ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी की छतौनी पुलिस ने लकड़ी लदे ट्रक में छुपाकर रखी भारी मात्रा में शराब जब्त की, 6 गिरफ्तार, झखिया में देनी थी डिलेवरीमोतिहारी के कल्याणपुर में पूर्व प्रमुख के पति की रड व चाकू से गोदकर हत्या, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रकाश अस्थाना के छोटे भाई जेपी अस्थाना भी गंभीर घायलसमस्तीपुर: आपसी विवाद में चली गोली से महिला सहित दो जख्मी, गंभीर स्थिति में रेफरअभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की सीबीआई जांच की मांग को लेकर राज्‍यभर में हुआ प्रदर्शनमोतिहारी में एनएच 28 पर जय माता दी बस की चपेट में आए दो लोग, वाटगंज के मेडिकल प्रैक्टिसनर व भतीजे की मौत, बारिश में छतरी लगाकर राजमार्ग जाममोतिहारी के मधुबन में बारात में चली गोली, गोढ़वा के युवक की मौत, आर्म्स के साथ एक गिरफ्तारमोतिहारी के चकिया ट्रक की चपेट में आकर बाइक सवार दो की मौके पर मौत, तीसरा घायल, लोगों ने रात में ही कर दी सड़क जामसमस्तीपुर में मौत बनकर गिरी आकाशीय बिजली, आठ लोगों की मौत
राष्ट्रीय
फीस में वृद्धि जैसे मुख्य मामले सुलझ जाने के बाद भी जेएनयू के छात्रों को निरंतर आंदोलन जारी रखना उचित नहीं: रमेश पोखरियाल निशंक
By Deshwani | Publish Date: 14/1/2020 12:07:45 PM
फीस में वृद्धि जैसे मुख्य मामले सुलझ जाने के बाद भी जेएनयू के छात्रों को निरंतर आंदोलन जारी रखना उचित नहीं: रमेश पोखरियाल निशंक

नई दिल्ली मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा है कि जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय-जेएनयू के छात्रों को निरंतर आंदोलन जारी रखने का कोई औचित्य नहीं है। उनकी फीस वृद्धि जैसे मुख्य मामले सुलझा लिए गए हैं। कई बार की बातचीत के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने बयान जारी कर कहा है कि छात्रों के सेवा और उपयोग शुल्क देने को नहीं कहा जा रहा है। 

 
 
यह छात्रों की मुख्य मांग थी। शीतकालीन सेमेस्टर के लिए पांच हजार से अधिक छात्रों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवा लिया है। मंत्रालय ने विश्वविद्यालय में बातचीत के माध्यम से शैक्षणिक माहौल बहाल करने और विवादास्पद मुद्दों पर प्रशासन को सलाह देने के लिए उच्च अधिकार प्राप्त समिति का गठन किया है। मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा है कि विश्वविद्यालयों को राजनीति का अखाड़ा नहीं बनने दिया जाएगा और छात्रों से आंदोलन वापस लेने के लिए अपील की जानी चाहिए।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS