ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोजमोतिहारी के झखिया में पुलिस ने घेराबंदी कर की कार्रवाई, शशि सहनी गिरफ्तार, 125 कार्टन अंग्रेजी शराब जब्तभोजपुरी सेंशेसन अक्षरा सिंह का नया गाना ‘कोरा में आजा छोरा’ रिलीज के साथ हुआ वायरल
बिहार
नवादा में यात्रियों से भरी बस पलटी, पांच की मौत
By Deshwani | Publish Date: 15/5/2017 3:57:35 PM
नवादा में यात्रियों से भरी बस पलटी, पांच की मौत

पटना/नवादा, (हि.स.)। बिहार में नवादा जिले के राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-31 पर रजोली थाना क्षेत्र के अंधरबारी गांव के समीप पश्चिम बंगाल के कोलकाता से नालंदा बिहारशरीफ जा रही सियाराम यात्री बस के पलटने से चालक समेत पांच लोगों की मौत हो गई। इसमें चार की मौत घटनास्थल पर हुई तथा एक की मौत इलाज के दौरान हुई है। मरने वालों में तीन पुरुष, एक लड़की व एक बच्चा शामिल है। इस घटना में एक ही परिवार के तीन सदस्य बाप बेटी व नाती की मौत हुई है। मरने वालों में नारदीगंज थाना क्षेत्र के मुजफ्फर नगर निवासी भासो मांझी व पुत्री गीता देवी तथा पांच वर्षीय नाती राजा के अलवे अरुण मांझी और बस चालक शामिल हैं जबकि इस बस पर सवार कुल 55 लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए। 

घायलों को इलाज के लिए स्थानीय अनुमंडलीय अस्पताल व सदर अस्पताल में दाखिल कराया गया है। इनमें से कई की हालत चिंताजनक बताई जा रही है। मृतकों में अधिकांश मजदूर तबके के लोग है जो ईंट भट्ठा में काम करते हैं। ये लोग कोलकाता से अपने घर नवादा आ रहे थे। बताया जा रहा है कि सियाराम बस (डब्लू बी 37 बी/7289) कोलकाता से बिहारशरीफ आ रहा था। अचानक अंधरबारी गांव के समीप बस के ड्राइवर ने संतुलन खो दिया और देखते ही देखते बस गड्ढे में जा गिरी। इस हादसे के बाद वहां आफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया। इस घटना को देख स्थानीय लोगों ने भी घायलों की मदद करने में जुट गए। घटना की सूचना मिलते ही रजोली पुलिस अधिकारी तत्काल घटना स्थल पर पहुंच कर घायलों को इलाज के लिए भेजवाया। 
रजोली एसडीओ ने बताया कि सभी मृतक परिजनों को मुआवजा दिलाया जाएगा। मृतक की पहचान नहीं हो सकी है। संभावना है कि सभी मृतक सदर प्रखंड क्षेत्र के बुधौल बेलदरिया के मजदूर है जो ईंट भट्ठा से वापस अपने घर आ रहे थे। गंभीर रूप से घायल लोगों में चंद्रदेव राम, छोटन दास, सुदामा कुमार, गुड़िया देवी, नौषाद आलम, निभा देवी, लाटो मांझी, मंजु कुमारी, सीमा कुमारी, सुनिल राम, पंकज कुमार, मिथुन कुमार, गोविंदा, फुलवा देवी, गौरव कुमार, पूजा कुमारी, रेशमा देवी, शिवन कुमार, रौशन कुमार, भूषण साह, रौशन और चांदो चौहान आदि शामिल हैं। घायलों को लाने के लिए एक एंबुलेंस कम पड़ रही थी जिसके बाद रजोली एसडीओ ने सिविल सर्जन से बात कर अकबरपुर और सिरदला से भी एंबुलेंस मगवाया तब जाकर सभी घायलों को बारी-बारी से अस्पताल पहुंचाया गया। कुछ लोग अपने घायल परिवार को बेहतर इलाज के लिए प्राइवेट गाड़ी से लेकर प्राइवेट अस्पतालों में ले गए। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS