ब्रेकिंग न्यूज़
कई नरसंहारों का आरोपी पकड़ाया, पूर्व मेयर समीर हत्याकांड में पूछताछ को मुजफ्फरपुर पुलिस मोतिहारी पहुंचीयूपी की तर्ज पर बिहार में भी शुरू हुई डायल 100 सेवा, मुख्यमंत्री नीतीश ने पुलिस को दी हिदायतमानव तस्करों के चुंगल से आजाद हुईं झारखंड की 16 लड़कियांनहाने के दौरान डूबने से 4 बच्चों की मौत, गांव में मचा कोहरामसलमान खान की हीरोइन 40 की उम्र बनीं मां, बेटे को दिया जन्मभाजपा महाकुंभः सीएम शिवराज ने साधा राहुल पर निशाना, कहा- वह 'फन मशीन' बन गए हैंअक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में लगातार आगे बढ़ रहा है भारत, 2022 तक हो जाएगी 18 फीसदी की हिस्सेदारीरिलीज हुआ 'दबंग सरकार' का नया गाना, इंटरनेट पर हंगामा मचा रहीं काजल राघवानी
राष्ट्रीय
मानसून इस साल सामान्य रहेगा, अच्छी बारिश होगी
By Deshwani | Publish Date: 16/4/2018 7:00:01 PM
मानसून इस साल सामान्य रहेगा, अच्छी बारिश होगी

नई दिल्ली। मौसम विभाग ने संभावना जतायी है कि देश में इस साल मानसून सामान्य रहेगा। मौसम विभाग के महानिदेश के.जे.रमेश ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में इस वर्ष का पहला मानसून पूर्वानुमान जारी करते हुए कहा कि इस वर्ष मानसून के सामान्य रहने की संभावना है। 

 
के.जे. रमेश ने आज यहां बताया कि मानसून 15 मई तक सबसे पहले केरल पहुंचेगा और 45 दिनों के अंदर पूरे देश में फैल जाएगा जिससे अच्छी वर्षा होगी। यह लगातार तीसरा वर्ष है जब मानसून सामान्य रहेगा। मौसम विभाग जून में मानसून के संबंध में अगला पूर्वानुमान जारी करेगा। सामान्यत: मानसून सीजन-जून से सितंबर के दौरान 89 सेंटीमीटर वर्षा होती है। पिछले वर्ष इस दौरान करीब 95 प्रतिशत वर्षा हुई थी।   
 
देश में करीब 45 प्रतिशत सिंचित क्षेत्र है और शेष भूमि पर वर्षा आधारित खेती की जाती है जिसके लिए मानसून का सामान्य रहना बेहद महत्वपूर्ण हो जाता है। देश में कृषि क्षेत्र में 40 से 45 प्रतिशत यांत्रिकरण हुआ है और मानसून अनुकूल होने से इस क्षेत्र को लाभ होने की आशा है। बाजार पर भी इसका अच्छा असर होने की उम्मीद है।  
 
मौसम विभाग के अनुसार, 90 प्रतिशत से कम वर्षा को बहुत कम माना जाता है जबकि 95 प्रतिशत को सामान्य से कम माना जाता है। इसी प्रकार 96 प्रतिशत से 104 प्रतिशत को सामान्य मानसून तथा 105 से 110 प्रतिशत को सामान्य से अधिक माना जाता है। पिछले साल कुल क्षेत्र के 72 प्रतिशत हिस्सें में सामान्य वर्षा हुई थी जबकि 13 प्रतिशत में अधिक और 15 प्रतिशत में सामान्य से कम वर्षा हुई थी। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS