ब्रेकिंग न्यूज़
सूचना एवं प्रौद्योगिकी के जनक पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के 75वीं जन्मोदिवस पर मरीजों के बीच बांटे गये फलउत्तर प्रदेश में योगी कैबिनेट का विस्तार कल, राजेश अग्रवाल के बाद अनुपमा जायसवाल ने भी दिया इस्तीफाजाकिर नाइक पर कसा शिकंजा, उपदेश देने पर मलेशिया सरकार ने लगाया प्रतिबंधप्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले होंगे पुरस्कृतकर्नाटक: येदियुरप्पा कैबिनेट का विस्तार, 17 विधायकों ने ली मंत्री पद की शपथअमानत ज्योति कार्यक्रम के तहत चयनित 20 एएनएम को दिया गया प्रशिक्षण, मास्टर ट्रेनर के रूप में दिया गया ट्रेनिंगकुशीनगर में हुए जहरीले शराब कांड को अनुसूचित आयोग ने लिया संज्ञानकुशीनगर में बस की ठोकर से मजदूर की हुई मौत
नेपाल
नेपाल में खोजी गई काजिन सारा झील हो सकती है विश्व में सबसे ऊंची झील
By Deshwani | Publish Date: 12/8/2019 11:47:20 AM
नेपाल में खोजी गई काजिन सारा झील हो सकती है विश्व में सबसे ऊंची झील

काठमांडू। नेपाल में पर्वतारोहियो की टीम ने 5200 मीटर की उंचाई पर एक नई  झील खोजी है जो दुनियां की सबसे उंची झील हो सकती है। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट से मिली।

 
समाचार पत्र द हिमालयन टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, यह झील नेपाल के मनांग जिले में चामे ग्रामीण नगरपालिका के सिंगारखरका में 5,200 मीटर की ऊंचाई पर पर्वतों के बीच स्थित है। ऐसा बताया जा रहा है कि खोजी गई नई 'काजिन सारा' झील दुनिया की सबसे ऊंची झील हो सकती है। फिलहाल दुनिया की सबसे ऊंची झील होने का ख़िताब तिलिचो झील के पास है। तिलिचो झील भी नेपाल के मनांग जिले में स्थित है।
 
चामे ग्रामीण नगरपालिका के अध्यक्ष लोकेंद्र घाले के अनुसार, इस झील की खोज कुछ महीने पहले ही पर्वतारोहियों की एक टीम ने की थी। उन्होंने बताया, "पर्वतारोहियों की टीम द्वारा ली गई झील की माप के मुताबिक यह 5,200 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। हालांकि अभी इसकी आधिकारिक तौर पर पुष्टि की जानी बाकी है। इस झील को 1,500 मीटर लंबी और 600 मीटर चौड़ी होने का अनुमान है।"
 
हिमालयन टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, इस झील को स्थानीय लोग सिंगार कहते हैं। ऐसा अनुमान है कि इस झील का निर्माण हिमालय की पिघली बर्फ से हुआ है। 'काजिन सारा' झील तक मनांग जिला मुख्यालय से 18 घंटे की चढ़ाई कर पहुंचा जा सकता है। वहीं, चामे से इसकी दूरी 24 किलोमीटर है।
 
चामे नगरपालिका के अधिकारियों का कहना है कि इस नई झील को दुनिया की सबसे ऊंची झील घोषित किए जाने पर यहां पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS