ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रीय
केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री समेत इन नेताओं ने जताया शोक
By Deshwani | Publish Date: 9/10/2020 9:34:05 AM
केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री समेत इन नेताओं ने जताया शोक

नई दिल्ली। केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री और लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवान   का गुरुवार को 74 साल की उम्र में निधन हो गया। पासवान कई सप्ताह से दिल्ली के फोर्टिस एस्कॉर्ट हार्ट इंस्टीट्यूट अस्पताल में भर्ती थे और हाल ही में उनकी हार्ट सर्जरी हुई थी। गुरुवार को पासवान के स्वास्थ्य में गिरावट आई और शाम छह बजकर पांच मिनट (शाम 06:05 बजे) पर उन्होंने अंतिम सांस ली। रामविलास पासवान के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और पीएम नरेंद्र मोदी समेत देशभर के कई नेताओं ने शोक जताया। 
 
उनके सम्मान में आज राजकीय शोक की घोषणा की गई है।  इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज आज आधा झुका रहेगा।  आज सुबह 10 बजे उनके आवास 12 जनपथ पर रामविलास पासवान के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा। यहां कई बड़े नेताओं समेत उनके प्रिय लोग श्रद्धांजलि दे सकेंगे। आज दोपहर बाद करीब तीन बजे पासवान का पार्थिव शरीर पटना पहुंचेगा।
 
रामविलास पासवान के बेटे और लोजपा के अध्यक्ष चिराग पासवान ने पिता के निधन की जानकारी देते हुए शोक जताया। उन्होंने ट्वीट किया, 'पापा...अब आप इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन मुझे पता है आप जहां भी हैं हमेशा मेरे साथ हैं। मिस यू पापा। '
 
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लिखा, "केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन से देश ने एक दूरदर्शी नेता खो दिया है। उनकी गणना सर्वाधिक सक्रिय तथा सबसे लंबे समय तक जनसेवा करने वाले सांसदों में की जाती है। वे वंचित वर्गों की आवाज़ मुखर करने वाले तथा हाशिए के लोगों के लिए सतत संघर्षरत रहने वाले जनसेवक थे।" 
 
उन्होंने आगे लिखा, "आपातकाल विरोधी आंदोलन के दौरान जयप्रकाश नारायण जैसे दिग्गजों से लोकसेवा की सीख लेनेवाले पासवान जी फायरब्रांड समाजवादी के रूप मे उभरे। उनका जनता के साथ गहरा जुड़ाव था और वे जनहित के लिए सदा तत्पर रहे। उनके परिवार और समर्थकों के प्रति मेरी गहन शोक-संवेदना।"
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिखा, "साथ में काम करना, पासवान जी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलना एक अविश्वसनीय अनुभव रहा। मंत्रिमंडल की बैठकों के दौरान उनकी बातें व्यावहारिक होती थीं। राजनीतिक ज्ञान, राज्य-कौशल से लेकर शासन के मुद्दों तक, वो प्रतिभाशाली थे. उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना. ओम शांति।"
 
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया, "भारतीय राजनीति व केंद्रीय मंत्रिमंडल में उनकी कमी सदैव बनी रहेगी और मोदी सरकार उनके गरीब कल्याण व बिहार के विकास के स्वपन्न को पूर्ण करने के लिए कटिबद्ध रहेगी। मैं उनके परिजनों और समर्थकों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं और दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना करता हूं। ॐ शांति"
 
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, "केंद्रीय मंत्री श्री रामविलास पासवान जी का निधन मेरे लिए अत्यंत पीड़ादायक है।अपने लम्बे राजनीतिक जीवन में उन्होंने हमेशा गरीबों, दलितों एवं वंचितों के कल्याण के लिए काम किया। उनकी गिनती बिहार की मिट्टी से जुड़े कद्दावर नेताओं में थी और उनके सभी दलों के साथ अच्छे सम्बंध थे।" उन्होंने आगे लिखा, "रामविलासजी के निधन से बिहार राज्य और राष्ट्रीय राजनीति में भी बड़ी रिक्तता पैदा हो गई है। उनके साथ मेरी बहुत लम्बी और अच्छी मित्रता थी। उनका निधन मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है। इस दुःख की घड़ी में ईश्वर उनके परिवार एवं समर्थकों को संबल प्रदान करें। ॐ शान्ति!"
 
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने वीडियो संदेश जारी करते हुए कहा, "रामविलास पासवान जी हमारे बीच नहीं रहे। यह दिल को बहुत दुख देने वाली खबर है। रामविलास जी हमेशा गरीबों, पीड़ितों, वंचितों व समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के लिए लड़ने वाले थे। सारा जीवन उन्होंने वंचितों, पीड़ितों की सेवा में समर्पित किया. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें। ॐ शांति."
 
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया, "रामविलास पासवान जी के असमय निधन का समाचार दुखद है। गरीब-दलित वर्ग ने आज अपनी एक बुलंद राजनैतिक आवाज खो दी। उनके परिवारजनों को मेरी संवेदनाएं।"
 
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्विटर पर लिखा, "केंद्रीय मंत्री एवं लोकप्रिय राजनेता राम विलास पासवान जी के निधन से मुझे व्यक्तिगत तौर पर दुःख पहुंचा है। उनका निधन भारतीय राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें।"
 
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, "केंद्रीय मंत्री श्री राम विलास पासवान जी के निधन पर हार्दिक संवेदना।मेरे विचार और प्रार्थना उनके परिवार और प्रियजनों के साथ हैं।"
 
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्विटर पर लिखा, "रामविलास पासवान जी के निधन की खबर सुनकर गहरा दुख हुआ। वह एक अनुभवी राजनीतिज्ञ, नेता और लंबे समय तक सांसद रहे। उनके परिवार, सहयोगियों और उनके कई प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदना।"
 
कई प्रधानमंत्रियों के साथ किया काम
देश के प्रमुख दलित नेताओं में से एक रामविलास पासवान का जन्म साल 1946 में बिहार के खगड़िया में हुआ था। वह वीपी सिंह, एच डी देवेगौड़ा, इन्द्र कुमार गुजराल, अटल बिहारी वाजपेयी, मनमोहन सिंह और वर्तमान में नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में मंत्री रहे हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS