ब्रेकिंग न्यूज़
पूर्वी चंपारण के कई इलाकों में बेमौसम बारिश और बर्फबारी होने से बढ़ी ठंड, दिखा शिमला जैसा नजाराबेतिया में मूर्छितावस्था में अधमरी महिला मिली, ग्रामीणों ने मझौलिया पीएचसी में कराया भर्ती करायासाबरमती आश्रम में राष्ट्रपति ट्रंप ने पत्नी मेलानिया के साथ चरखा चलाकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित कीचीन से कच्चे माल की आपूर्ति में व्यवधान के संबंध में वित्त मंत्री ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाईजम्मू-कश्मीर में पंचायत उपचुनाव सुरक्षा मुद्दों और क्षेत्रीय राजनीतिक दलों की अनिच्छा के कारण स्थगितअशरफ गनी अफगानिस्तान के नए राष्ट्रपति चुने गएबिहार के गया में कोरोना वायरस के एक संदिग्ध मरीज को देखरेख के लिए अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में कराया गया भर्तीऔरंगाबाद में रफीगंज-शिवगंज पथ पर तेज रफ्तार ट्रक ने ऑटो में मारी टक्कर, दो मासूमों सहित 10 लोगों की मौत
राष्ट्रीय
शाहीन बाग में प्रदर्शनकारी सड़क रोककर दूसरों के लिए परेशानी पैदा नहीं कर सकते: उच्चतम न्यायालय
By Deshwani | Publish Date: 10/2/2020 2:51:22 PM
शाहीन बाग में प्रदर्शनकारी सड़क रोककर दूसरों के लिए परेशानी पैदा नहीं कर सकते: उच्चतम न्यायालय

नई दिल्ली उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारी सड़कों को अवरूद्ध नहीं कर सकते और दूसरों के लिए असुविधा पैदा नहीं कर सकते। न्यायमूर्ति एस के कौल और न्यायमूर्ति के एम जोजफ की पीठ ने इस इलाके से प्रदर्शनकारियों को हटाने वाली याचिका पर केन्द्र, दिल्ली सरकार और पुलिस को नोटिस जारी किया है।

 
 
पीठ ने कहा है कि एक कानून बना है और लोग उसका विरोध कर रहे हैं। न्यायालय ने कहा कि लोगों को विरोध का अधिकार है लेकिन सार्वजनिक सड़कों को अवरूद्ध करने का नहीं। ऐसे विरोध अनिश्चितकाल तक नहीं किये जा सकते। अगर वे प्रदर्शन करना चाहते हैं तो विरोध प्रदर्शन के लिए निर्धारित स्थान पर ही करें।  पीठ ने कहा कि दूसरे पक्ष को सुने बिना वह कोई फैसला नहीं देगी।  मामले की अगली सुनवाई 17 फरवरी को होगी।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS