ब्रेकिंग न्यूज़
राजधानी, शताब्दी में खाना-पीना होगा महंगा, रेलवे बोर्ड ने जारी किया सर्कुलरजनता दल (यू.) रक्सौल विधानसभा बूथ अध्यक्ष एवं सचिव के मनोनय हेतु विशेष अभियान के तहत डॉ सौरभ राव के अध्यक्षता में हुई बैठकस्वच्छ रक्सौल संस्था के सदस्यों ने नप के कार्यपालक अधिकारी, उप सभापति से मिल बैठक की, बताई समस्याकेसीटीसी कॉलेज इग्नू 46020 कार्यालय में बैठक संपन्न, दी गई विभिन्न जानकारियांआशीष परियोजना डंकन अस्पताल द्वारा किए गए कार्यों का रक्सौल एवं आदापुर क्षेत्र में मूल्यांकन किया गयामुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत आयोजित समारोह में 341 जोड़े वैवाहिक बंधन में बंधेमहाराष्ट्र में हमारी सरकार 5 साल चलेगी, नहीं होंगे मध्यावधि चुनाव: शरद पवारऑड-ईवन का आज आखिरी दिन, मुख्यमंत्री केजरीवाल बोले-सोमवार को करेंगे विचार इसे आगे बढ़ाएं या नहीं
नेपाल
नेपाल: मीडिया पर अंकुश लगाने को लेकर विधेयक पेश, आचार संहिता का उल्लंघन करने पर सजा का प्रावधान
By Deshwani | Publish Date: 11/5/2019 11:00:05 AM
नेपाल: मीडिया पर अंकुश लगाने को लेकर विधेयक पेश, आचार संहिता का उल्लंघन करने पर सजा का प्रावधान

काठमांडू। नेपाली सरकार ने  मीडिया परिषद से संबंधित विधेयक पेश किया है जिसमें किसी की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाए जाने पर  मीडिया आउटलेट, संपादक, प्रकाशक और पत्रकारों पर दस लाख रुपये तक का जुर्माना लगाने का प्रावधान है। 

 
समाचार पत्र हिमालयन टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, नए विधेयक की धारा 18 के मुताबिक अगर किसी प., पत्रिका में छपी सामग्री आचार संहिता का उल्लंघन करती है और उससे किसी संस्था की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचता है तो उस मीडिया आउटलेट, प्रकाशक, संपादक, पत्रकार और संवाददाता पर 25 हजार से दस लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।
 
विधेयक की धारा 18 की उपधारा 2 के अनुसार यदि मीडिया की सामग्री से किसी की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचता है तो पीड़ित पक्ष  मुआवजे की मांग भी कर सकता है। इतना ही नहीं  आचार संहिता का उल्लंघन करने पर धारा 17 के तहत  संबद्ध्  पत्रकार का प्रेस पास रद्द करने  का प्रावधान है।
 
नेपाल प्रेस परिषद के कार्यकारी  किशोर श्रेष्ठा ने बताया कि सरकार ने संबंधित  पक्ष से परामर्श के बिना यह विधेयक लाया गया है। इस विधेयक के पारित होने से पत्रकार और प्रेस की आजादी सीमित हो जाएगी और कई मीडिया आउटलेट जुर्माना अदा नहीं करने की स्थिति में बंद भी हो जाएंगे। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS