ब्रेकिंग न्यूज़
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वाल्मीकिनगर से बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का दौरा कियाडंकन अस्पताल रक्सौल में कोविड-19 का जाँच और उपचार शुरुकोरोना वायरस: जिला पदाधिकारी ने संक्रमित मरीजों के निवास स्थानों को कंटेन्मेंट जोन बनाने दिया निर्देशरक्सौल: प्रखंड प्रमुख संजीव कुमार सिन्हा ऊर्फ मुन्ना सिन्हा के असामायिक निधन पर श्रधांजलि सभा का किया गया आयोजनप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए किया भूमि पूजन, पूरे देश में जश्न का माहौलपश्चिम चंपारण: सरकार के प्रतिबंध के बावजूद बालू का अवैध उत्खनन जारीराधा मोहन सिंह ने कहा- राम मंदिर की नींव पर रखी जाने वाली प्रत्येक ईंट राष्ट्र गौरव को शिखर की ओर ले जाएगीबीरगंज में नेपाल पुलिस ने छापेमारी कर तस्करी के 6 भैंस के साथ तीन लोगों को किया गिरफ्तार
राष्ट्रीय
प्रधानमंत्री मोदी ने विश्व युवा कौशल दिवस के अवसर पर देश को किया संबोधित, कहा- आज के युवा की सबसे बड़ी ताकत उसकी स्किल ही है
By Deshwani | Publish Date: 15/7/2020 12:03:18 PM
प्रधानमंत्री मोदी ने विश्व युवा कौशल दिवस के अवसर पर देश को किया संबोधित, कहा- आज के युवा की सबसे बड़ी ताकत उसकी स्किल ही है

नई दिल्ली विश्व युवा कौशल दिवस (WYSD) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 11:00 बजे एक वीडियो संबोधन देने रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि आज के युवा की सबसे बड़ी ताकत उसकी स्किल ही है। इस दौरान पीएम मोदी ने युवाओं के लिए एक नया मंत्र भी दिया जो उन्हें संकट के समय में प्रासंगिक रहने और उन्हें सशक्त बनाने में मदद करेगा। उन्होंने कहा कि यह दिन आपके कौशल के लिए समर्पित है। पीएम मोदी ने कहा कि सहस्राब्दी युवाओं की सबसे बड़ी ताकत नए कौशल प्राप्त करना है। कोविड -19 ने नौकरियों की प्रकृति को बदल दिया है, और फिर नई तकनीक है जिसने हमारे जीवन को भी प्रभावित किया है। हमारे युवाओं को नए कौशल अपनाने होंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्तमान समय में प्रासंगिक बने रहना बहुत महत्वपूर्ण है ताकि लोग न केवल अपनी आजीविका कमा सकें, बल्कि दूसरों की भी मदद कर सकें। "प्रासंगिक बने रहने का मंत्र है: कौशल, पुन: कौशल और उन्नति।" 

 
 
 
 
पीएम मोदी ने कहा कि कौशल वह चीज है जो आप सीखते हैं - जैसे लकड़ी के टुकड़े से कुर्सी का निर्माण। आपने कुछ मूल्यवर्धन करके लकड़ी के मूल्य में वृद्धि की, और प्रासंगिक बने रहने के लिए, आपको इसमें कुछ नया करते रहना होगा। लेकिन हमारे कौशल को और अधिक विस्तारित करना महत्वपूर्ण है। इसे अपस्किल के नाम से जाना जाता है। यह दिन स्किल इंडिया मिशन के शुभारंभ की पांचवीं वर्षगांठ का प्रतीक है। इस डिजिटल कॉन्क्लेव का आयोजन कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा मान्यता प्राप्त ये कार्यक्रम, WYSD प्रत्येक वर्ष 15 जुलाई को किया जाता है। इसका उद्देश्य रोजगार, सभ्य कार्य और उद्यमिता के लिए युवाओं के कौशल के रणनीतिक महत्व को पहचानना है।
 
 
 
इस योजना के माध्यम से युवाओं को कौशल विकास के लिए प्रेरित किया जायेगा। इसके अलावा मिनिस्ट्री ऑफ स्किल डेवलपमेंट एंड एंटरप्रेन्योरशिप के महत्वपूर्ण योजनाओं-नेशनल स्किल डेवलपमेंट मिशन, नेशनल पॉलिसी फॉर स्किल डेवलपमेंट एंड एंटरप्रेन्योरशिप 2015, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना और स्किल लोन स्कीम की शुरुआत की गयी। भारत में 65 फीसदी आबादी युवा- बता दें कि वर्ल्ड यूथ स्किल डे भारत के लिए और अधिक महत्वपूर्ण है। भारत में कुल आबादी के करीब 65 फीसदी लोग 35 वर्ष से कम आयु के है। भारत दुनिया के सबसे युवा देशों में शामिल हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS