ब्रेकिंग न्यूज़
दिग्‍व‍िजय भोपाल से लड़ेंगे लोकसभा चुनाव, 30 साल से यहां जीत नहीं पाई है कांग्रेसराम मनोहर लोहिया का जिक्र कर प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशानासुरक्षाबलों को सर्च अभियान के दौरान मिली सफलता, भारी मात्रा में विस्फोटक और हथियार बरामदहाइवा की चपेट में आने से युवक की मौत, विरोध में लोगों ने किया सड़क जामकांग्रेस की सरकार आई तो दस दिन में किसान का कर्जा होगा माफ: राहुल गांधीआईपीएल 2019: आईपीएल के शुरुआती 6 मैचों में नहीं खेलेंगे लसिथ मलिंगा, सामने आई ये वजहमणिकर्णिका' के बाद कंगना का बड़ा धमाका, जयललिता की बायोपिक से जुड़ा नामकरमबीर सिंह होंगे अगले नौसेना प्रमुख, सुनील लांबा 31 मई को हो रहे हैं रिटायर
राष्ट्रीय
पीडीपी-बीजेपी ने जम्मू-कश्मीर में लोकतंत्र का गला घोंटा है: कांग्रेस
By Deshwani | Publish Date: 15/7/2018 1:39:49 PM
पीडीपी-बीजेपी ने जम्मू-कश्मीर में लोकतंत्र का गला घोंटा है: कांग्रेस

कठुआ। पीडीपी-बीजेपी के फैसले ने राज्य में सभी लोकतांत्रिक संस्थानों का बेहद बुरे तरीके से गला घोंटा है। बस अपने घृणित डिजाइन को पूरा करने के लिए दोनो ने गठबंधन किया और आज लोगों की भावनाओं को नजर अंदाज कर सत्ता त्याग का ड्रामा कर एक दूसरे के खिलाफ जहर उगल कर लोगों के बीच सही साबित होना चाहते हैं। उक्त बातें वरिष्ठ कांग्रेस नेता और विधान परिषद के सदस्य, ठाकुर बलबीर सिंह ने नगरी में ब्लाक कांग्रेस कमेटी के कार्यालय के उदघाटन समारोह में संबोधित करते हुए कहीं। 

सिंह ने कहा, बीजेपी देश में लोकतांत्रिक संस्थानों की पवित्रता को कमजोर करने के लिए पहले ही विखयात है लेकिन यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि पीडीपी, जो वर्तमान सरकार का हिस्सा थी उसने भी इसमें संदिग्ध भूमिका निभाई थी। उन्होंने कहा कि पीडीपी और बीजेपी लोगों को अपने वैध लोकतांत्रिक अधिकारों से वंचित करने के लिए समान रूप से जिम्मेदार हैं। 
 
 
वहीं, उहोंने लोगों को आश्वस्त किया कि कांग्रेस निचले स्तर  पर सत्ता का प्रतिनिधि बनने के लिए राज्य में लोकतांत्रिक संस्थानों को मजबूत करेगी, सिंह ने सभा को याद दिलाया कि यह स्वर्गीय प्रधान मंत्री राजीव गांधी के शासनकाल के दौरान था कि शहरी और ग्रामीण स्थानीय निकायों को मजबूत बनाने के लिए भारत के संविधान में क्रांतिकारी 73 वें और 74 वें संशोधन किए गए थे ।
 
 
सिंह ने खेद व्यक्त किया कि पिछले पीडीपी-बीजेपी शासन ने सभी प्रतिष्ठित लोकतांत्रिक संस्थानों को खराब कर दिया है और इसे कमजोर कर दिया है, चाहे वह विधानसभा, स्थानीय निकाय या पंचायती राज संस्थान हों। उन्होंने कहा, पिछली सरकार ने पंचायत और शहरी स्थानीय निकायों के चुनावों को बिना किसी कारण के देरी कर पंचायतों को शक्ति देने के लिए उदासीन रवैया अपनाया। नागरिक निकायों के चुनाव आयोजित करने में अनियमित देरी पिछली सरकार की तानाशाही मानसिकता को दर्शाती है।
उन्होंने कहा, पीडीपी-बीजेपी के नेतृत्व वाले शासन ने सरपंचों के अप्रत्यक्ष चुनाव की घोषणा करके पंचायतों को कमजोर करने का प्रयास किया। उन्होंने भाजपा पीडीपी सरकार के अनौपचारिक निर्णयों को वापस करने के लिए गवर्नर एन.एन. वोहरा के प्रशासन की सराहना की। उन्होंने कहा, हम जम्मू-कश्मीर में एक नई प्रणाली स्थापित करने के लिए मिलकर काम करेंगे। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS