ब्रेकिंग न्यूज़
मेहसी के 150 हेक्टेयर लीची बगान में स्टिंगबग के नियंत्रण के लिए डीएम ने 17 लाख रुपए राशि की मांग कृषि विभाग पटना से मांग कीबेतिया- संतघाट स्थित राधिका ज्योति गैस एजेंसी में भीषण अगलगी, 14 डिलीवरी वाहन व 400 गैस सिलेंडर जले, कोई हताहत नहींमोतिहारी के तुरकौलिया में भूमि विवाद में युवक की हत्यामोतिहारी के ढाका थाने के दारोगा की तस्वीर वायरल, युवती को अपनी सर्विस पिस्टल देकर खिंचवाई फोटो, हुए निलंबितथानाध्यक्ष की हत्या के पूर्व मौके से फरार सर्किल इंस्पेक्टर मनीष कुमार सहित सात पुलिसकर्मियों को पूर्णिया प्रक्षेत्र के महानिरीक्षक ने किया निलंबितरक्सौल में अग्निशामक विभाग के कर्मियों को आग बुझाने का दिया गया प्रशिक्षणमधुबनी नरसंहार से आक्रोशित श्री राजपूत करणी सेना ने निकाला आक्रोश यात्राबीरगंज: अर्थ मंत्री से मिल उद्योग वाणिज्य संघ ने व्यावसायिक समस्याओं से कराया अवगत
राष्ट्रीय
आज से 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का कोविड टीकाकरण शुरू
By Deshwani | Publish Date: 1/4/2021 11:12:55 AM
आज से 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का कोविड टीकाकरण शुरू

दिल्ली केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ कोविड-19 टीकाकरण अभियान और इसकी तैयारियों की समीक्षा की। आज से 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी लोगों को टीका लगाने का काम किया जाएगा।

 
 
 
बैठक में कम टीकाकरण वाले क्षेत्रों की पहचान करने पर विचार-विमर्श किया गया। विशेष रूप से उन जिलों में जहां कोविड के मामले बढ रहे हैं। स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों और अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं के टीकाकरण के मामले में राज्‍यों को निर्देश दिया गया है कि वे केवल पात्र व्‍यक्तियों का ही पंजीकरण करके उन्‍हें टीका लगाएं।
 
 
 
 बैठक में इसके अलावा राज्‍यों से यह भी कहा गया है कि वे निजी क्षेत्र के टीकाकरण केंद्रों की नियमित रूप से समीक्षा करें, ताकि उनकी टीकाकरण क्षमता की जानकारी प्राप्‍त हो सके। समीक्षा बैठक में इस बात पर भी चर्चा हुई कि टीके की बर्बादी एक प्रतिशत से भी कम रखी जाए और वैक्‍सीन का भंडारण ज्‍यादा दिनों तक नहीं किया जाए। इसके साथ ही इस बात पर जोर दिया गया कि वैक्‍सीन का इस्‍तेमाल शीघ्र कर लिया जाए ताकि इसकी समयावधि समाप्त होने से पहले ही यह इस्‍तेमाल में आ जाए।
 
 
बैठक में कोविड टीकाकरण पर उच्‍च शक्ति समूह के अध्‍यक्ष डॉक्‍टर आर. एस. शर्मा ने कहा कि वैक्‍सीन के भंडारण में कोई समस्‍या नहीं है। उन्‍होंने ये भी कहा कि दूसरी खुराक के लिए वैक्‍सीन को बचाकर रखने की कोई आवश्‍यकता नहीं है और राज्‍य सरकारों को चाहिए कि वे सभी सरकारी और निजी अस्‍पतालों को इसकी लगातार आपूर्ति करते रहें।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS