ब्रेकिंग न्यूज़
नामकुम के पास भयंकर सड़क हादसा, बोलेरो-ट्रक की टक्‍कर में 7 लोगों की मौततीन चरणों में नहीं खुलेगा भाजपा का खाता: अखिलेश यादवआप-कांग्रेस में गंठबंधन को लेकर नहीं बनी बात, सिसोदिया ने कही ये बातफिल्म यारियां की एक्ट्रेस एवलिन शर्मा को याद आए पुराने दिन, शेयर की ये तस्वीरेंराष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने म्यूलर जांच रिपोर्ट को पूर्णतया असत्य और निराधार बतायासुपौल में राहुल ने पीएम पर जमकर साधा निशाना, कहा- चौकीदार को ड्यूटी से हटाने वाली है जनताफारबिसगंज में बोले प्रधानमंत्री मोदी, जनता की तपस्या को विकास कर लौटाऊंगाबेकार गई राणा और रसेल की पारी, बेंगलुरु ने 10 रन से जीता रोमांचक मुकाबला
नेपाल
नेपाल में वामपंथी गठबंधन स्पष्ट बहुमत की ओर अग्रसर
By Deshwani | Publish Date: 11/12/2017 9:01:05 PM
नेपाल में वामपंथी गठबंधन स्पष्ट बहुमत की ओर अग्रसर

काठमांडू, (हि.स.) नेपाल के संसदीय और प्रांतीय चुनावों के अब तक नतीजों में वाम गठबंधन भारी जीत की ओर तेजी से बढ़ रहा है। सत्ताधारी नेपाली कांग्रेस इस चुनाव में काफी पीछे चल रही है।

 
नेपाल के चुनाव आयोग के अनुसार, अभी तक कुल 156 सीटों के परिणाम मिल चुके हैं जिनमें वामपंथी गठबंधन केी झोली में 107 सीटें आ चुकी हैं। वहीं सत्तारूढ़ नेपाली कांग्रेस पार्टी महज 22 सीटों के साथ तीसरे स्थान पर है।
 
पिछले चुनाव में नेपाली कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। अभी कई सीटों की मतगणना हो रही है। पूर्व प्रधानमंत्री केपी ओली की अगुवाई वाली सीपीएन-यूएमएल को 75 सीटें मिली हैं, जबकि उनकी सहयोगी पूर्व प्रधानमंत्री प्रचंड की पार्टी सीपीएन-माओवादी सेंटर को 32 सीटों पर सफलता मिली है। इन दोनों पार्टियों ने संसदीय और प्रांतीय चुनावों के लिए हाथ मिलाया है। 
 
चुनाव के नतीजों से इस हिमालयी देश में स्थिरता की उम्मीद की जा रही है। यह देश पिछले एक दशक में 10 प्रधानमंत्रियों को देख चुका है। चुनाव आयोग ने सोमवार को बताया कि मधेशी पार्टियों को 19 संसदीय सीटों पर जीत मिली है। मतगणना अभी जारी है, लेकिन 275 सदस्यीय संसद में वामपंथी गठबंधन स्पष्ट बहुमत की ओर बढ़ रहा है।
 
ओली को प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा के उत्तराधिकारी के तौर पर पेश किया जा रहा है।ओली ने झापा-5 सीट से नेपाली कांग्रेस के उम्मीदवार खगेंद्र अधिकारी को 28 हजार से ज्यादा मतों से हराया है। प्रचंड चितवन-3 सीट से निर्वाचित हुए हैं। उन्होंने राष्ट्रीय प्रजातंत्र के उम्मीदवार बिक्रम पांडे को 10 हजार से ज्यादा मतों से पराजित किया। नेकां के महासचिव शशांक कोइराला विजयी हुए हैं। अभी जो परिणाम आए हैं उसमें निर्दलीय समेत अन्य दलों के खाते में सिर्फ पांच सीटें आईं हैं।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS