ब्रेकिंग न्यूज़
समस्तीपुर डीएम ने कहा- जो भी दुकान व मॉल में संचालक व कर्मी बिना मास्क के पाए गए तो उस दुकान व मॉल को सील कर दिया जायेगावीरगंज पुलिस ने भारी मात्रा में नशीली दवा के साथ दो भारतीय व एक नेपाली नागरिक को किया गिरफ्तारमोतिहारी के बंजरिया में पुलिस द्वारा सील मकान से ट्रक पर लादे जा रहे बिजली विभाग से चोरी के तार के साथ वाहन मालिक सहित 7 गिरफ्ताररामगढ़वा मे 13 वर्षीय नाबालिग से घर बुला कर जबरन किया दुष्कर्म, चार नामजदसमस्तीपुर : लद्दाख में शहीद अमन की विधवा को मिली नौकरी, डीएम ने दिया नियुक्ति पत्रसमस्तीपुर : समस्तीपुर में कोरोना से युवा व्यवसायी की मौत, छह लोगों की हो चुकी है अबतक मौतमोतिहारी की छतौनी पुलिस ने लकड़ी लदे ट्रक में छुपाकर रखी भारी मात्रा में शराब जब्त की, 6 गिरफ्तार, झखिया में देनी थी डिलेवरीमोतिहारी के कल्याणपुर में पूर्व प्रमुख के पति की रड व चाकू से गोदकर हत्या, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रकाश अस्थाना के छोटे भाई जेपी अस्थाना भी गंभीर घायल
राष्ट्रीय
चक्रवाती तूफान 'वायु' की रफ्तार हुई तेज, 2.91 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया
By Deshwani | Publish Date: 12/6/2019 4:30:23 PM
चक्रवाती तूफान 'वायु' की रफ्तार हुई तेज, 2.91 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया

अहमदाबाद। 140 से 150 किमी. प्रति घंटे की रफ़्तार से सौराष्ट्र की ओर बढ़ रहा 'वायु' बवंडर अभी वेरावल से करीब 320 किमी. दूर है। यह बवंडर अब डीप डिप्रेशन में परिवर्तित हो चुका है  और गुजरात के तट से टकराने के बाद सौराष्ट्र-कच्छ के तटीय इलाकों में तबाही मचा सकता है। ऐसे में 5 से 7 इंच बारिश होने की संभावना जताई जा रही है। सौराष्ट्र के तटीय विस्तार के गांवों से अब तक लगभग 2.91 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा चुका है। 
 
अरब सागर में स्थित डीप डिप्रेशन अब बवंडर में तब्दील होने से गुजरात के तटीय इलाकों में चिंता व्याप्त हो चुकी है। 12 और 13 को स्कूल-कालेजों में छुट्टी घोषित कर दी गई है। स्कूल-कालेजों के परिसरों को आपातकालीन स्थिति में लोगों को शरण देने के काम में लाया जायेगा। 
 
मुख्यमंत्री विजयभाई रुपानी की अगवाई में हुई बैठक में राज्य के मुख्य सचिव जेएन सिंघ ने सौराष्ट्र और कच्छ के जिला कलेक्टरों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये वार्ता की थी। 'वायु' बवंडर की वजह से लोगों के जान-माल की सुरक्षा के लिए सरकार ने सौराष्ट्र और कच्छ जिले के संभावित प्रभावित क्षेत्रों में सेना की 34 टीमें, एनडीआरएफ की 15 टुकड़ियां, एसडीआरएफ की 11 टीमें 24 घंटे तैनात रहेंगी। एनडीआरएफ की 20 अतिरिक्त टीमें पुणे और भटिंडा से सौराष्ट्र भेजी जा चुकी हैं। पोरबंदर, महुआ, वेरावल और दिव में बारिश शुरू हो चुकी है।
 
गिर सोमनाथ जिला प्रशासन ने भी अलर्ट घोषित किया है। सौराष्ट्र के तटीय इलाकों के 408 गांवों में ज्यादा असर होने की संभावना जताई गई है। राज्य के नायब मुख्यमंत्री नितिन पटेल लगातार प्रशासन के संपर्क में हैं। सभी सरकारी एजेंसियां भी सरकार से संपर्क बनाए हुए हैं।
 
सरकार द्वारा आपदा की स्थिति को संभालने के लिए 5 लाख फ़ूड पैकेट्स तैयार करने के लिए राज्य के आपूर्ति विभाग को निर्देश दिए हैं। फ़ूड पैकेट्स में पानी के पाउच के साथ सूखा नाश्ता रखने को कहा गया है। सरकार ने इस आपदा की परिस्थिति में बीएसएनएल और एनी मोबाइल ऑपरेटर्स को खास निर्देश दिए हैं कि इस आपदा की स्थिति में भी मोबाइल टावर कार्य करते रहें। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS