ब्रेकिंग न्यूज़
चमकी बुखार का कहर: अबतक 69 बच्चों की मौत, एक दर्ज़न से अधिक की स्थिति नाज़ुककोपा अमेरिका के पहले मैच में ब्राजील ने बोलिविया को 3-0 से हराया, कुटिन्हो ने दो गोल किएमौनी रॉय 'बोले चूड़ियां' के बाद 'दबंग 3' से भी आउट हुईं, हैरान कर देगी वजहनक्सलियों से लोहा लेते हुए झारखंड में शहीद हुआ भोजपुर का जवान गोवर्धन, परिवार में मचा कोहरामनरेश गोयल की मुश्किलें और बढ़ी, इनकम टैक्स विभाग ने टैक्स चोरी मामले में भेजा समनसपा ने उप्र की बिगड़ रही कानून-व्यवस्था को लेकर राज्यपाल को सौंपा ज्ञापनदो गुटों में हिंसक झड़प, बमबारी और फायरिंग में तीन टीएमसी कार्यकर्ताओं की मौतनीति आयोग की बैठक में भाग लेंगे नीतीश, उठा सकते हैं बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग
मुजफ्फरपुर
नवोदय विद्यालय में तोड़फोड़-हंगामा मामले में जिला प्रशासन सख्त
By Deshwani | Publish Date: 1/2/2018 4:43:26 PM
नवोदय विद्यालय में तोड़फोड़-हंगामा मामले में जिला प्रशासन सख्त

मुजफ्फरपुर (हि.स.)। मुजफ्फरपुर के जवाहर नवोदय विद्यालय में तोड़फोड़ एवं हंगामा मामले में जिला प्रशासन काफी सख्त हो गया है। डीएम धर्मेन्द्र सिंह के आदेश पर 25 नामजद और 100 अज्ञात उपद्रवियों पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है। यह प्राथमिकी तुर्की ओपी में दर्ज की गयी है। पुलिस घटना की फुटेज और तस्वीरों के आधार पर सभी दोषियों को चिन्हित कर रही है। इस बीच विद्यालय परिसर में पर्याप्त संख्या में महिला और पुरुष पुलिस बलों की तैनाती कर दी गई है। खासकर लड़कियों के हॉस्टल और शिक्षिकाओं के आवास पर विशेष तैनाती है।
विद्यालय की एक छात्रा की सुसाइडल मौत के बाद उग्र छात्रों ने स्कूल में कोहराम मचा दिया था। उपद्रवियों ने स्कूल के बायो लैब को तहस-नहस कर दिया और गर्ल्स हॉस्टल की वार्डेन राजु कुमारी के आवास पर भी तोड़-फोड़ की थी, जिसमें कुल मिलाकर दस लाख की क्षति का अनुमान है। छात्रों का आरोप था कि वार्डेन की सख्ती के कारण ही छात्रा सुरभि ने खुदकुशी की लेकिन डीएम और स्कूल के प्राचार्य समेत छात्राओं ने भी इन आरोपों को सीरे से खारिज कर दिया। उसके बाद ही प्रशासन सख्त हुआ।
मंगलवार रात में छात्रों के हॉस्टल की तलाशी ली गयी थी, जिसमें 13 मोबाइल औऱ कुछ डंडे मिले। जबकि छात्रावास मैनुअल में मोबाइल का परमिशन नहीं है। इसके आधार पर उन छात्रों के अभिभावकों को भी चार्ज करने की तैयारी हो रही है। इस बीच स्कूल मे पठन-पाठन सामान्य हो गया। बुधवार को सभी क्लासेज चले जिनमें छात्रों की उपस्थिति अच्छी दिखी। बारहवीं की प्री-बोर्ड परीक्षा भी आयोजित की गयी। स्कूल परिसर में अगले आदेश तक दंडाधिकारी के साथ पुलिस बल की तैनाती कर दी गयी है।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS