ब्रेकिंग न्यूज़
कोटवा व रामगढ़वा थानाध्यक्ष हुए लाइन हाजिर, आरोपों की हो रही जांचकोटवा व रामगढ़वा थानाध्यक्ष हुए लाइन हाजिर, आरोपों की हो रही जांच"लॉक डाउन" में क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन, थानाध्यक्ष अनभिज्ञमोतिहारी पुलिस ने 50 हजार के इनामी राजतिलक के साथ पूर्व मुखिया व पुत्र सहित पांच को किया गिरफ्तारकोरोना प्रकोप: पूर्वी चंपारण के डीएम ने रक्सौल के शहरी क्षेत्रों में बाइक और चारपहिया वाहनों के परिचालन पर 16 अगस्त तक लगाई पूर्ण पाबंदीबदमाशों ने रंगदारी नहीं देने पर घर में की हवाई फायरिंग, बाइक सहित चार कारतूस जब्तमोतिहारी के रघुनाथपुर पुलिस ने तीन फराय अभियुक्तों के घर पर इश्तेहार सटवायामोतिहारी में 8 संदिग्ध युवक गिरफ्तार, पुलिस ने कहा- झपटमार गिरोह के हैं सदस्य
मुजफ्फरपुर
बिहार विश्वविद्यालय पिछले नौ दिनों से लगातार ठप
By Deshwani | Publish Date: 11/8/2017 12:10:48 PM
बिहार विश्वविद्यालय पिछले नौ दिनों से लगातार ठप

मुजफ्फरपुर,(हि.स)। मुजफ्फरपुर स्थित उत्तर बिहार का सबसे बड़ा शैक्षणिक संस्थान बिहार विश्वविद्यालय पिछले नौ दिनों से ठप पड़ा हुआ। इससे तिरहुत प्रमंडल के छह जिलों के सभी कॉलेजों में पढ़ने वाले लाखों छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। विश्वविद्यालय के कर्मचारी लगातार दसवें दिन कार्य वहिष्कार पर हैं।
इस बंदी से विश्वविद्यालय में अध्ययनरत छात्र काफी परेशान हैं किन्तु विश्वविद्यालय प्रशासन कोई ठोस पहल नही कर रहा है। बीते दिनों दो-दो बार विश्वविद्यालय के कर्मचारियों के साथ असामाजिक तत्वों नें मारपीट की। उसके बाद सुरक्षा की मांग को लेकर कर्मचारियों नें काम ठप करा दिया है। 
विश्वविद्यालय में काम काज सुचारु कराने की दिशा में न तो विश्वविद्यालय प्रशासन गंभीर दिख रहा है और न हीं जिला प्रशासन। कर्मचारियों की मांग है कि जब तक मारपीट करने वालों पर कार्रवाई नही होती और परिसर में सुरक्षा बलों की तैनाती नही की जाती तब तक विश्वविद्यालय नही चलेगा और बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के कर्मचारी की पिटाई के मामले में लगातार 90 दिन भी कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार जारी रखा। 
दूसरी ओर विश्वविद्यालय कर्मचारी संघ के संरक्षक लालगंज के पूर्व जदयू विधायक डॉ. विजय कुमार शुक्ला विश्वविद्यालय पहुंचे। उन्होंने पहले तमाम कर्मचारियों से करीब 15 मिनट की वार्ता की। इसके बाद उन्होंने कुलपति डॉ. अमरेन्द्र नारायण यादव के साथ बैठक की। सुरक्षा के मामले पूर्व विधायक ने बैठक में कहा कि अब रिस्क नहीं लिया जा सकता। सुरक्षा दीजिए और विश्वविद्यालय खुलवाइये। सुरक्षा के मुद्दे पर कुलपति ने प्रक्रिया शुरू होने की बात कही। इससे पूर्व विवि गेस्ट हाउस में पूर्व विधायक ने कर्मचारियों के साथ वार्ता की। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS