ब्रेकिंग न्यूज़
डाकघरों के माध्यम से दस दिन की अवधि में एक करोड़ से अधिक राष्ट्रीय ध्वज खरीदे गयेमोतिहारी कस्टम के दो हवलदारों को केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने पकड़ा, 20 हजार रुपये घूस लेने का आरोपप्रधानमंत्री ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 के भारतीय दल का अभिवादन कियाएनएमडीसी और फिक्की भारतीय खनिज एवं धातु उद्योग पर सम्मेलन का आयोजन करेंगेबिहार: आज बादल गरजने के साथ ठनका गिरने की आशंका, तीन जिलों में भारी बारिश का अलर्टमोतिहारी, हरसिद्धि के जागापाकड़ में महावीरी झंडा के दौरान आर्केस्ट्रा में फायरिंग, दो घायल, प्राथमिकी दर्जबिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा को हटाने के लिए सत्तारूढ महागठबंधन के सदस्यों ने नोटिस सौंपाप्रधानमंत्री ने आशूरा के दिन हज़रत इमाम हुसैन की शहादत को याद किया
मुजफ्फरपुर
नवोदय विद्यालय में तोड़फोड़-हंगामा मामले में जिला प्रशासन सख्त
By Deshwani | Publish Date: 1/2/2018 4:43:26 PM
नवोदय विद्यालय में तोड़फोड़-हंगामा मामले में जिला प्रशासन सख्त

मुजफ्फरपुर (हि.स.)। मुजफ्फरपुर के जवाहर नवोदय विद्यालय में तोड़फोड़ एवं हंगामा मामले में जिला प्रशासन काफी सख्त हो गया है। डीएम धर्मेन्द्र सिंह के आदेश पर 25 नामजद और 100 अज्ञात उपद्रवियों पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है। यह प्राथमिकी तुर्की ओपी में दर्ज की गयी है। पुलिस घटना की फुटेज और तस्वीरों के आधार पर सभी दोषियों को चिन्हित कर रही है। इस बीच विद्यालय परिसर में पर्याप्त संख्या में महिला और पुरुष पुलिस बलों की तैनाती कर दी गई है। खासकर लड़कियों के हॉस्टल और शिक्षिकाओं के आवास पर विशेष तैनाती है।
विद्यालय की एक छात्रा की सुसाइडल मौत के बाद उग्र छात्रों ने स्कूल में कोहराम मचा दिया था। उपद्रवियों ने स्कूल के बायो लैब को तहस-नहस कर दिया और गर्ल्स हॉस्टल की वार्डेन राजु कुमारी के आवास पर भी तोड़-फोड़ की थी, जिसमें कुल मिलाकर दस लाख की क्षति का अनुमान है। छात्रों का आरोप था कि वार्डेन की सख्ती के कारण ही छात्रा सुरभि ने खुदकुशी की लेकिन डीएम और स्कूल के प्राचार्य समेत छात्राओं ने भी इन आरोपों को सीरे से खारिज कर दिया। उसके बाद ही प्रशासन सख्त हुआ।
मंगलवार रात में छात्रों के हॉस्टल की तलाशी ली गयी थी, जिसमें 13 मोबाइल औऱ कुछ डंडे मिले। जबकि छात्रावास मैनुअल में मोबाइल का परमिशन नहीं है। इसके आधार पर उन छात्रों के अभिभावकों को भी चार्ज करने की तैयारी हो रही है। इस बीच स्कूल मे पठन-पाठन सामान्य हो गया। बुधवार को सभी क्लासेज चले जिनमें छात्रों की उपस्थिति अच्छी दिखी। बारहवीं की प्री-बोर्ड परीक्षा भी आयोजित की गयी। स्कूल परिसर में अगले आदेश तक दंडाधिकारी के साथ पुलिस बल की तैनाती कर दी गयी है।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS