ब्रेकिंग न्यूज़
शेयर बाजार: बैंक, आईटी कंपनियों के बल पर सेंसेक्स में 490 अंक का उछालउत्तर कोरियाई शासक किम व्लदिमीर पुतिन का समर्थन हासिल करने के लिए पहुंचे रूसकांग्रेस ने बिहार के लिए 55 साल के राज में क्या किया: अमित शाहसीजेआई पर आरोप लगाने वाली महिला की धोखाधड़ी मामले में जमानत रद्द करने पर 23 मई को सुनवाई‘दीदी’ सिलवाती हैं कुर्ते, शेख हसीना भेजती हैं मिठाइयां: प्रधानमंत्री मोदीकेजरीवाल, सिसोदिया और योगेंद्र के खिलाफ जारी गैर जमानती वारंट पर लगी रोकरोड शो से गदगद हुए प्रधानमंत्री मोदी, लोहरदगा की रैली में बोले- ये लहर नहीं ललकार हैरोहित शेखर की हत्या के आरोप में पत्नी अपूर्वा गिरफ्तार, गुनाह कबूला
नेपाल
वामपंथी गठबंधन प्रधानमंत्री पद के लिए नहीं : ओली
By Deshwani | Publish Date: 2/11/2017 6:10:47 PM
वामपंथी गठबंधन प्रधानमंत्री पद के लिए नहीं : ओली

 विराटनगर, (हि.स.)। सीपीएन यूएमएल के अध्यक्ष केपी शर्मा ओली ने यहां गुरुवार को कहा कि वामपंथी गठबंधन लोकतंत्र को स्थायित्व देने के लिए विचारधारा के आधार पर किया गया है है ना कि प्रधानमंत्री का पद हथियाने के लिए। 

 
यहां हवाई अड्डे पर संवाददाताओं से बातचीत करते हुए ओली ने कहा कि देश में अधिकांश पार्टियां लोगों के कल्याण की जगह निहित तुच्छ स्वार्थों को ध्यान में रखकर बनाई गई हैं। उन्होंने जोर देकर कहा, “ राजनीतिक पार्टियों का गठन सिद्धान्तों और विचारधारा के आधार पर होना चाहिए। ”
 
पूर्व प्रधानमंत्री ने यह भी साफ कर दिया कि सीपीएन माओवादी सेंटर के साथ गठबंधन के समय यह तय नहीं हुआ था कि चुनाव के बाद प्रधानमंत्री का पद उन्हें ही दे दिया जाएगा।
 
उन्होंने जोर देकर कहा कि केवल उन्हीं की पार्टी राष्ट्रीयता की रक्षा करेगी और देश को विकास के पथ पर ले जाएगी। ओली ने कहा कि राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी ने झापा-3 संसदीय क्षेत्र में समर्थन के लिए उनसे संपर्क किया था और उनका गठबंधन ने वहां से उम्मीदवार नहीं उतारने का फैसला किया है।
 
ओली ने आगे कहा कि उनकी पार्टी देश में शांति, सामाजिक सौहार्द और लोकतंत्र की स्थिरता के लिए प्रतिबद्ध है। इस पार्टी ने हिंसा का कभी समर्थन नहीं किया है।
 
विदित हो कि ओली अपना नामांकन पत्र भरने के लिए झापा जा रहे थे। वह वहां से प्रतिनिधि सभा का चुनाव लड़ेंगे।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS