाली कांग्रेस को सत्ता सौंपने को तैयार हैं प्रचंड
By Deshwani | Publish Date: 15/5/2017 5:28:37 PM
नेपाली कांग्रेस को सत्ता सौंपने को तैयार हैं प्रचंड

काठमांडू, (हिस)। नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड ने एक सप्ताह के अंदर नेपाली कांग्रेस को सत्ता के नेतृत्व सौंपने के संकेत दिए हैं। प्रचंड ने सोमवार को अपने सरकारी निवास पर आन्दोलनरत राष्ट्रिय जनता पार्टी (राजपा) नेपाल के नेताओं के साथ मुलाकात के दौरान कहा कि वह पूर्व सहमति के अनुरूप नेपाली कांग्रेस के अध्यक्ष शेरबहादुर देउवा को प्रधानमन्त्री बनने लिए अपने पद से इस्तीफा दे देंगे।

उन्होंने कहा कि पद से इस्नतीफा देने से पहले वह संसद को संबोधित करेंगे। संविधान संशोधन के विषय में बातचीत के लिए पहुंचे राजपा नेपाल के नेताओं को प्रधानमंत्री ने कहा कि संविधान संशोधन के लिए वह दो तिहाई बहुमत जुटाने के प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि माओवादी–कांग्रेस गठबंधन की सरकार संविधान संशोधन मार्फत मधेशी दलों की मांग पूरा कराने के लिए क्रियाशील है। प्रचंड ने कहा कि स्थानीय निकाय चुनाव ने संविधान लागू करने का मार्ग खोल दिया है। अब संविधान संशोधन किया जाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि उनके इस्तीफे के बाद भी माओवादी–कांग्रेस गठबंधन की ही सरकार बनेगी।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस-माओवादी के बीच नौ महीने पहले बारी-बारी से सरकार बनाने का समझौता हुआ था। इसी आधार पर प्रचंड के नेतृत्व में गठबन्धन सरकार बनी थी। राजपा नेताओं के साथ मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री ने संविधान संशोधन को मुद्दा बनाकर दूसरे चरण के निकाय चुनाव के लिए उदासीन माहौल पर भी चेतावनी दी। 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS