ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी के लिए निजी कोचिंग के जनक माने जाने वाले राजकिशोर सर का असमय जाना, सबको दुखदायी लगामेहसी के 150 हेक्टेयर लीची बगान में स्टिंगबग के नियंत्रण के लिए डीएम ने 17 लाख रुपए राशि की मांग कृषि विभाग पटना से मांग कीबेतिया- संतघाट स्थित राधिका ज्योति गैस एजेंसी में भीषण अगलगी, 14 डिलीवरी वाहन व 400 गैस सिलेंडर जले, कोई हताहत नहींमोतिहारी के तुरकौलिया में भूमि विवाद में युवक की हत्यामोतिहारी के ढाका थाने के दारोगा की तस्वीर वायरल, युवती को अपनी सर्विस पिस्टल देकर खिंचवाई फोटो, हुए निलंबितथानाध्यक्ष की हत्या के पूर्व मौके से फरार सर्किल इंस्पेक्टर मनीष कुमार सहित सात पुलिसकर्मियों को पूर्णिया प्रक्षेत्र के महानिरीक्षक ने किया निलंबितरक्सौल में अग्निशामक विभाग के कर्मियों को आग बुझाने का दिया गया प्रशिक्षणमधुबनी नरसंहार से आक्रोशित श्री राजपूत करणी सेना ने निकाला आक्रोश यात्रा
नेपाल
नेपाल में 23 वें तीर्थकर पारसनाथ की जयंती मनाई गई
By Deshwani | Publish Date: 9/1/2021 9:24:49 PM
नेपाल में 23 वें तीर्थकर पारसनाथ की जयंती मनाई गई

रक्सौल। अनिल कुमार। नेपाल के वीरगंज पर्सा  में 23 वें तीर्थकर भगवान पारसनाथ की जयंती धुमधाम से मनाई गयी। जिसका उद्घाटन प्रदेश नंबर 2 के मुख्यमंत्री लालबाबू राउत गद्दी ने किया।कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रदेश  नंबर 2 के मुख्यमंत्री लालबाबु राउत ने कहा  कि प्रदेश सरकार इस जैन तीर्थ महुवन को विकास के लिए एक गुरू योजना पर काम कर रही है । उन्होंने इस जगह को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर " अहिंसा भूमि' के रूप में पहचान स्थापित कराने के लिए योजनाबद्ध तरिके से विकासित करने पर जोर दिया। समारोह में भारत सरकार के नेपाल के वीरगंज स्थित महावाणिज्य दूत नितेश कुमार ने नेपाल- भारत सांस्कृतिक सम्बन्ध पर प्रकाश डालते हुए जैन सर्किट में "महुवन" को जोड़ने की बात कही। नेपाल- बिहार- झारखंड जैन समाज के उपाध्यक्ष अशोक बैध ने कहा कि महुवन में विकास की अपार संभावनाएं हैं। यह विश्व भर के जैनीयो के लिए श्रध्दा का केन्द्र के रूप में उभर रहा हैं । जैन तिर्थकर के जयंती समारोह में गैर जैनियों का ब्यापक सहभागिता इस समारोह मे देखा गया है।





इस समारोह में स्थानीय सांसद हरिनारायण रौनियार, बिधायक प्रह्लाद गिरी , बरिष्ठ पत्रकार चन्द्र किशोर झा, मेयर प्रदीप जायसवाल ने महुवन के चतुर्मुखी विकास से नेपाल  के सांस्कृतिक वैभव हासिल होगा बताते हुए अपने अपने क्षेत्र से योगदान देने की प्रतिबद्धता जतायी । बता दें कि नेपाल के  प्रदेश नंबर 2 को 19 वें तीर्थकर मल्लीनाथ और 21 वें तीर्थकर नेमिनाथ को जन्म देने का गौरव प्राप्त  है। यह प्रदेश तीर्थंकरों के तपोविहार के रूप में भी प्रसिद्ध है।जो कि जैनों की पुण्यभूमि और जैन धर्म की सृष्टि और स्थिति भूमि भी है।समारोह में भारत सरकार के नेपाल स्थित महावाणिज्य दूत नितेश कुमार ने नेपाल- भारत सांस्कृतिक सम्बन्ध पर प्रकाश डालते हुए जैन सर्किट में "महुवन" को जोड़ने की बात कही ।नेपाल- बिहार- झारखंड जैन समाज के उपाध्यक्ष अशोक बैध ने कहा कि महुवन में विकास की अपार संभावनाएं हैं। यह विश्व भर के जैनीयो के लिए श्रध्दा का केन्द्र के रूप में उभर रहा हैं ।जैन तिर्थकर के जयंती समारोह में गैर जैनियों का ब्यापक सहभागिता इस समारोह मे देखा गया है ।इस समारोह में स्थानीय सांसद हरिनारायण रौनियार, बिधायक प्रह्लाद गिरी , बरिष्ठ पत्रकार चन्द्र किशोर झा, मेयर प्रदीप जायसवाल ने महुवन के चतुर्मुखी विकास से नेपाल  के सांस्कृतिक वैभव हासिल होगा बताते हुए अपने अपने क्षेत्र से योगदान देने की प्रतिबद्धता जतायी ।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS