ब्रेकिंग न्यूज़
केन्‍द्रीय शिक्षा मंत्री ने केन्‍द्रीय विद्यालय बेतिया और केन्‍द्रीय विद्यालय नम्‍बर 4 कोरबा के नवनिर्मित भवनों का उद्घाटन कियाकेंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए गुजरात में नवनिर्मित थलतेज–शीलज–राचरडा रेलवे ओवरब्रिज का किया लोकार्पणसमस्तीपुर: दलसिंहसराय में आंटा मिल मालिक की गोली मारकर हत्यारक्सौल शहर के दो अस्पतालों में 80 लोगों को लगा कोविड वैक्सीन का टीकापटना: अपराधियों ने कोर्ट जा रहे मुंशी की गोली मारकर हत्या कर दीराष्ट्रीय आपदा मोचन बल(एनडीआरएफ)ने अपना 16 वां स्थापना दिवस मनायाआपका अपना घर, सपनों का घर, बहुत ही जल्द आपको मिलने वाला है: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीमंत्रिमंडल ने भारत और उज्बेकिस्ताान के बीच सौर ऊर्जा के क्षेत्र में सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्तासक्षर करने की मंजूरी दी
नेपाल
नेपाल: मीडिया पर अंकुश लगाने को लेकर विधेयक पेश, आचार संहिता का उल्लंघन करने पर सजा का प्रावधान
By Deshwani | Publish Date: 11/5/2019 11:00:05 AM
नेपाल: मीडिया पर अंकुश लगाने को लेकर विधेयक पेश, आचार संहिता का उल्लंघन करने पर सजा का प्रावधान

काठमांडू। नेपाली सरकार ने  मीडिया परिषद से संबंधित विधेयक पेश किया है जिसमें किसी की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाए जाने पर  मीडिया आउटलेट, संपादक, प्रकाशक और पत्रकारों पर दस लाख रुपये तक का जुर्माना लगाने का प्रावधान है। 

 
समाचार पत्र हिमालयन टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, नए विधेयक की धारा 18 के मुताबिक अगर किसी प., पत्रिका में छपी सामग्री आचार संहिता का उल्लंघन करती है और उससे किसी संस्था की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचता है तो उस मीडिया आउटलेट, प्रकाशक, संपादक, पत्रकार और संवाददाता पर 25 हजार से दस लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।
 
विधेयक की धारा 18 की उपधारा 2 के अनुसार यदि मीडिया की सामग्री से किसी की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचता है तो पीड़ित पक्ष  मुआवजे की मांग भी कर सकता है। इतना ही नहीं  आचार संहिता का उल्लंघन करने पर धारा 17 के तहत  संबद्ध्  पत्रकार का प्रेस पास रद्द करने  का प्रावधान है।
 
नेपाल प्रेस परिषद के कार्यकारी  किशोर श्रेष्ठा ने बताया कि सरकार ने संबंधित  पक्ष से परामर्श के बिना यह विधेयक लाया गया है। इस विधेयक के पारित होने से पत्रकार और प्रेस की आजादी सीमित हो जाएगी और कई मीडिया आउटलेट जुर्माना अदा नहीं करने की स्थिति में बंद भी हो जाएंगे। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS