ब्रेकिंग न्यूज़
‘बोले चूड़ियां’ में नवाजुद्दीन बनेंगे गायक, तमन्ना को करेंगे यूं इम्प्रेसलेवी लेने आये टीएसपीसी के दो नक्सलियों को चतरा पुलिस ने किया गिरफ्तारलोकसभा में ओवैसी ने कहा- उंगली मत दिखाइए, मैं नहीं डरूंगा, शाह बोले- अगर डर जेहन में है तो क्या करेंअमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प का विवादित बयान, एक बार फिर लगा नस्लवाद का आरोपनेपाल मे बाढ़ का कहर, अब तक 65 लोगों की मौत, 38 घायलबन्द होने के कगार पर डीएचएफएल, कम्पनी के शेयरों में 29 फीसदी की गिरावटचमकी बुखार को लेकर केंद्र, यूपी और बिहार सरकार को सुप्रीम कोर्ट ने जारी किया नोटिसअगस्ता मामले के सरकारी गवाह राजीव सक्सेना की जमानत निरस्त करने की याचिका
नेपाल
देउबा ने दिया संविधान संशोधन पर जोर
By Deshwani | Publish Date: 9/6/2017 6:15:35 PM
देउबा ने दिया संविधान संशोधन पर जोर

 काठमांडू, (हि.स.)। मधेशी पार्टियों की मांगों को रेखांकित करते हुए प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने संविधान में संशोधन की आवश्यकता पर जोर दिया। यह जानकारी शुक्रवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।

समाचार पत्र हिमालयन टाइम्स के अनुसार, देउबा ने दूसरे चरण के निकाय चुनावों के बाद संविधान संशोधन करने की अपनी प्रतिबद्धता भी दोहराई।

संसद की कार्यवाही के दौरान विशेष लेकर प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को कहा कि वह दूसेरे चरण के निकाय चुनावों के बाद संविधान संशोधन की प्रक्रिया शुरू करने के लिए संकल्पित हैं। उन्होंने मधेशी पार्टियों से कहा कि वे आगामी 28 जून को होने वाले निकाय चुनावों में शामिल हों।

देउबा ने कहा, “ अतीत में संविधान संशोधन प्रस्ताव पारित करने की स्थिति नहीं थी। इस मसले पर हम निरंतर प्रयास कर रहे हैं। मधेशी पार्टियों को दूसरे चरण के निकाय चुनावों में भाग लेना चाहिए और मैं आश्वस्त हूं कि वे भाग लेंगे। ”

उन्होंने कहा कि नेपाल ने समावेशी आनुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली का अनुसरण किया है जो दुनिया में कहीं नहीं है। प्रधानमंत्री ने अधिकाधिक अधिकार हासिल करने के लिए आगे बढ़ने पर भी जोर दिया और साथ ही जो अधिकार पहले से मिले हुए हैं उसे संस्थागत बनाने को भी कहा।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS