ब्रेकिंग न्यूज़
नामकुम के पास भयंकर सड़क हादसा, बोलेरो-ट्रक की टक्‍कर में 7 लोगों की मौततीन चरणों में नहीं खुलेगा भाजपा का खाता: अखिलेश यादवआप-कांग्रेस में गंठबंधन को लेकर नहीं बनी बात, सिसोदिया ने कही ये बातफिल्म यारियां की एक्ट्रेस एवलिन शर्मा को याद आए पुराने दिन, शेयर की ये तस्वीरेंराष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने म्यूलर जांच रिपोर्ट को पूर्णतया असत्य और निराधार बतायासुपौल में राहुल ने पीएम पर जमकर साधा निशाना, कहा- चौकीदार को ड्यूटी से हटाने वाली है जनताफारबिसगंज में बोले प्रधानमंत्री मोदी, जनता की तपस्या को विकास कर लौटाऊंगाबेकार गई राणा और रसेल की पारी, बेंगलुरु ने 10 रन से जीता रोमांचक मुकाबला
मुजफ्फरपुर
नौकरी का झांसा दे होटल में बुलाकर किया रेप, मौके पर धराया
By Deshwani | Publish Date: 4/5/2017 6:19:58 PM
नौकरी का झांसा दे होटल में बुलाकर किया रेप, मौके पर धराया

मुजफ्फरपुर। देशवाणी न्यूज नेटवर्क
 

नौकरी का झांसा देकर मनियारी थाना क्षेत्र की एक किशोरी के साथ बुधवार को मोतीझील स्थित होटल पूजा में दुष्कर्म किया गया। इसकी सूचना पर नगर थानाध्यक्ष केपी सिंह महिला पुलिस अफसर के साथ पहुंचे और आरोपी को रंगे हाथ दबोच लिया। किशोरी को सुरक्षा में लेकर पुलिस ने होटल के उस कमरे को सील कर दिया।
पुलिस पूछताछ में किशोरी ने बताया कि उसे नौकरी का झांसा देकर होटल के पास बुलाया गया। युवक से किशोरी को तीन-चार महीने से जान-पहचान थी। पीड़िता शहर के एक महिला कॉलेज की छात्रा है। बताया कि आरोपित बातचीत करते हुए उसे होटल के कमरे में ले गया। उसके बाद कमरा बंद कर दुष्कर्म करने लगा।
गिरफ्तार आरोपी की पहचान सकरा थाना क्षेत्र के मिश्रौलिया इलाके के हरेराम कुमार के रूप में हुई है। इस संबंध में किशोरी के बयान पर पॉस्को एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। नगर थानेदार ने बताया कि आरोपित को जेल भेजने की कवायद की जा रही है।
प्राथमिकी दर्ज कर पीड़िता को महिला पुलिसकर्मी की अभिरक्षा में सदर अस्पताल में जांच के लिए ले जाया गया। महिला डॉक्टर ने जांच में बिलंब कर टालमटोल कर रही थीं। सूचना पर नगर थानाध्यक्ष अस्पताल पहुंचे। उन्होंने चिकित्सक से देरी का कारण पूछा। इस पर डॉक्टरों व पुलिस अफसरों में विवाद शुरू हो गया। नोकझोंक की स्थिति उत्पन्न हो गई। पुलिस का कहना है कि दोपहर ढाई बजे से शाम के पांच बजे तक जांच के नाम पर अस्पताल में पुलिस अफसर को बिठाकर रखा गया। पुलिस का कहना था कि जांच में देरी से साक्ष्य मिटने की आशंका होती है। इसका फायदा आरोपित को मिल जाएगा।
दूसरी ओर डॉक्टरों का कहना था कि अंडर एज होने के कारण दो महिला डॉक्टरों से जांच कराई जाती है। एक महिला डॉक्टर ऑन ड्यूटी थीं। दूसरी को बुलाया गया। इस कारण से जांच में कुछ समय लगा है। हालांकि बहस के बाद दोनों महिला चिकित्सकों ने किशोरी की मेडिकल जांच की।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS