ब्रेकिंग न्यूज़
शेयर बाजार: बैंक, आईटी कंपनियों के बल पर सेंसेक्स में 490 अंक का उछालउत्तर कोरियाई शासक किम व्लदिमीर पुतिन का समर्थन हासिल करने के लिए पहुंचे रूसकांग्रेस ने बिहार के लिए 55 साल के राज में क्या किया: अमित शाहसीजेआई पर आरोप लगाने वाली महिला की धोखाधड़ी मामले में जमानत रद्द करने पर 23 मई को सुनवाई‘दीदी’ सिलवाती हैं कुर्ते, शेख हसीना भेजती हैं मिठाइयां: प्रधानमंत्री मोदीकेजरीवाल, सिसोदिया और योगेंद्र के खिलाफ जारी गैर जमानती वारंट पर लगी रोकरोड शो से गदगद हुए प्रधानमंत्री मोदी, लोहरदगा की रैली में बोले- ये लहर नहीं ललकार हैरोहित शेखर की हत्या के आरोप में पत्नी अपूर्वा गिरफ्तार, गुनाह कबूला
नेपाल
देउबा ने दिया संविधान संशोधन पर जोर
By Deshwani | Publish Date: 9/6/2017 6:15:35 PM
देउबा ने दिया संविधान संशोधन पर जोर

 काठमांडू, (हि.स.)। मधेशी पार्टियों की मांगों को रेखांकित करते हुए प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने संविधान में संशोधन की आवश्यकता पर जोर दिया। यह जानकारी शुक्रवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।

समाचार पत्र हिमालयन टाइम्स के अनुसार, देउबा ने दूसरे चरण के निकाय चुनावों के बाद संविधान संशोधन करने की अपनी प्रतिबद्धता भी दोहराई।

संसद की कार्यवाही के दौरान विशेष लेकर प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को कहा कि वह दूसेरे चरण के निकाय चुनावों के बाद संविधान संशोधन की प्रक्रिया शुरू करने के लिए संकल्पित हैं। उन्होंने मधेशी पार्टियों से कहा कि वे आगामी 28 जून को होने वाले निकाय चुनावों में शामिल हों।

देउबा ने कहा, “ अतीत में संविधान संशोधन प्रस्ताव पारित करने की स्थिति नहीं थी। इस मसले पर हम निरंतर प्रयास कर रहे हैं। मधेशी पार्टियों को दूसरे चरण के निकाय चुनावों में भाग लेना चाहिए और मैं आश्वस्त हूं कि वे भाग लेंगे। ”

उन्होंने कहा कि नेपाल ने समावेशी आनुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली का अनुसरण किया है जो दुनिया में कहीं नहीं है। प्रधानमंत्री ने अधिकाधिक अधिकार हासिल करने के लिए आगे बढ़ने पर भी जोर दिया और साथ ही जो अधिकार पहले से मिले हुए हैं उसे संस्थागत बनाने को भी कहा।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS