ब्रेकिंग न्यूज़
रक्सौल में आरपीएफ ने छापेमारी कर रेल टिकट किया बरामद, एक गिरफ्तारभारतीय नागरिकों के नेपाल प्रवेश पर रोक लगाने के विरोध में भारत-नेपाल सीमा के मैत्री पुल पर जमकर हुआ बवालनेपाल: देशभक्त राजभक्त समूह पर्सा ने वीरगंज महाबीर मंदिर के पास सम्मान कार्यक्रम का किया आयोजनमौसम विभाग: चक्रवाती तूफान निवार 11 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पश्चिम-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ रहाबंगलादेश: राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मोजिबुर्रहमान को श्रद्धांजलि देने के लिए कल ढाका में लगाई गई एक चित्र प्रदर्शनीटीम इंडिया की जर्सी में बीसीसीआई ने किए कुछ बदलावजान कुमार सानू के बयान पर कुमार सानू का आया रिएक्शन, कुमार सानू ने कहा- मैंने वो सब दिया जो कुछ जान की मां ने मांगा थामहापर्व छठ की समाप्ति के बाद जमा हुए जिले के वरिष्ठ क्रिकेट खिलाड़ी, हुआ फैंसी क्रिकेट मैच का आयोजन
नेपाल
नेपाल-भारत की पांचवें राउंड की संयुक्त आयोग की बैठक संपन्न, विदेश मंत्री जयशंकर के साथ इन मुद्दों पर हुई चर्चा
By Deshwani | Publish Date: 22/8/2019 11:14:29 AM
नेपाल-भारत की पांचवें राउंड की संयुक्त आयोग की बैठक संपन्न, विदेश मंत्री जयशंकर के साथ इन मुद्दों पर हुई चर्चा

काठमांडू। नेपाल और भारत के बीच पांचवें राउंड की संयुक्त आयोग की बैठक बुधवार को संपन्न हो गई। भारत और नेपाल के बीच संयुक्त सत्र की बैठक में पहुंचे विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दोनों देशों के बीच अहम द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की। जयशंकर और उनके नेपाली समकक्ष प्रदीप ग्यावली ने द्विपक्षीय संबंधों की व्यापक समीक्षा की और उनके बीच सहयोग के लिए प्राथमिकता वाले क्षेत्रों की पहचान की। इस दौरान दोनों देशों के बीच खाद्य सुरक्षा को लेकर समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

 
नेपाल के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि नेपाल के खाद्य प्रौद्योगिकी और गुणवत्ता नियंत्रण विभाग(DFTQC) और भारत के भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्रधिकारण(FSSAI) के बीच दो मंत्रियों का मौजूदगी में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।
 
 
बैठक के दौरान दोनों देशों के बीच द्वीपक्षीय संबंधों के विस्तार पर चर्चा की गई और विशेषकर कनेक्टिविटी और आर्थिक साझेदारी, व्यापार और पारागमन, बिजली और जलसंसाधन क्षेत्रों, संस्कृति और शिक्षा पर ध्यान केन्द्रित किया। इस दौरान संयुक्त आयोग ने उच्चस्तरीय यात्राओं के आदान-प्रदान के बाद नेपाल-भारत सबंधों के सभी पहलुओं पर उत्पन्न गति पर प्रसन्नता जताई।
 
इसके साथ 1950 की संधि का शांति और मित्रता की समीक्षा भी की गई। नेपाल-भारत संबंध पर (EPG-NIR) पर प्रख्यात व्यक्तियों के समूह की एक रिपोर्ट का आदान-प्रदान किया गया। इस दौरान आयोग ने मोतिहारी-अमलेखगंज पेट्रोलियम उत्पाद पाइपलाइन, हुलाकी सड़कों के चार खंडों, नुवाकोट और गारखा जिले में निजी आवासों के भूकंप के बाद पुनर्निर्माण जैसी द्विपक्षीय योजनाओं पर खुशी जाहिर की। आयोग ने जयनगर-जनकपुर और जोनबनी-बिराटनगर खंडों में सीमापार रेलवे परियोजनाओं और बिराटनगर में एकीकृत चेकपोस्ट की प्रगति पर भी शुशी जताई। नेपाल के विदेश मंत्रालय के अनुसार आयोग ने शेष परियोजनाओं को जल्द पूरा कर लेने पर सहमति जताई।
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार का दूसरा कार्यकाल शुरू होने के बाद भारतीय पक्ष का यह पहला उच्चस्तरीय नेपाल दौरा है। कश्मीर के घटनाक्रम को देखते हुए जयशंकर को उच्च सुरक्षा प्रदान की गई है। जयशंकर अपने दो दिवसीय नेपाल दौरे में राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी सहित अन्य उच्चाधिकारियों से भी वार्ता करेंगे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS