ब्रेकिंग न्यूज़
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए किया भूमि पूजन, पूरे देश में जश्न का माहौलपश्चिम चंपारण: सरकार के प्रतिबंध के बावजूद बालू का अवैध उत्खनन जारीराधा मोहन सिंह ने कहा- राम मंदिर की नींव पर रखी जाने वाली प्रत्येक ईंट राष्ट्र गौरव को शिखर की ओर ले जाएगीबीरगंज में नेपाल पुलिस ने छापेमारी कर तस्करी के 6 भैंस के साथ तीन लोगों को किया गिरफ्तारदिव्या शक्ति ने पहले प्रयास में ही सिविल सर्विस परीक्षा में मारी बाजीबांग्लादेश: पिछले 24 घंटे में बाढ़ की स्थिति में हुआ सुधारअयोध्या राम मंदिर: कल होने वाले भूमि पूजन को लेकर भव्य तैयारीदेश में कोरोना वायरस से 12 लाख 30 हजार 500 से अधिक रोगी हुए स्वस्थ
मुजफ्फरपुर
कुढ़नी के पत्रकार चंदन कुमार पर हमला कायराना हरकत : प्रेस परिषद्
By Deshwani | Publish Date: 2/1/2018 6:49:09 PM
कुढ़नी के पत्रकार चंदन कुमार पर हमला कायराना हरकत : प्रेस परिषद्

मुजफ्फरपुर। देशवाणी न्यूज नेटवर्क


बिहार में कानून नाम की कोई चीज नहीं है। सूबे में जारी शराबबंदी के बीच यहां आए दिन पत्रकारों पर शराब माफिया जानलेवा हमला कर रहे हैं, लेकिन बिहार सरकार चुप है। पत्रकारों पर हो रहे हमले पर सरकार की चुप्पी यह साबित करती है कि सूबे के शराब माफियाओं को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी का मौन समर्थन प्राप्त है। शराब माफियाओं की यह कार्रवाई सरकार के मुंह पर करारा तमाचा है। उक्त बातें मुजफ्फरपुर जिले के कुढ़नी में समाचार संकलन के दौरान सोमवार की रात हिंदी दैनिक समाचार पत्र हिंदुस्तान के पत्रकार चंदन कुमार पर हुए जानलेवा के बाद अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पत्रकार प्रेस परिषद् के प्रदेश अध्यक्ष मधुरेश प्रियदर्शी ने कही। शहर के दामूचक स्थित प्रेस परिषद् के उत्तर बिहार कार्यालय में एक आपात बैठक का आयोजन कर पत्रकार चंदन हमला कांड की घोर निंदा की गयी। बैठक में उपस्थित संगठन के पदाधिकारियों के बीच प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सूबे में एक माह के अंदर यह दूसरी घटना है, जब शराब कारोबार से जुड़े लोगों ने पत्रकार पर जानलेवा हमला किया है। इससे पूर्व नवादा जिले के रजौली में एक पत्रकार पर भी जानलेवा हमला हुआ था। बैठक में एक प्रस्ताव पारित कर कुढ़नी के पत्रकार चंदन कुमार के हमलावरों को शीघ्र गिरफ्तार करने, सूबे में शराबमाफियाओं के रैकेट को ध्वस्त करने एवं राज्य में पत्रकारों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की गयी। बैठक के दौरान प्रदेश अध्यक्ष ने जोर देकर कहा कि अगर एक माह के अंदर हमारी मांगे नहीं मानी गयी तो बिहार के मीडिया कर्मियों को उनका वाजिब हक दिलाने एवं उनकी सुरक्षा को लेकर पत्रकार प्रेस परिषद् आंदोलन पर उतारू होगा। पत्रकार चंदन हमला कांड की निंदा करने वालों में परिषद् के वरीय उपाध्यक्ष आनंद ठाकुर, उपाध्यक्ष अमरेश कुमार, प्रदेश महासचिव प्रभाष कुमार, प्रदेश सचिव डा. ध्रुव कुमार सिंह, समीर सरकार, रामबालक ठाकुर, प्रदेश प्रवक्ता शशिकांत सिंह, अमृत राज, संजीव कुमार मिश्रा, शिवशंकर चौधरी, समीर कुमार एवं ललन प्रसाद समेत अन्य पत्रकार शामिल हैं।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS