ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोजमोतिहारी के झखिया में पुलिस ने घेराबंदी कर की कार्रवाई, शशि सहनी गिरफ्तार, 125 कार्टन अंग्रेजी शराब जब्तभोजपुरी सेंशेसन अक्षरा सिंह का नया गाना ‘कोरा में आजा छोरा’ रिलीज के साथ हुआ वायरल
नेपाल
नेपाल में भारतीय दूतावास ने मनाया गणतंत्र दिवस
By Deshwani | Publish Date: 26/1/2018 7:50:46 PM
नेपाल में भारतीय दूतावास ने मनाया गणतंत्र दिवस

काठमांडू, (हि.स.)। नेपाल में काठमांडू स्थित भारतीय दूतावास ने शुक्रवार को हर्षोल्लास के साथ 69 वां गणतंत्र दिवस मानाया। नेपाल में भारतीय राजदूत मंजीव सिंह पुरी ने झंडा फहराया और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का संदेश पढ़ा। इस अवसर पर करीब एक हजार भारतीय और भारत के मित्र उपस्थित थे।

 
गणतंत्र दिवस समारोह में केंद्रीय विद्यालय, मॉडर्न इंडियन स्कूल और काठमांडू स्थित भारतीय सांस्कृतिक केंद्र के बच्चों ने देश भक्ति के गीत गाए। इसके बाद नेपाली सेना के बैंड ने शानदार प्रस्तुति दी।
 
इस मौके पर भारतीय राजदूत ने सात युद्ध विधवाओं, चार शहीद सैनिकों के परिजनों और एक विकलांग जवान को उनकी बकाया राशि करीब 4.4 करोड़ नेपाली रुपये का भुगतान किया और प्रत्येक को एक-एक कंबल देकर सम्मानित किया।
 
गणतंत्र दिवस पर भारतीय राजदूत ने नेपाल के विभिन्न जिलों के अस्पतालों, चैरिटी संगठनों और शिक्षण संस्थानों को 30 एम्बुलेंस छह बसों की चाबियां भी सौंपी। विदित हो कि पूरे नेपाल में हेल्थ केयर और शिक्षण संस्थानों तक पहुंच को विस्तार देने के लिए भारत ने साल 1994 से अब तक विभिन्न नेपाली संगठनों को 662 एंबुलेंस और 130 बसें उपहार के रूप में दी हैं।
 
बाद में राजदूत ने इंडिया हाउस में एक पार्टी भी दी। यह इतिफाक था कि आज भारत-नेपाल के बीच राजनयिक संबंध स्थापित होने के 70 साल भी पूरे हुए हैं। नेपाल के उपराष्ट्रपति नंदा बहादुर पुन इस मौके पर मुख्य अतिथि थे। इस कार्यक्रम में करीब 1500 लोग शरीक हुए जिनमें राजनीतिक नेता, प्रमुख हस्तियां और दोनों देशों के प्रमुख लोग शामिल हुए।
 
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS