ब्रेकिंग न्यूज़
शेयर बाजार: बैंक, आईटी कंपनियों के बल पर सेंसेक्स में 490 अंक का उछालउत्तर कोरियाई शासक किम व्लदिमीर पुतिन का समर्थन हासिल करने के लिए पहुंचे रूसकांग्रेस ने बिहार के लिए 55 साल के राज में क्या किया: अमित शाहसीजेआई पर आरोप लगाने वाली महिला की धोखाधड़ी मामले में जमानत रद्द करने पर 23 मई को सुनवाई‘दीदी’ सिलवाती हैं कुर्ते, शेख हसीना भेजती हैं मिठाइयां: प्रधानमंत्री मोदीकेजरीवाल, सिसोदिया और योगेंद्र के खिलाफ जारी गैर जमानती वारंट पर लगी रोकरोड शो से गदगद हुए प्रधानमंत्री मोदी, लोहरदगा की रैली में बोले- ये लहर नहीं ललकार हैरोहित शेखर की हत्या के आरोप में पत्नी अपूर्वा गिरफ्तार, गुनाह कबूला
नेपाल
भारत और चीन की लड़ाई में किसी का पक्ष नहीं लेगा नेपाल
By Deshwani | Publish Date: 9/8/2017 2:58:02 PM
भारत और चीन की लड़ाई में किसी का पक्ष नहीं लेगा नेपाल

काठमांडू, (हि.स.)। डोकलाम में भारत और चीन के बीच चल रही तनामनी में नेपाल किसी एक देश का पक्ष नहीं लेगा। ये बातें नेपाले के उप प्रधानमंत्री कृष्ण बहादुर महरा ने कहीं।
 
विदित हो कि महारा नेपाल के विदेश मंत्री का भी पदभार भी संभाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि नेपाल चाहता है कि भारत और चीन डोकलाम मुद्दे के हल के लिए शांतिपूर्ण राजनयिक माध्यमों का इस्तेमाल करें।
समाचार पत्र हिमालयन टाइम्स के अनुसार, उप प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘नेपाल नहीं चाहेगा कि इस सीमा विवाद में उसे घसीटा जाए।’’ उन्होंने आगे कहा कि मीडिया में आई कुछ खबरों में नेपाल को घसीटे जाने की कोशिश की गई है, लेकिन “मैं यह स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि हमने इस विषय में कोई पक्ष नहीं लिया है।”
महरा ने कहा कि प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा 23 अगस्त से 27 अगस्त के बीच भारत का आधिकारिक दौरा करेंगे। इसके लिए आवश्यक तैयारियां हो रही हैं। यात्रा के विस्तृत कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया जाना अभी बाकी है। साथ ही उन्होंने बताया कि चीनी उप प्रधानमंत्री वांग-यांग आधिकारिक यात्रा पर 14 अगस्त को नेपाल आएंगे।
विदित हो कि चीन ने भारत को हाल ही में धमकी दी है। चीन ने कहा है कि अगर डोकलाम से भारत ने अपनी सेना नहीं हटाई तो युद्ध होकर रहेगा और चीन कालापानी में घुसपैठ करेगा। इतना ही नहीं चीन ने इसे आखिरी चेतावनी बताया है।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS