ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोजमोतिहारी के झखिया में पुलिस ने घेराबंदी कर की कार्रवाई, शशि सहनी गिरफ्तार, 125 कार्टन अंग्रेजी शराब जब्तभोजपुरी सेंशेसन अक्षरा सिंह का नया गाना ‘कोरा में आजा छोरा’ रिलीज के साथ हुआ वायरल
राष्ट्रीय
मोदी सरकार का बड़ा फैसला- पीओके से आए 5300 विस्थापित कश्मीरी परिवारों को मिलेंगे 5.5 लाख रुपए
By Deshwani | Publish Date: 9/10/2019 3:52:17 PM
मोदी सरकार का बड़ा फैसला- पीओके से आए 5300 विस्थापित कश्मीरी परिवारों को मिलेंगे 5.5 लाख रुपए

नई दिल्ली। देश के विभाजन के बाद पाकिस्तान से विस्थापित हुए 5300 परिवारों को प्रति परिवार साढ़े पांच लाख रुपए की केंद्रीय मदद दी जाएगी। प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को हुई मंत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय लिया गया। वर्ष 1947 में देश के विभाजन और वर्ष 1948 में जम्मू कश्मीर के भारत में शामिल होने के बाद पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से 5300 परिवार विस्थापित होकर आए।

मंत्रिमंडल के फैसलों की जानकारी देते हुए केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान और बांग्लादेश से विस्थापित होकर लोग भारत आए थे। इनमें 1948 में पीओके से भी विस्थापित होकर आए लोग शामिल थे। इन विस्थापितों में से 5300 परिवार जम्मू-कश्मीर से बाहर अन्य राज्यों में चले गए और बाद में वापस आए।

उन्होंने कहा कि 2016 में इन विस्थापितों के लिए एक मुश्त साढ़े पांच लाख की सहायता राशी की घोषणा की गई थी। हालांकि इसका बाहर जाने वाले परिवार लाभ नहीं ले पाये थे। आज सरकार ने सभी विस्थापित परिवारों को सहायता देने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि इससे न्याय हुआ है जिसका कश्मीर घाटी में स्वागत हो रहा है।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS