ब्रेकिंग न्यूज़
प्रधानमंत्री मोदी ने वाराणसी में देश के दूसरे सबसे बड़े कैंसर हॉस्पिटल का किया लोकार्पणलालू प्रसाद से मिले बेटी हेमा और दामाद, विशेष अनुमति पर हुई मुलाकातजातिवादी और सांप्रदायिक सोच की वजह से देश में बढ़ रही विकृतियां: मायावतीनम आंखों से हजारों लोगों ने शहीद मेजर ढौंडियाल को दी विदाई, गंगा तट पर हुआ अंतिम संस्कारकरिश्मा कपूर शुरू करेंगी अपनी नई पारी, ऐसा होगा उनका रोल20 सितंबर को 'झुंड' में नजर आएंगे अमिताभ, टक्कर लेने को तैयार नहीं कोईआईपीएल-2019 के 12वें एडिशन के शुरुआती 2 सप्ताह का शेड्यूल जारी, चेन्नै और आरसीबी में होगा पहला मैचपटना हाई कोर्ट का बड़ा फैसला, पूर्व मुख्यमंत्रियों को अब नहीं मिलेगा सरकारी आवास
नेपाल
नेपाल में वामपंथी गठबंधन स्पष्ट बहुमत की ओर अग्रसर
By Deshwani | Publish Date: 11/12/2017 9:01:05 PM
नेपाल में वामपंथी गठबंधन स्पष्ट बहुमत की ओर अग्रसर

काठमांडू, (हि.स.) नेपाल के संसदीय और प्रांतीय चुनावों के अब तक नतीजों में वाम गठबंधन भारी जीत की ओर तेजी से बढ़ रहा है। सत्ताधारी नेपाली कांग्रेस इस चुनाव में काफी पीछे चल रही है।

 
नेपाल के चुनाव आयोग के अनुसार, अभी तक कुल 156 सीटों के परिणाम मिल चुके हैं जिनमें वामपंथी गठबंधन केी झोली में 107 सीटें आ चुकी हैं। वहीं सत्तारूढ़ नेपाली कांग्रेस पार्टी महज 22 सीटों के साथ तीसरे स्थान पर है।
 
पिछले चुनाव में नेपाली कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। अभी कई सीटों की मतगणना हो रही है। पूर्व प्रधानमंत्री केपी ओली की अगुवाई वाली सीपीएन-यूएमएल को 75 सीटें मिली हैं, जबकि उनकी सहयोगी पूर्व प्रधानमंत्री प्रचंड की पार्टी सीपीएन-माओवादी सेंटर को 32 सीटों पर सफलता मिली है। इन दोनों पार्टियों ने संसदीय और प्रांतीय चुनावों के लिए हाथ मिलाया है। 
 
चुनाव के नतीजों से इस हिमालयी देश में स्थिरता की उम्मीद की जा रही है। यह देश पिछले एक दशक में 10 प्रधानमंत्रियों को देख चुका है। चुनाव आयोग ने सोमवार को बताया कि मधेशी पार्टियों को 19 संसदीय सीटों पर जीत मिली है। मतगणना अभी जारी है, लेकिन 275 सदस्यीय संसद में वामपंथी गठबंधन स्पष्ट बहुमत की ओर बढ़ रहा है।
 
ओली को प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा के उत्तराधिकारी के तौर पर पेश किया जा रहा है।ओली ने झापा-5 सीट से नेपाली कांग्रेस के उम्मीदवार खगेंद्र अधिकारी को 28 हजार से ज्यादा मतों से हराया है। प्रचंड चितवन-3 सीट से निर्वाचित हुए हैं। उन्होंने राष्ट्रीय प्रजातंत्र के उम्मीदवार बिक्रम पांडे को 10 हजार से ज्यादा मतों से पराजित किया। नेकां के महासचिव शशांक कोइराला विजयी हुए हैं। अभी जो परिणाम आए हैं उसमें निर्दलीय समेत अन्य दलों के खाते में सिर्फ पांच सीटें आईं हैं।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS