ब्रेकिंग न्यूज़
नामकुम के पास भयंकर सड़क हादसा, बोलेरो-ट्रक की टक्‍कर में 7 लोगों की मौततीन चरणों में नहीं खुलेगा भाजपा का खाता: अखिलेश यादवआप-कांग्रेस में गंठबंधन को लेकर नहीं बनी बात, सिसोदिया ने कही ये बातफिल्म यारियां की एक्ट्रेस एवलिन शर्मा को याद आए पुराने दिन, शेयर की ये तस्वीरेंराष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने म्यूलर जांच रिपोर्ट को पूर्णतया असत्य और निराधार बतायासुपौल में राहुल ने पीएम पर जमकर साधा निशाना, कहा- चौकीदार को ड्यूटी से हटाने वाली है जनताफारबिसगंज में बोले प्रधानमंत्री मोदी, जनता की तपस्या को विकास कर लौटाऊंगाबेकार गई राणा और रसेल की पारी, बेंगलुरु ने 10 रन से जीता रोमांचक मुकाबला
बिहार
मुजफ्फरपुर में खसरे का टीका लगने के बाद दो बच्चों की मौत
By Deshwani | Publish Date: 6/5/2017 3:27:58 PM
मुजफ्फरपुर में खसरे का टीका लगने के बाद दो बच्चों की मौत

पटना/मुजफ्फरपुर, (हि.स.)। बिहार में मुजफ्फरपुर जिले के औराई थाना क्षेत्र में खसरे का टीका लगने के बाद दो बच्चों की मौत हो गई तथा 12 से अधिक बच्चे गंभीर रूप से बीमार हो गए हैं। 

पुलिस सूत्रों ने शनिवार को बताया कि जिला मुख्यालय से 28 किलोमीटर उत्तर औराई प्रखंड के पटोरी गांव में शुक्रवार शाम बच्चों को खसरा का टीका लगाया गया था, जिसके बाद 12 से अधिक बच्चों की स्थिति गंभीर हो गई। इन बच्चों में से रंजीत दास (नौ माह) और सोनू कुमार (डेढ़ वर्ष) की शुक्रवार रात मौत हो गई।
स्थानीय ग्रामीणों ने स्थानीय स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों को इस मामले की जानकारी दी, लेकिन स्वास्थ्य विभाग की कोई भी टीम बच्चों को देखने नहीं आई और ना ही विभाग की ओर से किसी प्रकार की चिकित्सीय राहत मुहैया कराई गई। बीमार सभी नौ बच्चों को निजी नर्सिंग होम और अस्पताल में भर्ती कराया गया है। टीका लगने से अंश कुमार (1), दीपक कुमार, रोहित कुमार, पुनीता कुमारी, निशा कुमारी (सात महीने), अंशु, कुसुम, मनीष और आयुष नाम के बच्चे गंभीर रूप से बीमार हैं। उन्हें गंभीर अवस्था में पास के निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है। कुछ बच्चों को अभिभावकों ने जिला मुख्यालय के अस्पतालों में भी भर्ती कराया है। बाकी बच्चों का इलाज गांव के ही प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चल रहा है।
दूसरी ओर, जिले के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. आरएन शर्मा को इस घटना की जानकारी दे दी गई है, लेकिन अभी तक गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम नहीं पहुंची है। ग्रामीणों में चिकित्सकों की लापरवाही को लेकर काफी गुस्सा है। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए गांव में पुलिस की तैनाती कर दी गई है। आंगनबाड़ी सेविका फरार बताई जा रही है। दूसरी ओर विभाग की ओर से अभी किसी प्रकार का कदम नहीं उठाया गया है।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS