ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में मोतिहारी की आदापुर पुलिस ने पाच करोड़ की चरस के साथ पांच नेपाली नागरिक को पकड़ाजिला प्रशासन ने अंतरजातीय विवाह करने वाले 10 दंपत्तियों को बतौर प्रोत्साहन 7.75 लाख की राशि प्रदान कियादैवीय आपदा, बेघर और कच्चे घरों में रहने वाले गरीब परिवारों को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत निःशुल्क आवास उपलब्धदिनेशलाल यादव निरहुआ ने की बिहार में 500 थियेटर के साथ एजुकेशन को जोड़ने की पहलविभिन्न समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर स्वच्छ रक्सौल संस्था द्वारा धरना आज तीसरा दिन भी जारी रहाशराब कारोबारी और पुलिस की कथित चूहा बिल्ली के खेल में हुई दुर्घटना में एक तेज रफ्तार होण्डा कार ने तीन लोगों को रौंदा, एक की मौतदूरदर्शन की मशहूर एंकर नीलम शर्मा का निधन, कैंसर से थीं पीड़ितकुशीनगर में एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या, क्षेत्र में फैली सनसनी
बिहार
हत्याकांड में गवाह को मिली जान से मारने की धमकी, दहशत में पूरा परिवार
By Deshwani | Publish Date: 10/6/2019 12:33:47 PM
हत्याकांड में गवाह को मिली जान से मारने की धमकी, दहशत में पूरा परिवार

नवादा जिले में एक नाबालिग बच्ची की हत्याकांड के गवाह को जान से मारने की धमकी मिली है। धमकी मिलने के बाद गवाह ने थाने में लिखित आवेदन देकर अपनी सुरक्षा की गुहार लगाई है। पुलिस उसके आवेदन पर मामला दर्ज कर जांच में जुटी है। 

 
घटना के संबंध में बताया गया है कि रजौली थाना क्षेत्र के हरदिया सेक्टर बी निवासी बृजनंदन यादव जिले में हुई एक नाबालिग बच्ची की हत्याकांड के गवाह है। उसे हत्याकांड के मुख्य आरोपियों द्वारा जान से मारने की धमकी दी जा रही है।  
 
बृजनंदन यादव ने बताया कि वह कांड संख्या 79/13 के मुख्य गवाह हैं। उसे गांव के ही उपेंद्र यादव व मीना देवी जान मारने की धमकी दे रहे हैं। कहते है कि अगर मेरे विरुद्ध कोर्ट में जाकर गवाही दिया तो पूरे परिवार को जान से मार देंगे। इस धमकी के बाद मेरा पूरा परिवार डरा-सहमा है।
 
बताते चलें कि वर्ष 2013 में 7 अप्रैल को हरदिया सेक्टर बी में शंकर प्रसाद यादव के 8 वर्षीय पुत्र सचिन कुमार की हत्या कुल्हाड़ी से काटकर निर्मम तरीके से कर दी गई थी। शव को किसी दूसरे के घर में जाकर छुपा दिया गया था। काफी खोजबीन के बाद बच्चे का शव पुलिस ने बरामद किया था। हत्या के मामले में उपेंद्र यादव और मीना देवी जेल भी जा चुके हैं। 
 
लंबे अंतराल के बाद न्यायालय से जमानत पर बाहर निकले। अब उस केस में गवाही शुरू हो गई है। अपनी गर्दन फंसता देख उपेंद्र गवाह को डराने धमकाने में लग गया है। इसके लिए प्रशासन से सुरक्षा की गुहार लगाई है। 
 
वहीं इस संबंध में थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर सुजय विद्यार्थी ने कहा कि गवाह को डराने धमकाने का लिखित आवेदन मिला है, मामले की जांच की जा रही है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS