ब्रेकिंग न्यूज़
अत्याधुनिक हथियार बरामदगी मामले में कोटवा निवासी कुख्यात कुणाल को आजीवन कारावास, 42 हजार रुपये का अर्थदंड भी मिलाइस बार का चुनाव मेरे लिए चुनाव है चुनौती नहीं: राधा मोहन सिंहMotihati: सांसद राधामोहन सिंह ने नामांकन दाखिल किया, कहा-मैं तो मोदी के मंदिर का पुजारीमोतिहारी के केसरिया से दो गिरफ्तार, लोकलमेड कट्टा व कारतूस जब्तभारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे
राष्ट्रीय
अन्य देशों के मंत्रियों के साथ गोलमेज कांफ्रेंस में शामिल हुए कृषि मंत्री श्री तोमर
By Deshwani | Publish Date: 18/3/2023 10:33:42 PM
अन्य देशों के मंत्रियों के साथ गोलमेज कांफ्रेंस में शामिल हुए कृषि मंत्री श्री तोमर

दिल्ली ग्लोबल मिलेट्स (श्री अन्न) सम्मेलन में दिल्ली आए विभिन्न देशों के कृषि मंत्रियों की आज गोलमेज कांफ्रेंस हुई। इसमें मेजबानी करते हुए केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने अपने उद्बोधन में कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने विश्व में श्री अन्न को बढ़ावा देने का एजेंडा निर्धारित किया है। श्री अन्न भविष्य के सुपर फूड हैं और भूख, कुपोषण तथा जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को कम करने में बहुत उपयोगी है। ये फसलें किसानों, उपभोक्ताओं और जलवायु के लिए भी उपयोगी हैं। भारत ने इन उत्कृष्ट अनाजों को वैश्विक स्तर पर भोजन की थाली तक पहुंचाने का बीड़ा उठाया है। विभिन्न देशों ने श्री अन्न को बढ़ावा देने की भारत सरकार की पहल की सराहना की व भारत को इस संबंध में पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया।

 
 
 
 
 
केंद्रीय मंत्री श्री तोमर ने गोलमेज कांफ्रेंस में कहा कि श्री अन्न के उत्पादन, उपभोग, मूल्यवर्धन और प्रसंस्करण के क्षेत्र में विश्व के विभिन्न हिस्सों के प्रतिष्ठित लोगों के सम्मिलन से इसे बढ़ावा देने के प्रयासों को निश्चित ही गति मिलेगी। श्री तोमर ने कहा कि आज का मेगा इवेंट श्री अन्न के उन मूल्यों को प्रदर्शित करता है, जो इतिहास में भुला दिए गए थे। अब श्री अन्न के संवर्धन की गति बढ़ाने के लिए भारत सरकार ने अंतरराष्ट्रीय मिलेट्स वर्ष-2023 के लक्ष्यों को प्राप्त करने और भारत को 'मिलेट्स के वैश्विक हब' के रूप में स्थापित करने हेतु किसानों, स्टार्टअप्स, निर्यातकों, खुदरा व्यवसायों, होटल संघों व भारत एवं विदेशों में सरकार के विभिन्न अंगों को शामिल करके एक बहु-हितधारक एंगेजमेंट उपागम अपनाया है। वर्ष 2023 मिलेट्स को अपनाने और बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय और विश्व स्तर पर वर्षभर चलने वाले अभियान और अनेक गतिविधियों का साक्षी बनेगा।
 
 
 
 
श्री तोमर ने कहा कि मिलेट्स प्रोटीन, फाइबर, खनिजों का एक समृद्ध स्रोत हैं और इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है। ये कुपोषण से लड़ने व संयुक्त राष्ट्र सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) को हासिल करने में बहुत उपयोगी है। मिलेट्स हीमोग्लोबिन में सुधार कर सकते हैं, आयरन की कमी वाले एनीमिया व जीवन शैली से संबंधित उन अन्य बीमारियों में कमी ला सकते हैं जो विश्व स्तर पर बढ़ रही हैं। श्री अन्न अफ्रीका, एशिया व अन्य शुष्क क्षेत्रों के कई देशों की कठोर जलवायु के अनुकूल है। सभी देशों को सहयोग, आदान-प्रदान, व्यापार व अनुसंधान के जरिये श्री अन्न को बढ़ावा देने की जरूरत है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS